• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search
author-profile

वो सोने की खान जिसे अंग्रेजों ने बना दिया खंडहर, जानें फिल्म  'केजीएफ' की असल कहानी के बारे में

बीते सालों में सिनेमा लवर्स को साउथ की फिल्मों ने काफी अट्रैक्ट किया है, यही वजह है कि साउथ फिल्म इंडस्ट्री के एक्टर्स ने बड़ा मुकाम हासिल कर लिया है।
author-profile
Published -04 May 2022, 18:40 ISTUpdated -04 May 2022, 19:12 IST
Next
Article
kgf movie real story

फिल्म ‘केजीएफ चैप्टर-2’ का इंतजार फैंस बड़ी बेसब्री से कर रहे थे। लेकिन कोरोना काल के चलते फिल्म ने पर्दे पर आने में काफी वक्त लगा दिया। आखिरकार लंबे इंतजार के बाद यह फिल्म पर्दे पर आ गई, जिसे ऑडियंस ने ढेर सारा प्यार देती नजर आई हैं। फिल्म ने कई बड़े रिकॉर्ड अपने नाम किए हैं, साथ ही ‘सलाम रॉकी भाई’ गाना लोगों की जुबान पर बैठा हुआ है।

 बता दें कि एक्टर यश स्टारर ‘केजीएफ चैप्टर 1’ साल 2018 में सिनेमाघरों में आई थी, जिसके बाद चैप्टर 2 के लिए फैंस को करीब 4 साल का इंतजार करना पड़ा है। चैप्टर 2 का समय जितना लगा, फिल्म को लेकर ऑडियंस का क्रेज भी उसी तरह से बढ़ता गया।  

आज के इस आर्टिकल में हम आपको 'केजीएफ' फिल्म जुड़े कई इंटरेस्टिंग फैक्ट्स के बारे में बताएंगे, जिनके बारे में आपको शायद न पता हो। तो देर किस बात की, आइए जानते हैं केजीएफ चैप्टर 1 और 2 जुड़े इंटरेस्टिंग फैक्ट्स के बारे में- 

'केजीएफ' का मतलब क्या है- 

lesser kow facts related kgf movie

फिल्म का नाम सुनने के बाद सबके मन में यही सवाल आता है कि आखिर क्या है 'केजीएफ'? आपको बता दें कि 'केजीएफ' का फुल फॉर्म ‘कोलार गोल्ड फील्ड’ है। यह कर्नाटक राज्य के कोलार का खनन क्षेत्र है। बता दें कि ब्रिटिश के दौर में इस जगह का इस्तेमाल खनन के लिए खूब किया जाता था। 

दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी खदान है 'केजीएफ'- 

कोलार गोल्ड फील्ड को दुनिया की दूसरी सबसे गहरी खदान माना जाता है।  यहां पर 121 सालों तक सोने की खुदाई की गई। माना जाता है कि इस खदान से करीब 900 टन सोना निकाला जा चुका है।

विदेश में फेमस था 'केजीएफ'- 

यह सोने की खदान विश्व की अलग-अलग जगहों पर बेहद फेमस थी। इतना सोना होने के कारण ब्रिटिश इस जगह को मिनी इंग्लैंड बुलाया करते थे, इतना ही नहीं जापान( जापान की झीलों के बारे में जानें) के बाद 'केजीएफ' ऐसी जगह थी, जहां पर बिजली लगाई गई। हालांकि ये आलीशान सुविधाएं केवल उनके लिए थी जो खदान को कंट्रोल करते थे। वहीं माइन में काम करने वाले भारतीय मजदूरों की खूब दुर्दशा की जाती थी। वहां पर मजदूरों से खूब काम लिया जाता था और उन्हें उनके हाल पर मरने के लिए छोड़ दिया जाता था

फिल्म का चैप्टर 1 को बनने में लगे थे तीन साल-

kgf lesser known facts

बता दें कि जहां फिल्म के दूसरे चैप्टर के लिए 4 साल का इंतजार करना पड़ा, वहीं 'केजीएफ' चैप्टर 1 को तैयार होने में करीब 3 साल का समय लगा था। बता दें कि 'केजीएफ' चैप्टर 1 पहली कन्नड़ फिल्म थी, जिसने 200 करोड़ रुपये की कमाई की थी। हालांकि फिल्म को तमिल, कन्नड़, तेलुगू, हिंदी और मलयालम भाषा में रिलीज किया गया था। साउथ की दमदार फिल्म 'बाहुबली 2' के बाद 'केजीएफ' चैप्टर 1 ही ऐसी फिल्म थी जिसने बॉक्स ऑफिस पर सबसे ज्यादा कमाई की थी।

इसे भी पढ़ें- ये हैं साउथ इंडिया की 5 बेस्ट फिल्में, एक्टिंग और कहानी दोनों के मामले में है जबरदस्त

बारिश के कारण तबाह हुआ था सेट- 

'केजीएफ चैप्टर 1' के दौरान फिल्म का भारी सेट बारिश होने की वजह से बेकार हो गया था। जिसके बाद फिल्म के सेट को दोबारा से तैयार करके शूटिंग शुरू की गई, जिस कारण फिल्म तैयार होने में ज्यादा समय लगता गया। 

लीड हिरोइन ने किए 7 अन्य फिल्मों के ऑफर रिजेक्ट- 

 

 
 
 
View this post on Instagram

A post shared by Srinidhi Shetty 🌸 (@srinidhi_shetty)

'केजीएफ' फिल्म में श्रीनिधी शेट्टी को लीड रोल मिला था। बता दें कि साल 2016 में निधि ने ब्यूटी पेजेंट का खिताब जीता था, जिसके साथ ही उन्हें इस फिल्म के लिए फाइनल किया गया। खास बात यह है कि इस रोल के लिए निधि ने 7 अन्य फिल्मों के ऑफर्स को ठुकरा दिया था। 

यहां पर हुई है 'केजीएफ चैप्टर' 2 की शूटिंग-  

 
 
View this post on Instagram

A post shared by Sanjay Dutt (@duttsanjay)

बता दे कि 'केजीएफ चैप्टर 2' की शूटिंग के लिए कहानी की ओरिजिनल लोकेशन को चुना गया है। शूटिंग के लिए कोलार गोल्ड फील्ड पर ही बहुत बड़ा सा सेट तैयार किया गया, हालांकि इस वजह से फिल्म के मेकर्स को कई समस्याएं भी हुईं। कई बार तूफान के कारण साइनाइड उड़ने लगता, जिस वजह से शूटिंग रोकनी पड़ती थी। 

इसे भी पढ़ें- KGF फेम यश ने राधिका को फोन पर किया था प्रपोज, किसी फिल्म से कम नहीं इनकी लव स्टोरी

जूनियर आर्टिस्ट्स का कराया गया Insurance- 

'केजीएफ चैप्टर 2' में लीड एक्टर के अलावा करीब 800 से ज्यादा जूनियर आर्टिस्ट्स का बीमा करवाया गया। क्योंकि शूटिंग की लोकेशन पर साइनाइड की धूल और गर्मी के कारण जूनियर आर्टिस्ट्स बीमार पड़ जाते थे, जिस कारण कई बार शूटिंग भी बंद करती पड़ती थी। इस तरह की प्रॉब्लम के नजर में रखते हुए फिल्म के मेकर्स ने जूनियर आर्टिस्ट का बीमा करवाया।

 'केजीएफ' टाइम्स न्यूज पेपर को किया गया लॉन्च- 

 

 
 
 
View this post on Instagram

A post shared by kgf times (@kgftimes)

 'केजीएफ' फिल्म का पहला पार्ट 2018 में आया था, लेकिन कोविड के कारण दूसरा पार्ट आने में काफी समय लग गया। जिस वजह से फिल्म की तारीख कई बार डिले होती गई,लोगों के बीच फिल्म का क्रेज कहीं कम न हो जाए इस कारण मेकर्स ने साल 2021 में  'केजीएफ' टाइम्स' न्यूज पेपर लॉन्च किया जिसमें अलग-अलग किरदारों के बारे में बताया गया।

तो ये थे फिल्म 'केजीएफ' से जुड़े इंटरेस्टिंग फैक्ट्स, जिनके बारे में हर सिनेमा लवर को जरूर पता होना चाहिए। आपको हमारा यह आर्टिकल अगर पसंद आया हो तो लाइक और शेयर करें, साथ ही ऐसी जानकारियों के लिए जुड़े रहें हर जिंदगी के साथ।

Image Credit- instagram and twitter

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।