भारतीय महिलाओं ने पिछले एक दशक में तेजी से प्रोग्रेस की है। अर्थजगत से लेकर राजनीति, स्पोर्ट्स से लेकर अंतरिक्ष तक हर जगह महिलाएं कामयाबी के परचम लहरा रही हैं। पी. वी. सिंधु, प्रियंका चोपड़ा, कली पुरी, रूपा गुरुनाथ, अनुप्रिया लाकड़ा जैसी कामयाब महिलाएं पूरे देश को आगे बढ़ने के लिए इंस्पायर कर रही हैं। महिलाओं की इस ताकत को सिर्फ भारत ही नहीं, पूरी दुनिया महसूस कर रही है। देश के सबसे बड़े बिजनेसमैन मुकेश अंबानी की पत्नी नीता अंबानी, जो रिलायंस फाउंडेशन की संस्‍थापक, चेयरपर्सन और अंतरराष्‍ट्रीय ओलंपिक समिति की पहली भारतीय महिला सदस्‍य हैं, ने महिलाओं की इसी ताकत पर भरोसा जताते हुए उनके जरिए स्पोर्ट्स को आगे बढ़ाने की बात कही है। नीता अंबानी का मानना है कि महिलाएं अपनी काबिलियत से स्पोर्ट्स में बेहतरीन प्रदर्शन करने के साथ-साथ इन्हें आगे बढ़ाने में भी अहम भूमिका निभा सकती हैं।

इसे जरूर पढ़ें: बेहतरीन अदाकारी की मिसाल रहीं शबाना आजमी का फिल्मी सफर कैसा रहा, जानिए

महिलाओं स्पोर्ट्स में कामयाबी दिलाने में हो सकती हैं मददगार

nita ambani on role of women in pomoting sports inside

नीता अंबानी ने लंदन में आयोजित हुई 'द स्‍पोर्ट बिजनेस समिट' में 'इंस्‍पायरिंग ए बिलियन ड्रीम्‍स: द इंडिया अपॉर्च्‍युनिटी' में भारत में खेल से जुड़ी संभावनाओं पर कई पॉजिटिव बातें कहीं। उन्‍होंने कहा, 'भारत में युवाओं की संख्या काफी ज्यादा है और यह भारत के लिए आशा की किरण है। देश की आबादी 1.3 बिलियन है, जिसमें से 600 मिलियन 25 से कम के हैं। अगर भारत के युवाओं का एक अलग देश होता तो ये अपना आप में दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा देश होता। आईपीएल में खेलने वाली टीम मुंबई इंडियंस की मालकिन नीता अंबानी ने महिलाओं की ताकत पर चर्चा जोरदार तरीके से की, 'मैं महिलाओं की अभूतपूर्व शक्ति में भरोसा करती हूं। मेरा मानना है कि महिलाएं ना सिर्फ खेलों में बेहतर प्रदर्शन कर सकती हैं, बल्कि वे खेलों को आगे बढ़ाने में भी अहम भूमिका निभा सकती हैं। आज के समय में महिलाओं ने कई क्षेत्रों में अहम पदों पर अपना दबदबा बनाया है, जहां पहले सिर्फ पुरुषों का वर्चस्व था। दुनियाभर की महिलाएं इस तरह आगे बढ़ रही हैं।' 

हिमा दास की तारीफ की

नीता अंबानी ने अपने भाषण में देश की इंस्पायरिंग महिला और युवा एथलीट हिमा दास का भी जिक्र किया। हिमा दास, जो देश के लिए स्वर्ण पदक सहित कई सम्मान अर्जित कर देश का मान बढ़ा चुकी हैं, का उदाहरण देते हुए कहा, 'हिमा दास के पास सुविधाएं नहीं थीं तो नंगे पैर दौड़कर तैयारी की। आज वह खेल का सामान बनाने वाली कंपनी एडिडास की ब्रांड एंबेसेडर हैं।'

नीता अंबानी के भाषण से साफ है कि वह दुनिया को महिलाओं की ताकत के बारे में बताना चाहती थीं। महिलाओं अगर ठान लें, तो मुश्किलें होने के बावजूद कामयाबी की राह पा सकती हैं।  

इसे जरूर पढ़ें: मॉडल और एक्टर पद्मा लक्ष्मी के बारे में ये दिलचस्प बातें नहीं जानती होंगी आप

'खेलो इंडिया' और 'फिट इंडिया मूवमेंट' की तारीफ की

nita ambani on women power

नीता अंबानी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 'खेलो इंडिया' और 'फिट इंडिया मूवमेंट' जैसे इनीशिएटिव्स के लिए तारीफ की। नीता ने कहा कि भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में खेलों को प्राथमिकता देने के लिए कई प्रोग्राम्स की शुरुआत की है। इनमें 'खेलो इंडिया' और 'फिट इंडिया मूवमेंट' सबसे अहम हैं।

नीता अंबानी खुद भी हैं इंस्पिरेशनल वुमन

nita ambani reliance foundation chairperson

नीता अंबानी देश के बड़े बिजनेसमैन मुकेश अंबानी की पत्नी होने के बावजूद अपनी एक स्वतंत्र पहचान सकती हैं। रिलायंस फाउंडेशन की संस्‍थापक, चेयरपर्सन और अंतरराष्‍ट्रीय ओलंपिक समिति की पहली भारतीय महिला सदस्‍य के तौर पर काम करना जाहिर करता है कि वह अपने काम को लेकर कितनी उत्साही हैं। नीता अंबानी फुटबॉल स्पोर्ट्स डेवलपमेंट लिमिटेड की फाउंडर भी हैं, जो देश में फुटबॉल और अन्य खेलों को बढ़ावा देने के लिए काम करती है। अपने सराहनीय प्रयासों के लिए साल 2017 में उन्हें राष्ट्रीय खेल प्रोत्साहन सम्मान से भी नवाजा गया था।