नए वर्ष  का सबसे पहला त्‍योहार मकर संक्रांति होता है, जिसे पूरे भारत वर्ष में धूमधाम से मनाया जाता है। यह पर्व अलग-अलग राज्‍यों में अलग-अलग नाम से मनाया जाता है। जैसे गुजरात में इसे उत्तरायण कहा जाता है, जो सूर्य की एक दिशा होती है। इस दिन सूर्य धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश करता है, इसलिए इसे मकर संक्रांति भी कहा जाता है। 

हरियाणा और पंजाब में इस दिन को लोहड़ी कहा जाता है। वहीं बंगाल, बिहार और आसाम में भी इस पर्व को धूमधाम से मनाया जाता है और इस दिन यहां के लोग 'गंगा सागर' में स्‍नान भी करते हैं। साउथ इंडिया में इस त्‍योहार को 4 दिन पोंगल के रूप में मनाया जाता है।   

वैसे तो यह पर्व हर वर्ष 14 या 15 जनवरी को पड़ता है मगर इस वर्ष यह पर्व 14 जनवरी, बृहस्‍पतिवार को मनाया जाएगा। भोपाल के ज्योतिषाचार्य एवं हस्त रेखार्विंद विनोद सोनी पोद्दार कहते हैं, 'इस वर्ष त्योहार पर चंद्रमा, शनि, बुध और गुरु ग्रह भी मकर राशि में होंगे। ऐसे में मकर संक्रांति को बेहद ही शुभ फलदायी बताया जा रहा है l इस दिन यदि आप गंगा स्‍नान करते हैं और राशिनुसार चीजों का दान करते हैं तो इससे आपको शुभ फलों की प्राप्ति होगी।'

इसे जरूर पढ़ें: Health Horoscope 2021: सेहत के लिहाज से वर्ष 2021 कैसा रहेगा, पंडित जी से राशिनुसार जानें

 makar sankranti  wishes

मकर संक्रांति शुभ मुहूर्त 

यह पर्व 14 जनवरी की सुबह 8 बजकर 30 मिनट से शुरू हो कर शाम 5 बजकर 46 मिनट तक रहेगा l

मकर संक्रांति पर क्‍या करें दान 

वैसे तो मकर संक्रांति पर खिचड़ी दान करने का विशेष महत्‍व है, मगर खिचड़ी के अलावा भी इस दिन आप अलग-अलग फल प्राप्‍त करने के लिए चीजों को दान कर सकते हैं। पंडित जी इस बारे में बताते हैं, 'भगवान सूर्य और शनिदेव का आर्शीवाद मकर संक्रांति पर कुछ चीजों का दान कर प्राप्‍त किया जा सकता है।'

1- मकर संक्रांति के दिन खिचड़ी का दान करें, इससे घर में सुख और शांति का वास होता है।

2-  कुंडली में यदि सूर्य और शनि खराब स्थिति में हैं तो इस दिन गुड़ और तिल का दान करें। 

3- जिन लोगों पर शनि की साढ़ेसाती या ढैया का प्रभाव है, उन लोगों को मकर संक्रांति के दिन काले तिल तांबे के पात्र में भरकर किसी निर्धन व्यक्ति को दान करना चाहिए। 

4- यदि आप इस दिन नमक का दान करते हैं तो इससे आपका बुरा वक्‍त टल जाता है। 

5- घर में यदि कोई बीमार है तो मकर संक्रांति के दिन नए वस्त्रों का दान करें। 

6-  मकर संक्रांति के दिन घी का दान करने से देवी महालक्ष्मी की कृपा  प्राप्त होती है।

7-  मकर संक्रांति के दिन सात प्रकार के अनाज का दान करने पर मां अन्नपूर्णा प्रसन्न हो जाती हैं। 

8-  मकर संक्रांति कंबल का दान करना भी शुभ माना गया है।  

9-  मकर संक्रांति के दिन चावल, दूध और दही का दान अवश्य करें, इससे धन की कभी कमी नहीं होती है। 

10-  मकर संक्रांति के दिन सरसों का तेल तांबे के बर्तन में दान करें। इससे आपको मान- सम्मान की प्राप्ति होगी। 

 इसे जरूर पढ़ें: Makar Sankranti 2020: कहीं खिचड़ी तो कही पोंगल के नाम से मनाया जाता है यह त्योहार

makar sankranti  date and time

राशि अनुसार क्‍या दान करें 

  • मेष-  गुड़, चिक्की, तिल का दान करें। 
  • वृषभ- सफेद कपड़े और सफेद तिल का दान करें।
  • मिथुन- मूंग दाल, चावल और कंबल का दान करें।
  • कर्क- चावल और सफेद वस्त्र का दान करें। 
  • सिंह- तांबे या सोने की वस्‍तु का दान करें। 
  • कन्या- चावल, हरे मूंग या हरे कपड़े का दान करें।
  • तुला-चीनी या कंबल का दान करें। 
  • वृश्चिक-मूंगा, लाल कपड़ा और काला तिल दान करें। 
  • धनु-चावल, तिल और गुड़ का दान करें। 
  • मकर-गुड़, चावल और तिल का दान करें। 
  • कुंभ- काला कपड़ा, काली उड़द, खिचड़ी और तिल का दान करें।
  • मीन- रेशमी कपड़ा, चने की दाल, चावल और तिल का दान करें। 

 

राशिफल, वास्‍तु , हिंदू तीज-त्‍योहार, व्रत-पूजा और धर्म से जुड़ी रोचक बातें जानने के लिए जुड़ी रहे हरजिंदगी से।

Image Credit: Shutter Stock