• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

Shardiya Navratri 2022: क्या आप जानते हैं कलश पर हमेशा नारियल क्यों रखा जाता है?

कलश स्थापना के समय हमेशा उसके ऊपर नारियल रखा जाता है। आइए इस लेख में जानें इसके ज्योतिषीय महत्व के बारे में। 
author-profile
Published -14 Sep 2022, 19:43 ISTUpdated -14 Sep 2022, 20:01 IST
Next
Article
kalash me nariyal ka mahatva

हिन्दू धर्म में किसी भी शुभ काम में नारियल का इस्तेमाल जरूर किया जाता है। ऐसी मान्यता है कि नारियल के बिना पूजा अधूरी होती है। जब बात कलश में नारियल रखने की हो तो ज्योतिष में इसका बहुत ज्यादा महत्व बताया गया है।

पूजा के समय कलश स्थापना एक मुख्य चरण होता है और इसके द्वारा देवी देवताओं का आह्वान किया जाता है जिससे हम जो भी काम करने जा रहे हैं उसमें सफलता मिले। ज्योतिष के अनुसार जिस कलश में नारियल न रखा गया हो उसमें ईश्वर का वास नहीं हो सकता है और ऐसे पूजन को भी पूर्ण नहीं माना जाता है।

खासतौर पर नवरात्रि पूजन के दौरान कलश स्थापना का विधान है। आइए नारद संचार के ज्योतिष अनिल जैन जी से जानें कलश स्थापना के समय उसमें नारियल रखने के कारणों और इसके ज्योतिषीय महत्व के बारे में। 

नारियल को श्रीफल माना जाता है 

शास्त्रों में बताया गया है कि नारियल श्रीफल यानी कि लक्ष्मी जी का फल है। पौराणिक मान्यताओं के अनुसार भगवान विष्णु जब पृथ्वी पर प्रकट हुए तब वो अपने साथ 3 चीजें लाए जिसमें पहली माता लक्ष्मी थीं, दूसरी कामधेनु गाय और तीसरा नारियल का वृक्ष था। नारियल को भगवान विष्णु और माता लक्ष्मी का पसंदीदा फल माना जाता है। इसलिए इसे हर पूजा का हिस्सा जरूर बनाया जाता है। 

इसे जरूर पढ़ें: Expert Tips : घर की सुख समृद्धि के लिए नवरात्रि में कलश स्थापना से पहले जरूर करें ये काम

नारियल में होता है त्रिदेव का वास 

kalash me coconut ka mahattv

ऐसी मान्यता है कि नारियल ही एक ऐसा फल है जिसमें ब्रह्मा, विष्णु, महेश तीनों देवताओं का वास होता है। यही वजह है कि नारियल को किसी भी शुभ काम में जरूर रखा जाता है। इस फल को भगवान शिव का भी पसंदीदा फल माना जाता है और इसमें दिखने वाले तीन बिंदु शिव जी के तीनों नेत्रों को प्रदर्शित करते हैं। 

गुरु बृहस्पति से है नारियल का संबंध 

नारियल को गुरु बृहस्पति का कारक माना जाता है और इसे पूजा और कलश स्थापना (कलश स्थापना का शुभ मुहूर्त) में शामिल करने से गुरु बृहस्पति की पूरी कृपा दृष्टि हम पर बनी रहती है। गुरु को समृद्धि का ग्रह माना जाता है और इन्हें प्रसन्न करने से घर में समृद्धि बनी रहती है। यदि कलश स्थापना के समय उसमें नारियल रखा जाता है तो जीवन में गुरु की कृपा दृष्टि बनी रहती है और खुशहाली आती है। 

कलश में नारियल रखना संतान के लिए होता है शुभ 

नारियल को कलश में रखने से  संतान का स्वास्थ्य भी अच्छा बना रहता है और उसे जीवन में सफलता मिलती है। यदि नवरात्रि के दौरान नारियल रखकर कलश स्थापना की जाती है तो इससे घर के सभी सदस्यों के लिए शुभ आशीष मिलता है।   

इसे जरूर पढ़ें: शादी में आ रही है बाधा? नारियल के ये उपाय दिलाएंगे योग्य जीवनसाथी

कलश पर नारियल रखने का सही तरीका 

kalash sthapna with coconut

  • जब नवरात्रि के दौरान कलश के ऊपर नारियल रखा जाता है तो आपको कुछ नियमों का पालन करना चाहिए।
  • नवरात्रि के दौरान जब भी आप कलश पर नारियल रखें तब इसका मुख पूजा करने वाले व्यक्ति की तरफ होना चाहिए। 
  • कलश स्थापना के समय नारियल (पूजा में क्‍यों किया जाता है नारियल का इस्‍तेमाल) पर कलावा बांधें और कलश में आम के या अशोक के पत्ते रखें।
  • कलश में जल डालें और एक सिक्का डालें फिर उसके ऊपर नारियल रखें। 
  • इस तरीके से नारियल स्थापित करने से पूजन सभी देवी देवताओं को स्वीकार्य होता है और घर की सुख समृद्धि बनी रहती है। 

ज्योतिष में कलश स्थापना में नारियल रखने का विशेष महत्व है इसलिए पूजन के दौरान यहां बताई बातों का विशेष ध्यान रखें। अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: freepik.com

बेहतर अनुभव करने के लिए HerZindagi मोबाइल ऐप डाउनलोड करें

Her Zindagi
Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।