ऐसा माना जाता है कि मकर संक्रांति वाले दिन इन 3 चीजों का जरूर दान करना चाहिए। हिन्दू धर्म में मकर संक्रांति के त्योहार का बहुत बड़ा महत्व है। मकर संक्रांति का त्योहार सूर्य देव को समर्पित होता है। ऐसा माना जाता है कि इस दिन से सर्दी के मौसम का अंत होता है। मतलब इस दिन से रात छोटी होने लगती है और दिन लंबे होने लगते हैं। 

मकर संक्रांति वाले दिन लोग सूर्य देव को खुश करने के लिए अर्घ्य देकर उनसे प्रार्थना करते हैं। इस दिन भगवान सूर्यदेव धनु राशि छोड़कर मकर राशि में प्रवेश करते हैं। ज्योतिषियों की मानें तो मकर संक्रांति का पर्व इस साल 14 जनवरी को मनाया जाएगा। ऐसा माना जाता है कि मकर संक्रांति के दिन दान-पुण्य करने से उसका सौ गुना फल मिलता है। साथ ही इस दिन गंगा स्नान का भी विशेष महत्व है। 

तो चलिए जानते हैं मकर संक्रांति पर किन 3 चीजों का दान करना चाहिए जिससे आपको ज्यादा से ज्यादा फल की प्राप्ति हो सके। 

गुड़ का दान 

makar sankranti  daan

मकर संक्रांति वाले दिन गुड़ के दान को विशेष महत्व दिया गया है। इस दिन गुड़ दान करने से घर में दरिद्रता का नाश होता है। धन की कभी कमी महसूस नहीं होती है। 

इसे भी पढ़ें: मकर संक्रांति पर घर में आसानी से बनाए तिल मूंगफली की गजक

Recommended Video


तिल का दान 

makar sankranti  daan

खरमास की समाप्ति और शुभ कार्यों की शुरुआत है मकर संक्रांति। मकर संक्रांति के दिन से ही घरों में शादी-ब्याह, मुंडन और नामकरण जैसे शुभ कार्य शुरू हो जाते हैं। मकर संक्रान्ति के मौकै पर तिल और गुड़ के लड्डू खाए जाते हैं। ये ना सिर्फ खाने में स्वादिष्ट होते हैं बल्कि यह कई गुणों से भी भरपूर होते हैं। धर्म ग्रंथों में तिल दान को बहुत विशेष बताया गया है और इस दिन दान का विशेष महत्व है, विशेष कर तिल दान का। कई जगहों पर महिलाएं पूजा करते वक्त सुहाग की निशानियों को चढ़ाती हैं और फिर इन्हें 13 सुहागनों को बांटती हैं। 

खिचड़ी का दान 

makar sankranti  daan

मकर संक्रान्ति के मौकै पर खिचड़ी घरों में बनाई जाती है और इसका दान भी किया जाता है। इस दिन खिचड़ी का दान करने को बहुत ज्यादा महत्व दिया जाता है। ऐसा माना जाता है कि मकर संक्रान्ति वाले दिन खिचड़ी का दान करने से घर में सुख-शांति आती है। 

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें, और इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़े रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।