हिंदू धर्म में कुंडली को बहुत अधिक महत्व दिया गया है, इसलिए हर व्यक्ति के जन्म के समय ही उसकी कुंडली तैयार कर दी जाती है। एक व्यक्ति की कुंडली में ग्रह, नक्षत्र, दोष और गुण के आधार पर उसके पूरे जीवन की भविष्यवाणी की जाती है। 

कुंडली में कुछ ऐसे दोष बताए गए हैं, जो व्यक्ति के जीवन को बुरी तरह से प्रभावित कर देते हैं। कई बार शादी होते-होते रुक जाती है, तो कभी मेहनत करने के बाद भी जॉब में प्रमोशन नहीं मिलता है। इतना ही नहीं, कुंडली में मौजूद दोष आपकी सेहत, रिलेशनशिप और पढ़ाई पर भी गहरा प्रभाव डाल सकते हैं। 

ऐसा ही एक दोष है सूर्य दोष। सूर्य दोष के विषय में हमने एस्ट्रोलॉजर डॉक्टर शेफाली गर्ग से बातचीत की है। वह कहती हैं, 'सूर्य क्‍या है? पहले इसे समझना जरूरी है। एक व्यक्ति के जीवन में सूर्य का महत्‍व क्‍या है और जीवन पर इसका क्‍या प्रभाव पड़ता है, यह बहुत कम लोग ही जानते हैं। दरअसल, सूर्य आत्मा का कारक होता है। सूर्य से हमें समाज में मान-सम्मान मिलता है। सूर्य ही हमें पिता की जायदाद दिलाता है, सूर्य से ही हमारा आत्‍मसम्‍मान बढ़ता है। इतना ही नहीं, सूर्य व्यक्ति के जीवन की कई सारी चीजों को गवर्न करता है। इसलिए सूर्य का मजबूत होना बहुत जरूरी है। सूर्य के कमजोर पड़ने से जातक की कुंडली में सूर्य ग्रहण दोष लग जाता है। इसलिए हर जातक को अपना सूर्य मजबूत रखने के लिए नियमित रूप से कुछ आसान उपाय जरूर अपनाने चाहिए।'

सूर्य ग्रहण दोष से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण बातें भी शेफाली जी हमें बताती हैं- 

इसे जरूर पढ़ें: Astro Tips: कुंडली में 'नाड़ी दोष' से जुड़ी समस्याएं और उन्हें दूर करने के सरल उपाय जानें

surya  shani  shrapit  dosh

कब लगता है सूर्य दोष 

सूर्य दोष किसी भी व्यक्ति के जन्म के समय ही लग जाता है। मगर इसका प्रभाव कब पड़ेगा यह ग्रहों की दशा पर निर्भर करता है। वैसे सूर्य को कोई अस्त नहीं कर सकता है। केवल राहु और केतु में ही सूर्य को अस्त करने की क्षमता होती है। शेफाली जी बताती हैं, 'सूर्य अगर 6, 8 या 12 के भाव में चला जाए या फिर नीच की राशि में हो, तो वह कमजोर हो जाता है। वहीं जब सूर्य किसी भाव में राहु के साथ हो तो सूर्य ग्रहण दोष लग जाता है। यह दोष पिता की ओर से आता है, इसलिए सूर्य ग्रहण दोष के साथ ही पितृदोष का सामना भी करना पड़ता है।'

सूर्य दोष लगने के संकेत 

  1. अगर समाज में आपका मान-सम्मान कम हो रहा है या फिर किसी भी काम को करने में आप आत्‍मविश्‍वास खो देते हैं, तो समझ जाएं कि आपकी कुंडली में सूर्य ग्रहण दोष है और ऐसा उसी के प्रभाव से हो रहा है। 
  2. सूर्य दोष के कारण आपकी शादी में विलंब भी हो सकता है। आपकी शादी पक्की हो कर टूट सकती है। (शादी पर नवग्रहों का क्या पड़ता है प्रभाव)
  3. नौकरीपेशा जातकों को अपने कार्यस्थल में अपमान झेलना पड़ सकता है। इतना ही नहीं, आप कितनी भी मेहनत कर लें आपके अधिकारी हमेशा आपसे नाराज ही बने रहते हैं, तो यह भी सूर्य के कमजोर होने का संकेत है। 
  4. अगर आपकी कुंडली में सूर्य दोष है, तो आपकी सेहत, पिता की सेहत या फिर पिता जैसे किसी व्यक्ति की सेहत खराब हो सकती है। 
  5. सूर्य दोष गृह क्लेश, असफलता और मतभेद का कारण भी बन सकता है। इससे आपका मन भी हमेशा अशांत बना रहेगा। 
  6. सूर्य दोष होने पर आपको पिता से धन मिलने में भी दिक्कत आएगी। ऐसा भी हो सकता है कि आपका हिस्सा कोई और ही हड़प ले। 
  7. अगर किसी विद्यार्थी की कुंडली में सूर्य दोष है, तो उसके एडमिशन में दिक्कत आ सकती हैं या फिर उसे शिक्षा के क्षेत्र में असफलताओं का सामना करना  पड़ सकता है।  
 
upay  for  happiness  and  prosperity

सूर्य दोष के प्रभाव को कम करने के उपाय 

शेफाली जी कहती हैं, 'सूर्य हर राशि पर 30 दिन तक रहता है और जब-जब राहु, केतु और शनि ग्रह के साथ वह फंसता है, तो जातक को जीवन में कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। इसलिए शास्त्रों में भी कहा गया है कि सूर्य को मजबूत रखने के लिए हर व्यक्ति को अपनी जीवनशैली में उसके उपायों को ढाल लेना चाहिए।'

शेफाली जी कुछ उपाय भी बताती हैं- 

  •  पिता और गुरु इन दोनों का हमेशा सम्मान करें। यदि आप ऐसा करने में सफल होते हैं, तो आपका सूर्य मजबूत होने लगेगा। 
  • सूर्य हमारे शरीर की इम्यूनिटी बढ़ाता है। अगर आपकी सेहत हमेशा खराब बनी रहती है, तो आपको रोज सुबह स्नान करने के बाद सूर्य देव को जल अर्पित करना चाहिए। इससे आप कई तरह की बीमारियों से खुद को बचा पाएंगे। 
  • सूर्य अगर केतु के साथ किसी भाव में फंस गया है, तो आपको हर बुधवार को गणेश जी की उपासना करनी चाहिए और उन्हें लड्डू एवं इलायची का भोग लगाना चाहिए। इससे नौकरी में आ रही समस्याएं कम हो जाएंगी। 
  • अगर आपके घर में एक के बाद एक सदस्य बीमार पड़ रहे हैं, तो आपको हनुमान जी की पूजा करनी चाहिए और उनके चरणों का तिलक माथे पर लगाना चाहिए। आपको बता दें कि हनुमान जी सूर्य देव को अति प्रिय हैं। 

Recommended Video

  • अगर नौकरी में प्रमोशन नहीं मिल रहा है, तो आपको किसी निर्धन व्यक्ति को गुड़, गेहूं और तांबे का सामान अपनी श्रद्धा के अनुसार दान करना चाहिए 
  • सूर्य दोष की वजह से शादी में परेशानी आ रही है, तो आप आटे का हलवा बना कर किसी वृद्ध व्यक्ति को खिलाएं।  

सूर्य दोष से जुड़ी यह जानकारी और उपाय यदि आपको पसंद आए हों, तो आर्टिकल को शेयर और लाइक जरूर करें। इसके साथ ही आप ऐसे और आर्टिकल्‍स पढ़ने के लिए जुड़ी रहें हरजिंगदी से।