• + Install App
  • ENG
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search
author-profile

Sidhu Moosewala : कुछ इस तरह पंजाब की बेटियों की रक्षा करता था उनका ये 'मसीहा'

सिद्धू मूसे वाला के जाने से न सिर्फ संगीत जगह सूना हो गया है, बल्कि खाली पड़ गया है वो उनका घर मनसा जहां उन्हें मसीहा माना जाता था।   
Published -08 Jun 2022, 14:24 ISTUpdated -08 Jun 2022, 14:39 IST
author-profile
  • Ankita Bangwal
  • Editorial
  • Published -08 Jun 2022, 14:24 ISTUpdated -08 Jun 2022, 14:39 IST
Next
Article
sidhu moosewala murder case

शुभदीप सिंह सिद्धू यह कोई और नहीं बल्कि सिद्धू मूसे वाले (Sidhu Moose Wala Murder) का असल नाम है। पंजाब के मूसा में जन्में गायक ने गांव को ही अपना नाम बना लिया और कुछ ही समय में एक स्टार के रूप में उभरे। एक इंजीनियर जिसे गाने का शौक था, जल्द ही स्टेज पर आ गया। हाथ में माइक लिए और अपने रैप और गाने से लोगों का दिल जीतने लगा और पंजाबी संगीत की दुनिया की एक बड़ी शख्सियत बन गया। उन्होंने अपने गाने से अपने दृढ़ हौसलों का प्रमाण दिया और इसलिए शायद वह युवाओं के बीच काफी पॉपुलर रहे। 

मगर शायद किस्मत को कुछ और ही मंजूर था...सिद्धू के परिवार की खुशियों को किसी की नज़र लग चुकी थी। पिछले महीने की 29 तारीख ही वो काला दिन था, जिस दिन कुछ लोगों ने उनकी गाड़ी को ब्लॉक करके उन पर हमला किया। 30 राउंड फायर हुए और पंजाब का शेर शांत हो गया। 

उस दिन शाम को सिद्धू अपने परिवार के साथ अपने किसी रिश्तेदार के घर जाने के लिए निकले थे। शाम 5:30 बजे के करीब दो कारों ने उन्हें रोककर फायरिंग शुरू कर दी।  उनके पिता जब तक उन्हें हॉस्पिटेल लेकर पहुंचे तक तक सिद्धू दुनिया को अलविदा कह चुके थे। उनके निधन के बाद कुछ गैंग्स ने उनकी हत्या की जिम्मेदारी भी ली। शक की तर्ज पर कुछ लोगों को गिरफ्तार भी किया गया, लेकिन अपने बेटे के जाने से पूरा पंजाब सदमे में है और न्याय की अरदास लगाए बैठा है। 

आज सिद्धू के लिए प्रेयर मीट रखी गई थी, जहां उन्हें याद करने वालों का तांता लगा था। सिद्धू के पिता इस अरदास में बेटे को याद कर भावुक हुए और लोगों से अपने बेटे का नाम किसी विवाद में न घसीटने का आग्रह किया।

सिद्धू सिर्फ एक सिंगर नहीं थे, एक रैपर नहीं थे, वो पंजाब के लोगों के लिए खासतौर से लड़कियों के लिए एक मसीहा थे। उनके जाने की खबर से सिर्फ उनके ही घर में मातम नहीं छाया है, बल्कि हर उस घर में और हर वह बेटी शोक में है जिसकी मदद कभी सिद्धू ने की थी। 

इसे भी पढ़ें : जानें आखिर कौन हैं नूपुर शर्मा और कैसा रहा है इनका राजनीतिक सफर

कैसा रहा शुरुआती जीवन

singer sidhu moosewala

शुभदीप सिंह सिद्धू पंजाब के मनसा जिले के मूसा गांव के रहने वाले थे। सिद्धू ने लुधियाना से इंजीनियरिंग की पढ़ाई की और 2016 में इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में ग्रेजुएशन किया। उन्हें शुरू से ही सिंगिंर और रैपिंग का शौक था और रैपर टुपैक शकूर को बड़ा पसंद करते थे। छोटी उम्र से ही उन्होंने हिप-हॉप संगीत सुनना और फिर लुधियाना में हरविंदर बिट्टू से संगीत कौशल सीखा। अपनी ग्रैजुएशन के बाद वह कनाडा चले गए थे और आगे की पढ़ाई वहीं से की। इसी बीच उन्होंने अपना पहला गाना 'सो हाई' लिखा, जो बहुत फेमस हुआ और इसके लिए उन्हें अवॉर्ड भी मिला।

सिंगिंग के साथ-साथ सिद्धू पॉलिटिक्स में भी उतर गए थे। चुनाव प्रचार के दौरान उन्होंने अपने गांव मूसा को अपने नाम में जोड़ा।

पंजाब की बेटियों का मसीहा था सिद्धू मूसे वाला

sidhu moosewala noble act

उनके अंतिम संस्कार में उनके फैंस ही नहीं, बल्कि गांव के कई लोग शामिल हुए थे। सिद्धू मूसेवाला के गांव की लड़कियों के लिए तो जैसे उनका बड़ा भाई, उनकी मदद करने वाला मसीहा चला गया है। सिद्धू का दिल बहुत बड़ा था और वह अपने लोगों के लिए बहुत प्रोटेक्टिव भी थे। कई रिपोर्ट्स में यह तक बताया गया है कि वह अपने गांव की लड़कियों की फीस चुकाते थे। जो लड़कियां आगे पढ़ना चाहती थीं, उनकी मदद करते थे। इतना ही नहीं लड़कियों को छेड़खाने करने वाले लड़कों से भी बचाया करते थे। अगर वह किसी को लड़कियों के साथ बदतमीजी करते देखते, तो तुरंत स्टैंड लेते थे और उन्हें बचाते थे।

इसे भी पढ़ें : खुद को सिंगल बताने वाली सारा गुरपाल का 'वेडिंग सर्टिफिकेट' हो रहा है वायरल

देश-विदेश के सेलिब्रिटीज ने दी श्रद्धांजलि

celebrities condolences to sidhu moosewala

पंजाबी म्यूजिक को इंटरनेशनल म्यूजिक चार्ट्स पर पहुंचाने वाले रैपर को बड़े-बड़े सेलिब्रिटीज ने श्रद्धांजलि दी। रणवीर सिंह, विक्की कौशल और अन्य कई हस्तियों ने सोशल मीडिया हैंडल का सहारा लेकर, रैपर को श्रद्धांजलि अर्पित की। उनके साथ ही अंतरराष्ट्रीय कलाकार ड्रेक और बर्ना बॉय, लिली सिंह आदि ने भी भीगी पलकों से मूसे वाला को याद किया।

Recommended Video

सिद्धू के फैंस और घर वाले इस उम्मीद बैठे हैं कि उनके बेटे को न्याय जरूर मिलेगा। इसकी गुहार लगाए सोशल मीडिया पर #justiceforsidhumoosewala भी बहुत ट्रेंड कर रहा है।

सिद्धू मूसे वाला भले ही आज हमारे साथ नहीं हैं, मगर वह हमेशा अपने गानों के जरिए जिंदा रहेंगे। अगर आपको यह लेख पसंद आया तो इसे लाइक करें और हर सिद्धू मूसेवाला के फैन के साथ शेयर करें। साथ ही जुड़े रहें अपनी वेबसाइट हरजिंदगी के साथ

 
Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।