भारत एक ऐसा देश है जहां हर धर्म और संस्कृति देखने को मिलती है। यही कारण है कि भारतीय शादियां बेहद ही अलग होती हैं, जहां तरह-तरह के रीति-रिवाज और रस्में देखने को मिलती हैं। इस वजह से भारतीय शादियों के चर्चे विदेश तक होते हैं। दरअसल, भारत में शादी एक ऐसा संबंध है जहां सिर्फ लड़का-लड़की ही नहीं बल्कि पूरे परिवार का संगम होता है। ये ऐसा संबंध जो शादियों को और भी खास बनाता है। तो आईए इस आर्टिकल के जरिए जानते हैं कि कौन से राज्य में शादी को लेकर क्या रीति-रिवाज हैं।

असमिया शादी

wedding rituals and customs

अपनी सादगी और अद्भुत रस्मों की वजह से असमिया शादी बेहद मशहूर है। असमिया शादी में होने वाली रस्में बड़े ही सादगी भरे अंदाज में होती हैं। अगर आप असमिया तौर तरीके शादी की है तो आप ‘जुरान’ की रस्म के बारे में जरूर जानती होंगी। दुल्हन को इस रस्म के तहत घरवालों की ओर से कई सारे तोहफे दिए मिलते हैं। वहीं, अपनी सभी महिला रिश्तेदारों के साथ दूल्हे की मां होने वाली बहु के घर जाती हैं और वहां सभी मिलकर ‘बिया नाम’ का गीत गाती हैं।

इस दौरान घर आई सभी महिलाओं का दुल्हन की मां स्वागत करती हैं। साथ ही, इस मौके पर ज़ोराई नाम के एक बर्तन का इस्तेमाल किया जाता है और फिर घर में आकर दूल्हे की मां दुल्हन को पान, ताम्बूल (सुपारी और मेवा) और गामुसा (असम का सफेद ट्रेडिशनल कपड़ा, जिस पर लाल रंग की कड़ाई होती है) देती हैं। दुल्हन को दी जाने वाली सभी चीजों को दूल्हा छूता है।

इसे जरूर पढ़ें: जानें क्यों लिए जाते हैं सात फेरे, खास है हर वचन के मायने

बंगाली शादी

wedding rituals in India

आमतौर पर बंगाली शादियों की झलक हमें बॉलीवुड फिल्मों और टीवी शोज में देखने को मिल जाती है। अगर आपने टीवी पर इन शादियों को देखा हो तो आपको भी ये काफी इंट्रेस्टिंग लगेंगी। हालांकि, रियल लाइफ में भी बंगाली शादियां अपने खास रीति-रिवाज और परंपराओं के लिए जानी जाती हैं। बंगाली शादी में वृद्धी पूजा बेहद खास होती है। दरअसल, जब लड़के और लड़की की शादी तय हो जाती है तो उनके लिए वृद्धी पूजा रखवाई जाती है। 

इसमें अपने पूर्वजों को वर-वधु याद कर उनसे अपने नए जीवन के लिए आशीर्वाद लेते हैं। वैसे बंगाली शादी में आई बूढ़ों भात की रस्म के भी अलग मायने हैं। दुल्हन के घर आई बूढ़ों भात की रस्म शादी से एक रात पहले की जाती है। इस रस्म में दुल्हन अपने मायके अंतिम भोजन का आनंद लेती है। इस अवसर पर दुल्हन का परिवार और करीबी दोस्त नाचते-गाते और जश्न मनाते हैं।

इसे जरूर पढ़ें: दुल्हन विदाई के समय इसलिए करती है चावल फेंकने की रस्म, जानें क्या है महत्व

Recommended Video

गुजराती शादी

wedding traditions in india

मेहमान नवाजी के लिए गुजराती लोगों का कोई मेल नहीं है। वो देशभर में कल्चर और अपने स्पेशल खान-पान के लिए मशहूर हैं। यही नहीं, गुजरात की तो विदेश तक धूम देखने को मिलती है। दरअसल, गुजराती लोग काफी फेस्टिव नेचर के होते हैं, जिसकी वजह से उनके यहां होने वाली शादियां भी बहुत धूमधाम से होती हैं। गुजराती वेडिंग में जान परंपरा काफी इंटरेस्टिंग होती है। यही नहीं, यह रस्म काफी मजेदार होती है। इसमें दूल्हा शादी के वेन्यू में आने के बाद अपनी होने वाली सासू मां के पैर छूकर उनका आशीर्वाद लेता है। इस दौरान सास अपने दामाद की नाक पकड़ने की कोशिश करती है। ये रस्म इसलिए की जाती है ताकि दूल्हे को याद रहे है कि उसे अमूल्य बेटी दी जा रही है, जिसके लिए उसे हमेशा आभारी रहना चाहिए।

आपको हमारा ये आर्टिकल कैसा लगा हमें इस बारे में बताना ना भूलें।

Image credit: freepik.com