अपनी बेमिसाल अदाकारी के लिए चर्चित रहे एक्टर सुनील दत्त दत्त की आज बर्थड एनीवर्सरी है। 6 जून 1929 को पाकिस्तान के दीना में पैदा होने वाले सुनील दत्त कलाकार होने के साथ-साथ डायरेक्टर और प्रोड्यूसर भी थे। उनके बैनर के तहत यादें (1964), मन का मीत (1968) और रेशमा और शेरा (1971) जैसी यादगार फिल्में बनाई गई थीं। सुनील दत्त और नरगिस के बीच प्यार मदर इंडिया के सेट पर हुआ था। मदर इंडिया के सेट पर दरअसल एक ऐसी घटना हुई, जिससे जिसने नरगिस को गहरे प्रभावित किया। दरअसल मदर इंडिया के सेट पर आग लग गई थी और नरगिस दत्त को खतरे में पड़ता देख सुनील दत्त ने उनकी जान बचाई थी। इस दौरान सुनील दत्त खुद भी चोटिल हो गए थे। इस घटना ने नरगिस की सोच बदल दी, उन्हें लगने लगा कि सुनील दत्त ही उनकी जिंदगी के हमसफर बन सकते हैं।

sunil dutt nargis sanjay dutt priya dutt namrata dutt inside

सेट पर आग लगने वाली घटना से पहले तक नरगिस राज कपूर के लिए पूरी तरह से डेडिकेटेड रही थीं और उन्हीं की पत्नी बनने का सपना देखती थीं। अपनी किताब 'द ट्रू लव स्टोरी ऑफ़ नरगिस एंड सुनील दत्त' में नरगिस दत्त ने लिखा था कि राजकपूर से अलग होने के बाद वो सुसाइड करने के बारे में सोचने लगी थीं। लेकिन सुनील दत्त ने उन्हें संभाल लिया था। नरगिस ने लिखा कि उन्होंने अपने और राज कपूर के बारे में सुनील दत्त को सबकुछ बता दिया था और सुनील दत्त को उन पर पूरा यकीन था। 

इसे जरूर पढ़ें: नरगिस की जिंदगी के राज, संजू इसलिए करते थे अपनी मां को बेहद प्यार

रेडियो शो के दौरान हुई थी पहली मुलाकात

sunil dutt sanjay dutt priya dutt namrata dutt

इससे पहले सुनील दत्त ने अपने करियर की शुरुआती दौर में काफी संघर्ष किया था। एक समय में सुनील दत्त ने अपना गुजारा चलाने के लिए बस कंडक्टर की नौकरी भी की थी। मुंबई में वह नाई और टेलर के साथ रहा करते थे। इसी समय में सुनील दत्त ने रेडियो सिलोन में काम करना शुरू किया था। इसे सुनील दत्त की किस्मत ही कहेंगे कि उन्हें नरगिस दत्त का इंटरव्यू करने का मौका मिला। सुनील दत्त नरगिस के बड़े फैन हुआ करते थे। लेकिन नरगिस का इंटरव्यू लेने के दौरान सुनील दत्त के मुंह से एक शब्द नहीं निकल और इंटरव्यू को कैंसिल करना पड़ा था।

राज कपूर की दूसरी पत्नी बनने के भी तैयार थीं नरगिस

sunil dutt nargis sanjay dutt priya dutt namrata dutt inside

राज कपूर और नरगिस की लव स्टोरी उस समय में अपने परवान पर थी, लेकिन राज कपूर पहले से ही मैरिड थे और कृष्णा कपूर को छोड़ने का उनका इरादा भी नहीं था। लेकिन इस दौरान भी नरगिस आरके प्रोडक्शंस की फिल्में साइन कर रही थीं। यहां तक कि नरगिस राज कपूर की दूसरी पत्नी बनने के लिए भी राजी थीं, लेकिन राज कपूर नहीं माने और आखिरकार नरगिस अपनी जिंदगी में अकेली पड़ गईं।

सुनील दत्त और नरगिस ने दिया एक-दूसरे का साथ

'मदर इंडिया' फिल्म में नरगिस ने राधा का किरदार निभा रही थीं। इस फिल्म में सुनील दत्त ने राधा के बेटे बिरजू का किरदार निभाया था। सुनील दत्त को नरगिस को पहले से ही पसंद करते थे, लेकिन इसी फिल्म की शूटिंग के दौरान नरगिस को भी सुनील दत्त से प्यार हो गया। सुनील दत्त की बहादुरी और अपने लिए डेडिकेशन देखकर उन्होंने उनसे शादी करने का फैसला ले लिया। दोनों ने फिल्म रिलीज होने के अगले साल 1958 में शादी कर ली। नरगिस से शादी करने के बाद सुनील दत्त की फिल्में भी बॉक्स ऑफिस पर सफल रहीं। इस दौरान उन्होंने 'सुजाता' और 'साधना' जैसी शानदार फिल्मों में काम किया। नरगिस और सुनील दत्त की फैमिली लाइफ खुशहाल रही और तीन प्यारे-प्यारे बच्चे संजय दत्त, प्रिया दत्त और नम्रता दत्त के होने से जिंदगी गुलजार रही।