• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

ओमाना कुंजम्मा भारत की पहली महिला मजिस्ट्रेट की साहसी कहानी के बारे में जानिए   

आज आप इस लेख में आजाद हिंदुस्तान की पहली महिला मजिस्ट्रेट से जुड़े रोचक तथ्यों के बारे में जानेंगे।  
author-profile
Published -13 Jul 2022, 12:57 ISTUpdated -30 Jul 2022, 13:15 IST
Next
Article
who is omana kunjamma indias first ever woman magistrate

भारतीय का इतिहास हमेशा से रोचक रहा है क्योंकि इसमें दर्ज हर किरदार अहम है। फिर चाहे वो महिला हो या फिर पुरूष। लेकिन वो कहते हैं कि कोई भी राष्ट्र तब तक विकसित नहीं हो सकता है, जब तक उस देश की महिलाएं देश के विकास में कंधे से कन्धा मिलाकर नहीं चलती हैं। हमें हर क्षेत्रों में अपना दर्ज करने वाली कई ऐसी महिलाओं की कई साहसी कहानी मौजूद हैं, जिसमें ओमाना कुंजम्मा की कहानी एक है। 

बता दें कि ओमाना कुंजम्मा भारत की पहली महिला मजिस्ट्रेट बनीं और अपनी सेवाएं लोगों के प्रदान की। मजिस्ट्रेट के कार्यकाल के दौरान उन्होंने कई सुधार करने के प्रयास किए, जिसके लिए सिर्फ देश ही नहीं, बल्कि दुनियाभर में उनकी प्रशंसा हुई और कई तरह के सम्मान भी मिले। तो चलिए आज इस लेख में हम आपको भारत की पहली महिला मजिस्ट्रेट ओमाना कुंजम्मा के जीवन के बारे में विस्तारपूर्वक बता रही हैं। 

कौन थीं ओमाना कुंजम्मा? 

ओमाना कुंजम्मा थिक्कुरिस्सी, नागरकोइल यानि तमिलनाडु की रहने वाली है। कहा जाता है कि इनका जन्म एक कुलीन मलयाली नायर परिवार में हुआ था। इतिहास के अनुसार इसके माता-पिता का नाम गोविंद पिल्लई और लक्ष्मी था। इसकी एक बड़ी बहन भी थीं, जिनका नाम थिक्कुरिसी सुकुमारन नायर था। (हिंदुस्तान की पहली महिला पायलट के बारे में जानें)

इसे ज़रूर पढ़ें- किरण बेदी ने पहली महिला आईपीएस अधिकारी बनकर कायम की मिसाल

मजिस्ट्रेट में बनाया अपना करियर

first indian woman magistrate omana

ओमाना कुंजम्मा को पढ़ने-लिखने का  काफी शौक था। कहा जाता है कि 12 के बाद उन्होंने अपनी आगे की पढ़ाई लॉ में की थी। हालांकि, इस दौरान इन्होंने काफी समस्याओं का सामना किया है। लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी और मजिस्ट्रेट में अपना करियर बनाया और तमिलनाडु के जिला कोर्ट में नौकरी की। (भारतीय सिनेमा की पहली एक्ट्रेस दुर्गाबाई कामत के बारे में जानें)

Recommended Video

ओमाना कुंजम्मा की कहानी

Know about omana kunjamma story in hindi

कहा जाता है कि ओमना कुंजम्मा जब मजिस्ट्रेट बनीं तो इससे पहले कोई महिला मजिस्ट्रेट थीं। बता दें कि ओमना कुंजम्मा अपने काम को लेकर काफी ईमानदार थीं और किसी भी फैसले को बहुत ही जिम्मेदारी से सुनाती थीं। इनका काम न सिर्फ अपने जिला में कानून और व्यवस्था के रखरखाव करना था बल्कि पुलिस के कार्यों को नियंत्रित करना भी था। 

इसे ज़रूर पढ़ें- नरगिस दत्त ऐसी पहली महिला अभिनेत्री जो राज्यसभा की सदस्य बनीं

अचीवमेंट 

ओमाना कुंजम्मा भारत की पहली ऐसी महिला हैं, उन्हें पहली बार मजिस्ट्रेट का पद हासिल किया। इस दौरान न सिर्फ उनके काम को सहारा गया बल्कि कई सर्टिफिकेट भी अपने नाम किए। बता दें कि भारत की पहली महिला मजिस्ट्रेट बनने के अलावा उन्होंने केरल की पहली महिला आईएएस अधिकारी बनने का खिताब भी अपने नाम किया।  

उम्मीद है कि ये जानकारी पसंद आई होगी। आप आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ। 

Image Credit- (@Wikipedia) 

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।