• ENG | தமிழ்
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

डिप्रेशन में ना करें ये काम, दिल और दिमाग दोनों के लिए है नुकसानदायक

महिलाओं में डिप्रेशन अधिक हो रहा है। ऑफिस और घर में एक साथ बैलेंस ना बना पाने के कारण इसका असर ज्यादा हो रहा है। अगर आप भी आजकल बहुत परेशान रहती हैं त...
author-profile
  • Gayatree Verma
  • Her Zindagi Editorial
Published - 26 Apr 2018, 17:27 ISTUpdated - 26 Apr 2018, 17:35 IST
do'not these work in depression big

डिप्रेशन एक ऐसा शब्द है जिसे लोग उतनी गंभीरता से नहीं लेते हैं। आसान शब्दों में कहें तो डिप्रेशन को कोई भी गंभीर बीमारी नहीं मानता है। जबकि आज के शहरीकरण के दौर में डिप्रेशन एक गंभीर बीमारी बन गई है। क्यों?

क्योंकि आप और सब बीमारियों के बारे में पता तो उनके लक्षणों को देखकर कर सकती हैं। लेकिन डिप्रेशन के साथ ऐसा नहीं है। खासकर तो तब जब डिप्रेशन में जब लोग ज्यादा हंसने लगते हैं।

महिलाओं में हो रहा अधिक डिप्रेशन

महिलाओं में डिप्रेशन अधिक हो रहा है। ऑफिस और घर में एक साथ बैलेंस ना बना पाने के कारण इसका असर ज्यादा हो रहा है। अगर आप भी आजकल बहुत परेशान रहती हैं और आपको लगता है कि आपके तनाव को कोई नहीं समझ रहा है तो समझ जाएं कि आप डिप्रेशन में जा रही हैं। अगर ऐसा है तो... इस समय आपको ये चार काम बिल्कुल भी नहीं करने चाहिए। क्योंकि ये डिप्रेशन की समस्या को और अधिक बढ़ा सकती है।  

1फास्‍ट फूड

Herzindagi
do'not these work in depression

आजकल घर से दूर अकेली रह रही लड़कियां फास्ट फूड ज्यादा खाने लगी हैं। यह फास्ट फूड भी डिप्रेशन बढ़ाने का एक मुख्य कारण होते हैं। तो अगर आपको डिप्रेशन ज्यादा हो रहा है तो आज से ही पिज्जा, बर्गर आदि जैसे फास्टफूड खाना बंद कर दें। एक अध्ययन के अनुसार व्यस्क महिलाएं किशोर और बच्चों की तुलना में ज्यादा फास्ट फूड खाती हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि उनके पास पैसे की कमी नहीं होती है और खाना बनाने का समय नहीं होता है। इसलिए खाने के वक्त लड़कियां बेझिझक फास्ट फूड आर्डर कर देती हैं। ये फूड खाने के दौरान दिमाग में हैप्पी हार्मोन्स रिल ीज नहीं होते जो घर का खाना खाने के दौरान रिलीज होते हैँ। इसलिए इन्हें खाने से डिप्रेशन बढ़ता है। 

Read More: सावधान! कहीं हेल्दी समझकर अनहेल्दी तो नहीं खा रही

2तला भोजन

Herzindagi
do'not these work in depression

लोग माइंड फ्रेशन करने के लिए तला भोजन करते हैं। आप भी पकौड़े खाती होंगी। अगर ऐसा है तो आज से ही अपनी इस आदत को बंद करें। हार्वर्ड अध्ययन के मुताबिक एक बार में 15 चिप्स खाने से आपका मोटापा धीरे-धीरे बढ़ता है और बढ़ा हुआ मोटापा लड़कियों में डिप्रेशन बढ़ाता है। चिप्स या पकौड़ी अधिक मात्रा में लेने से आपके अंदर गुस्सा बढ़ सकता है। इसलिए इसका सेवन उदासी में नहीं करें।

3अकेले ना रहें

Herzindagi
do'not these work in depression

डिप्रेशन एक ऐसा समय है जब पूरी दुनिया आपको खुद की दुश्मन लगती है। इसलिए इस समय आपको अकेले रहने का मन करता है। अगर आपको भी अकेले रहने का मन करता है तो अकेले रहने के बजाय किसी से अपनी बात शेयर करें। गलती से भी अकेले ना रहें। अकेलेपन से हमेशा डिप्रेशन बढ़ता है। यह आपकी मनोदशा को बहुत ज्‍यादा प्रभावित कर सकता है। इसलिए कोशिश करें कि अकेलेपन में न रहें।

4दर्द भरे गानों से रहें दूर

Herzindagi
do'not these work in depression

यह काम डिप्रेशन के दौरान हर कोई करता है। लोग यह काम इसलिए करते हैं क्योंकि उन्हें लगता है कि यह काम उनके दिल का हाल बयां कर रहे हैं। जबकि ऐसा नहीं है। ऐसे गाने आपके डिप्रेशन को और अधिक बढ़ाता है। डिप्रेशन के दौरान हमेशा अच्छे और खुद को प्रेरित करने वाले गाने सुनने चाहिए। 

तो अगर आप इन चार में से कोई एक काम करती हैं तो आज से ही उसे करना बंद कर दें और खुद को खुश रखने की कोशिश करें।