पितृपक्ष का आरम्भ 2 सितम्बर से हो चुका है। पितृपक्ष ऐसा समय होता है जब हम अपने पूर्वजों को याद करते हैं। पितृपक्ष के 16 दिनों में पितरों की आत्मा की शांति हेतु हवन कराया जाता है। पितरों को जल तर्पण किया जाता है और श्रद्धा भाव से उन्हें भोजन समर्पित किया जाता है। कहा जाता है इस दौरान हमारे पूर्वज हमारे बीच किसी न किसी रूप में उपस्थित होते हैं। मान्यता है कि पितर यदि प्रसन्न होते हैं तो घर को सुख समृद्धि से भर देते हैं साथ ही धन की भी कमी नहीं होती है। वहीं दूसरी ओर यदि पितर नाराज़ होते हैं तो घर में कोई अनिष्ट घटना जन्म ले सकती है। हमारे पूर्वज यदि नाराज़ होते हैं तो पितृ पक्ष के दौरान घर में कुछ ऐसे संकेत मिलने लगते हैं जिनसे उनकी नाराज़गी का पता चलता है। आइए जानें वो संकेत क्या हैं। 

खाने में बाल का निकलना 

pitrupaksh ancestor angry ()

वैसे तो कभी-कभी खाने में बाल का निकलना एक आम बात है। लेकिन आप जब भी खाना खा रहे हों उसमें बाल आ जाए ,तो समझ लीजिये कि ये पितरों की नाराज़गी का संकेत है। ऐसे में आपको चाहिए कि घर में जो भी भोजन बने सबसे पहले पितरों के लिए समर्पित कर दिया जाए। इस संकेत से पता चलता है कि पितरों को भोजन की आवश्यकता है। 

इसे जरूर पढ़ें :Shradh 2019: पितरों का आशीर्वाद पाने के लिए श्राद्ध का खाना बनाते समय इन 6 बातों का रखें ध्‍यान

Recommended Video


बने हुए काम बिगड़ना 

जब पितृपक्ष के दौरान आपके बनते काम भी बिगड़ते हुए दिखें या हर एक काम में रुकावट आने लगे तो समझ लीजिये कि ये आपके पूर्वजों की नाराज़गी (पितृपक्ष में न करें ये गलतियां) का ही परिणाम है। ऐसे में पितृ दोष शांति हेतु पंडित से पूजा अवश्य करवाएं। यदि घर में पितृ दोष होगा तो आपको किसी भी काम में सफलता नहीं मिल सकती है। 

धन हानि का होना 

pitrupaksh ancestor angry ()

यदि पितृ पक्ष में आपका पैसा फ़िज़ूल जगह पर खर्च हो रहा है तो समझ लीजिये कि ये भी पूर्वजों की नाराजगी का संकेत है। जैसे आप कहीं बाहर जाने के लिए फ्लाइट की टिकट बुक कराएं और टाइम पर एयरपोर्ट न पहुँच पाएं। ये बेवजह पैसे की बर्बादी को तो दिखाएगा ही साथ ही इसमें पितरों की नाराज़गी भी शामिल होगी। 

सपने में पितरों का परेशान दिखना 

pitrupaksh ancestor angry

पितृपक्ष में यदि सपने में आपके पूर्वज आपको प्रसन्न मुद्रा में दिखते हैं तो समझ लीजिये कि वो आपसे प्रसन्न हैं। लेकिन वही पूर्वज दुखी अवस्था में दिखें या फिर रोते हुए दिखें तो सावधान हो जाइए क्योंकि ये उनकी नाराज़गी का ही संकेत है। ऐसे में पितरों से क्षमा मांगते हुए पितृ दोष मुक्ति की पूजा करवाएं और उनकी पसंद की चीज़ें जरूरतमंदों को दान में दें। 

घर से किसी बुरी महक का आना 

pitrupaksh ancestor angry ()

यदि आपको अपने घर में किसी ख़ास तरह की गन्दी महक आ रही है तो समझ लीजिए आपके पूर्वज आपके आस-पास ही मौजूद हैं और वो आपसे नाराज़ हैं। इसलिए इस महक की अनदेखी न करके अपने पूर्वजों को प्रसन्न करने का प्रयास करें। 

इसे जरूर पढ़ें :Pitru Paksha 2020: पितरों को करना है प्रसन्न तो पितृपक्ष में घर पर लगाएं ये पौधे

उपर्युक्त संकेत पूर्वजों की नाराज़गी को दिखाते हैं इसलिए इन्हें अनदेखा करने की जगह पितृ दोष मुक्ति हेतु पूजन करवाएं। 

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ। 

Image Credit:free pik and unsplash