वैसे तो इस बात में कोई दोराय नहीं है कि हमारे देश की महिलाएं आज हर एक क्षेत्र में पुरुषों के साथ कंधे से कंधा  मिलाकर आगे बढ़ रही हैं। शिक्षा हो या करियर महिलाएं किसी भी क्षेत्र में महिलाएं पीछे नहीं हैं। लेकिन अगर आपसे कहा जाए कि महिलाओं के सशक्तिकरण को ध्यान में रखते हुए उन्हें एक दिन के लिए उच्च पदों पर नियुक्त किया जाए तो आप क्या कहेंगे? 

यकीनन आपको इस बात पर थोड़ी हैरानी हो सकती है और आप इसके पीछे के कारण भी जानना चाहेंगे। दरअसल उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद जिले में हाल ही में महिलाओं को सिर्फ एक दिन के लिए उच्च पद पर नियुक्त किया गया है। आपको बता दें कि इन सभी लड़कियों को राज्य सरकार की पहल मिशन नारी शक्ति के तहत यह मौका दिया गया है। आइए जानें क्या है मिशन नारी शक्ति और क्या है पूरी खबर। 

लड़कियों को मिली उच्च पद पर नियुक्ति 

women got promotion

मिशन नारी शक्ति' के तहत उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद जिले में लड़कियों को जिला मजिस्ट्रेट (डीएम), वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी), पुलिस उपाधीक्षक (डीएसपी) और प्रमुख जैसे प्रमुख जिला पदों पर कब्जा करने का मौका दिया गया है। यह जानकारी एक मीडिया इंटरव्यू में मुरादाबाद के (सीडीओ) विकास अधिकारी ने मंगलवार को दी।

इसे जरूर पढ़ें:सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद सेना की 39 महिला अफसरों को मिलेगा परमानेंट कमीशन,जानें पूरी खबर

क्या है मिशन नारी शक्ति 

राज्य सरकार की मिशन नारी शक्ति महिलाओं को सशक्त बनाने, उनमें आत्मविश्वास जगाने, उन्हें सुरक्षा की भावना देने और समाज के लिए कुछ करने की इच्छा जगाने की एक पहल है जिसके तहत मिशन नारी शक्ति के तहत इन युवा लड़कियों को एक दिन के लिए जिलाधिकारी, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी), पुलिस उपाधीक्षक (डीएसपी) और मुख्य विकास अधिकारी (सीडीओ) बनने का मौका दिया गया है। (फोर्ब्स की 100 सबसे अमीर भारतीयों की लिस्ट)

Recommended Video

मिशन नारी शक्ति का महत्व

एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार मुरादाबाद के जिलाधिकारी शैलेंद्र सिंह ने कहा, ''महिलाओं को आत्मनिर्भर, सुरक्षित और आर्थिक रूप से सशक्त बनाने के उद्देश्य से राज्य सरकार मिशन नारी शक्ति चला रही है "इस मिशन के तहत प्रतिभाशाली लड़कियों को एक दिन के लिए जिले में प्रमुख पदों पर कब्जा करने का मौका दिया गया है। इससे उनमें विश्वास पैदा होगा, समाज के लिए कुछ करने की इच्छा जागृत होगी और उन्हें समाज की मुख्यधारा से जुड़ने में मदद मिलेगी। 

इसे जरूर पढ़ें:अलग मुकाम हासिल करने रांची से ऑस्ट्रेलिया तक पहुंचीं न्यूट्रिशन और डाइट एक्सपर्ट स्वाति बथवाल, जानें इनकी कहानी

कौन हैं नियुक्त लड़कियां और क्या है उनकी राय

selected girls 

मिशन नारी शक्ति के तहत उच्च अधिकारी के पद पर नियुक्त होने वाली कुछ लड़कियां -आकांक्षा विद्यापीठ इंटर कॉलेज की संध्या - जिलाधिकारी, प्रभादेवी आदर्श कन्या इंटर कॉलेज के ऐमान - मुख्य विकास अधिकारी,स्वरूपदेवी मेमोरियल इंटर कॉलेज की दृष्टि पाल - पुलिस अधीक्षक, शहर रामचंद्र शर्मा कन्या इंटर कॉलेज के अंशु राणा - पुलिस अधीक्षक, यातायात अनमता - जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी,संजना सैनी - जिला समाज कल्याण अधिकारी, सोनिया चौधरी - जिला कृषि अधिकारी, कोमल - जिला परिवीक्षा अधिकारी, खुशी त्रेहन - सीओ सिविल लाइंस,ट्विंकल सिंह - एसओ महिला थाना, तमन्ना दुबे - मुख्य चिकित्सा अधिकारी,स्नेहा भारती - जिला पुलिस अधिकारी आकांक्षा विद्या पीठ की छात्रा संध्या भाटी का कहना है कि, "मुझे दो घंटे के लिए डीएम बनने का मौका दिया गया, लोगों की समस्याएं सुनने और उनका समाधान खोजने का मौका दिया गया। यह महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देने के लिए किया जा रहा है। मुझे आज गर्व महसूस हो रहा है। (UPSCएग्जाम में परचम लहराने वाली टॉप 10 महिला रैंकर्स)

वास्तव में ये सरकार का एक अहम् कदम है जो महिलाओं को आगे बढ़ाने और उनके लिए लिए गए प्रयासों के बारे में बताता है। अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें। इसी तरह के अन्य रोचक लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ। 

Image Credit: @ani