देश की प्रसिद्ध सिंगर लता मंगेशकर जिन्‍हें हम सुरों की मलिका भी कहते हैं वह बीते कुई दिनों से बीमार हैं। मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्‍पताल में उनका इलाज चल रहा है। आपको बता दें कि उम्र और वातावरण में संक्रमण के चलते लता जी की तबियत काफी खराब हो गई थी। मगर, बताया जा रहा है कि उनकी तबियत में लगातार सुधार हो रहा है। लता जी की तबियत खराब होने की खबर से पूर देश ही दुखी हो चला था। मगर, इस उम्र में भी लता जी ने हिम्‍मत दिखाई और अपनी सेहत को ठीक कर लिया। फिलहाल लता मंगेशकर पहली बार किसी कठिन दौर से नहीं गुजरीं। अपनी लाइफ में उन्‍होंने कई बार कठिन परिस्थितियों का सामना किया और वह हमेशा ही हिम्‍मत के साथ उन परिस्थितियों से खुद बाहर निकालने में सफल भी रही हैं। खासतौर से लता जी के जीवन से ऐसे 3 बड़े विवाद जुड़े हुए है जिन्‍होंने उन्‍हें तोड़ ही दिया था मगर, उन्‍होंने न खुद को संभाला बल्कि उन विवादों को सुलझाया भी। तो चलिए हम आपको लता मंगेशकर के जीवन से जुड़े वी 3 बड़े विवाद बताते हैं। 

इसे जरूर पढ़ें: जानें, लता मंगेशकर की जिंदगी से जुड़़ी रोचक और अनकही बातें

lata mangeshkar last song

अधूरी प्रेम कहानी 

इस जीवन में हर किसी को कभी न कभी किसी न किसी से प्रेम जरूर हुआ होगा। लता मंगेशकर भी इससे अछूती नहीं रहीं। बॉलीवुड की कई फेमस लव स्‍टोरीज में से कुछ ऐसी भी है जो अधूरी ही रह गईं। लता मेंगेशकर की लव स्‍टोरी भी उन्‍हीं में से एक है। जी हां, लता मंगेशकर का नाम हमेशा से ही डूंगरपुर के घराने के महाराज राजसिंह से जोड़ा गया। लता जी और राज सिंह डूंगरपुर को क्रिकेट के खेल ने मिलाया। वैसे तो राजसिंह 1955 से ही राजस्‍थान रणजी टीम के लिए खेलते थे मगर अपनी पढ़ाई पूरी करने के लिए 1959 में वह मुंबई आए। यहां लताजी के भाई हृदयनाथ से उनकी दोस्‍ती हो गई। वह अक्‍सर उनसे मिलने लता जी के घर जाते। दोनों कई बार क्रिकेट भी खेलते थे। तब ही लता जी और राजसिंह के मन में एक दूसरे के लिए प्रेम पनपा। मगर, जब बात शादी पर पहुंची तो राजसिंह डूंगरपुर को अपने माता-पिता को दिया वजन याद आया कि शादी वह उनके पसंद से ही करंगे। इस तरह लता मंगेशकर का पहला प्‍यार अधूरा रह गया और उन्‍होंने पूरा जीवन बिना शादी किए बिताया। लता मंगेशकर ने रानू मंडल को दी नसीहत ‘ज्‍यादा दिन तक नकल करने से नहीं बनेगा काम’

इसे जरूर पढ़ें: लता मंगेशकर को Daughter Of The Nation से सम्मानित करेगी मोदी सरकार

lata mangeshkar family

बहन आशा भोसले से विवाद की वजह 

बॉलीवुड में कई सारे भाई-बहन और बहन-बहन की जोड़ी हैं। मगर, सबसे फेमस जोड़ी है सिंगर बहनों लता मंगेशकर और आसा भोसले की। दोनों ही सगी बहने हैं। लता जी जब 14 बरस की थीं तब ही उनके पिता जी गुजर गए थे। तब से लता जी ने अपने पूरे घर की जिम्‍मेदारी उठाई जब आसा भोसले बड़ी हुईं तो यही उम्‍मीद लता जी को अपनी छोटी बहन से भी थी। मगर, आसा जी अपनी बड़ी बहन लता जी की आशाओं को पूरा करने में सफल नहीं हो पाईं। सबसे बड़ा धक्‍का लता जी को तब लगा जब मात्र 16 वर्ष की उम्र में आसा जी ने गणपतराव भोंसले से शादी कर ली थी। गणपतराव उस वक्‍त लता मंगेशकर के सेक्रेटरी थे। उम्र में भी गणपत राव आशा जी से दोगुने थे। दोनों की शादी को लता जी ने मंजूरी नहीं दी थी। इस घटना के बाद ही दोनों बहनों में दूरियां आ गईं। लता मंगेशकर के गानों से जुड़े इन 10 दिलचस्प सवालों के जवाब दीजिए

मगर, आशा भोंसले और गणपतराव का रिश्‍ता बहुत दिन नहीं टिका 3 बच्‍चे होने के बाद भी आशा भोंसले और गणपत राव अलग हो गए। इस के बाद भी आशा और लता जी की दूरियां बरकरार रहीं। आशा भोसले ने बाद में आर डी बर्मन से शादी कर ली। मगर वक्‍त के साथ-साथ दोनों बहने फिर से एक दूसरे के करीब आईं मगर, वह प्‍यार जो लता और आशा में पहले था वह कभी नहीं दिखा। लता दी अपने बचपन की इन गलतियों को याद कर जोर-जोर से हंसने लगती हैं

lata mangeshkar biography

रॉयली को लेकर मोहम्‍मद रफी से हुआ विवाद 

लता मंगेशकर और मोहम्‍मद रफी ने बहुत से गीत एक साथ गए हैं। मगर, दोनों के जीवन में एक वक्‍त ऐसा भी आया जब लता मंगेशकर और मोहम्‍मद रफी ने एक दूसरे बातचीत ही बंद कर दी। विवाद था गानों की रॉयलटी को लेकर। लता जी ने अपने एक इंटरव्‍यू में भी यह बात बताई थी कि वह चाहती थी कि जो गाने उन्‍होंने गए हैं उनकी रॉयलटी उन्‍हें दी जाए वहीं मोहम्‍मद रफी इस बात के खिलाफ थे।

यह वि‍वाद इतना बढ़ा कि दोनों ने एक दूसरे बात तक करना बंद क‍र दिया। हालाकि विवाद चार साल बाद खत्‍म हुआ और अभिनेत्री नरगिस के कहने पर दोनों एक बार फिर से ‘दिल पुकारे’ गाना गाया।