मनुष्य के जीवन में रंगों का विशेष महत्व है। खासतौर पर कुछ रंग मनोवैज्ञानिक प्रभाव डालते हैं। इतना ही नहीं, विज्ञान में कलर थेरेपी से कई समस्याओं को हल करने की बात भी कही गई है। वास्‍तु शास्‍त्र में भी रंगों को प्रभावशाली बनाया गया है। यह केवल मनुष्य के दिमाग पर ही असर नहीं करते हैं, बल्कि घर के वातावरण में सकारात्मक ऊर्जा घोलने में भी इसका विशेष योगदान रहता है। 

दिवाली का त्योहार नजदीक ही है, इस त्योहार के आने से पहले लोग अपने घर को पेंट करवा कर नया जैसा बनाने की कोशिश करते हैं। ऐसे में आप यदि वास्तु के हिसाब से घर की दीवारों में पेंट करवाएंगे, तो आपको बहुत लाभ मिलेगा। 

इस विषय पर हमारी बात ग्लोबल फाउंडेशन ऑफ एस्ट्रोलॉजिकल साइंस की चेयरपर्सन, एस्ट्रोलॉजर डॉक्टर शेफाली गर्ग से हुई। शेफाली जी कहती हैं, 'मैंने अक्सर लोगों को शुभ और अशुभ रंगों के बारे में बात करते सुना है। मगर कोई भी रंग अशुभ नहीं होता है। दिशा और स्थान के आधार पर सही रंग का चुनाव आपको हमेशा शुभ फल देता है।'

इतना ही नहीं, शेफाली जी यह भी बताती हैं कि दिवाली के त्योहार पर अगर घर की दीवारों को पेंट करा रहे हैं, तो वास्तु के लिहाज से किन बातों का ध्यान रखना जरूरी है। 

इसे जरूर पढ़ें: Expert Tips : जानें वास्तु के हिसाब से कैसा होना चाहिए घर का गेस्ट रूम

diwali  decoration  vastu

दिशा और रंग 

शेफाली जी कहती हैं, ' सभी रंगों की अपनी अलग ऊर्जा और वाइब्रेशन होती है मनुष्य का शरीर भी सूर्य के इंद्रधनुष में मौजूद सात रंगों के बैलेंस से ही बना है। इसलिए किसी भी रंग से आप अपने घर को कलर करवा सकते हैं लेकिन यदि आप दिशाओं का ध्यान रखते हैं, तो आप घर में और अपने अंदर एक अलग सी ऊर्जा महसूस करेंगे।'

  • घर में ईस्ट डायरेक्शन की वॉल पर आपको हमेशा सफेद रंग करवाना चाहिए। यह दिशा सूर्य देव की होती है। 
  • वेस्ट दिशा शनि देव की होती है और भगवान शनि को नीला रंग अति प्रिय है। यह रंग आपको स्ट्रेस और डिप्रेशन ( डिप्रेशन में ना करें ये काम) से भी दूर रखता है। 
  • नॉर्थ डायरेक्शन में भगवान बुद्ध का वास होता है। इस स्थान पर आपको हरा रंग या फिर ग्रीन फैमिली का कोई रंग करवाना चाहिए। 
  • साउथ यानि दक्षिण दिशा मंगल देव की होती है, इसलिए आपको यहां लाल रंग से दीवारों को पेंट करवाना चाहिए।
  • नॉर्थ-ईस्ट डायरेक्शन बृहस्पति देव का होता है, इसलिए इस दिशा की दीवारों पर आपको गोल्डन, येलो और ऑरेंज कलर करवाना चाहिए। 
  • साउथ-वेस्ट की दिशा राहु की होती है, इस दिशा में अगर कोई दीवार है तो उसे हमेशा डार्क ग्रीन कलर से रंगवाना चाहिए। 
  • साउथ-ईस्‍ट के डायरेक्शन में शुक्र का वास होता है। इस दिशा में मौजूद दीवारों को सिल्वर या फिर सफेद रंग से पुतवाया जाना चाहिए। 
  • नॉर्थ-वेस्‍ट की दीवारों पर सफेद रंग करवाना चाहिए क्योंकि यह दिशा चंद्रमा की होती है। 
 
home  wall  colours  as  per  vastu  on  festival

सुबह उठ कर सबसे पहले किस रंग को देखना शुभ होता है?

इस सवाल पर शेफाली जी कहती हैं, 'हम अक्सर लोगों से पूछते हैं कि आपका फेवरेट कलर कौन सा है? किसी को नीला तो किसी को लाल रंग पसंद होता है। कई लोग अन्य रंगों को पसंद करते हैं। मगर यह बात बहुत कम लोग ही जानते हैं कि शरीर में जिस तरह से प्रोटीन, विटामिन, आयरन और अन्य पोषक तत्वों की कमी हो जाती है, ठीक उसी प्रकार से रंगों की डेफिसिएंसी  ( एक्सपर्ट से जानें क्या है कलर साइकोलॉजीभी शरीर में हो जाती है और तब हमारे अंदर जिस रंग की कमी होती है, वही रंग हमारा फेवरेट हो जाता है। ऐसे में सुबह उठ कर सबसे पहले आपको वही रंग देखना चाहिए, जो आपको सबसे अधिक पसंद है। इससे आपका स्ट्रेस भी दूर होगा और दिन भी अच्छा बीतेगा। ' अगर आप चाहें, तो अपने बेड के सामने वाली दीवार पर वही रंग करवा सकते हैं, जो आपको सबसे अधिक पसंद है।  

expert on colour vastu

घर की दीवार पर काला रंग 

बहुत से लोग काले रंग को अशुभ मानते हैं। मगर यह धारणा गलत है क्योंकि काला रंग अशुभ नहीं होता है। वास्‍तु के लिहाज से काले रंग में ऐसी वाइब्रेशन होती है कि वह आस-पास की ऊर्जा को अपने अंदर समा लेती है। ऐसे में जहां कहीं शुभ काम हो रहा हो या फिर सकारात्मक वातावरण हो, वहां आप काला रंग भी करवा सकते हैं क्योंकि यह सकारात्‍मक ऊर्जा को अपनी ओर आकर्षित करेगा। मगर काला रंग नकारात्मक ऊर्जा को भी अपनी ओर खींचता है, इसलिए इसका प्रयोग सोच समझ कर ही करें।  

उम्‍मीद है कि आपको यह जानकारी पसंद आई होगी। इस आर्टिकल को शेयर और लाइक जरूर करें, साथ ही इसी तरह और भी आर्टिकल पढ़ने के लिए जुड़ी रहें हरजिंदगी से।

Image Credit: Shutterstock, Freepik