नेटफ्लिक्स का नया शो इंडियन मैचमेकिंग अब बहुत लोकप्रिय हो रहा है। ये शो अरेंज मैरिज पर आधारित है और मैचमेकर सीमा टपारिया इस बात का पूरा ध्यान रखती हैं कि उनके क्लाइंट्स को सही रिश्ता मिले। सोशल मीडिया पर सभी उन्हें सीमा आंटी कहने लगे हैं और इस शो की लोकप्रियता का अंदाज़ा आप इसी बात से लगा सकती हैं कि इस शो के बारे में सोशल मीडिया पर बहस चल रही है और इसके अच्छे और बुरे दोनों ही पहलुओं पर गौर किया जा रहा है।

सीमा टपारिया के काम करने का तरीका वैसा ही है जैसा किसी भी अन्य मैचमेकर का होता है। पहले सीमा आंटी सभी सिंगल्स से मिलती हैं, उनके घर जाती हैं, उनकी लाइफस्टाइल देखती हैं और फिर उसके हिसाब से रिश्ता चुनती हैं। ये लड़के और लड़की दोनों के लिए ही लागू होता है। वो सभी का बायोडेटा बनाती हैं और उसके हिसाब से ही उनके लिए रिश्ते चुने जाते हैं। एक एंटरटेनमेंट वेबसाइट को दिए इंटरव्यू के मुताबिक सीमा जी के पास लड़के और लड़की का अलग डेटाबेस होता है। इसे ‘Female Index’ और ‘Male Index’ कहा जाता है और इसमें उनके क्लाइंट की हाइट से लेकर उसकी जन्मकुंडली तक सब कुछ होता है। इसी आधार पर तय होती है अरेंज मैरिज

इसे जरूर पढ़ें- शादी की तैयारी है तो ईको फ्रेंडली तरीकों से नया ट्रेंड सेट करें

आखिर कैसे बनीं सीमा टपारिया एक मैचमेकर?

सीमा टपारिया सिर्फ 19 साल की थीं जब उनकी शादी हो गई। उनके पति अनूप और वो 1980 के दशक से साथ हैं। वो एक अमीर घराने से हैं और उनके कई कनेक्शन हैं और रिश्ते जोड़ना उन्होंने एक शौक के तौर पर शुरू किया था। पहले ये सर्विस सिर्फ मारवाड़ी घरों के लिए थी, लेकिन अब सीमा ग्लोबल हो गई हैं और अमेरिका, हॉन्ग कॉन्ग, थाईलैंड, ऑस्ट्रेलिया आदि में भी सिंगल भारतीयों के लिए रिश्ते ढूंढती हैं।

indian matchmakin

कितनी फीस है इंडियन मैचमेकिंग की?

सीमा का काम है अपने क्लाइंट्स की लाइफस्टाइल का आंकलन करना और सभी चीज़ों को देखने के बाद ही उनके लिए सही रिश्ता चुनना। रिपोर्ट्स के अनुसार उनकी फीस 1.5 लाख से 4 लाख के बीच होती है। ये कमिशन लड़का और लड़की दोनों की तरफ से मिलता है।

शो को देखने के बाद आपके मन में क्या ख्याल आता है?

सीमा आंटी का ये शो बहुत ही हैप्पी नोट पर शुरू होता है जहां आपको एक हैप्पी कपल दिखाया जाता है जिसकी अरेंज मैरिज हुई थी और उस शादी को 30-40 साल हो चुके हैं वो खुश हैं। इसके बाद सीमा आंटी किसी क्लाइंट के बारे में जानकारी देती हैं और उसके बारे में बताती हैं।

उनकी स्पेशिएलिटी है इंडियन और अमेरिकन क्लाइंट्स। वो अरेंज मैरिज की बहुत बड़ी समर्थक हैं और आपको इस शो को देखने में कहीं नहीं लगेगा कि ये धारणा खराब है। इसके 8 एपिसोड हैं और सभी को आप 1 दिन के अंदर देख सकते हैं। बस ध्यान रहे कि इसे खुले दिमाग से देखें।

इसे जरूर पढ़ें- मेट्रिमोनियल वेबसाइट के जरिए तलाश रहीं हैं पार्टनर तो इन तरीकों से खुद को रखें सेफ

Recommended Video

ट्विटर पर लोग दे रहे हैं अलग तरह के रिएक्शन-

जहां कुछ लोग ऐसे भी हैं जिन्हें इंडियन मैचमेकिंग बहुत पसंद आ रहा है वहीं दूसरी तरफ इस शो को बुरी तरह से ट्रोल भी किया जा रहा है। ट्विटर के कुछ रिएक्शन्स आप देख सकते हैं-

कई लोगों को ये बिंज वॉचिंग के लिए बेस्ट शो लग रहा है। शायद यही कारण है कि इंडियन मैचमेकिंग शो भारत में तीसरे नंबर पर ट्रेंड भी कर रहा है (नेटफ्लिक्स ट्रेंडिंग)।


लोगों ने इंडियन मैचमेकिंग को लेकर कई मीम्स भी बना दिए हैं।


इस शो में कुंडली मिलाने से लेकर पेट्स की तस्वीरों पर ऐतराज़ जताने तक सब कुछ किया जा रहा है।

लगभग हर रिश्ते में कॉम्प्रोमाइज शब्द का इस्तेमाल किया जा रहा है।


अमेरिका में रहने वाले, सक्सेसफुल लड़के-लड़कियां भी बहुत ज्यादा स्टीरियोटाइप्ड हैं।

क्या समस्याएं हैं इस शो में?

ये शो जो सोशल मीडिया पर ट्रेंड कर रहा है उसमें कई समस्याएं भी हैं। 8 एपिसोड हैं और लगभग सभी में कहीं न कहीं लड़कियों को ऑब्जेक्टिफाई किया गया है। लड़की गोरी है, लंबी है, बहुत ओपियनेटेड है इन सब बातों का इस्तेमाल किया गया है। मैं आपको बता दूं यहां जिन लड़कियों की बात हो रही है उनमें से कुछ अमेरिका में लॉयर हैं, कुछ बिजनेस चलाती हैं और अच्छा करियर है, लेकिन इन सब बातों के बाद भी उन्हें ऑब्जेक्टिफाई किया गया है।



शो में एक एपिसोड में लड़के की मां कहती है कि हमारे घर में जो बहू आनी चाहिए वो 5 फुट 3 इंच से ऊपर होनी चाहिए, घर के रीति रिवाज मानने चाहिए, शादी तो कॉम्प्रोमाइज होता है।

शादी को अगर आप पहले से ही कॉम्प्रोमाइज के हिसाब से देखेंगीं तो ये पहले से ही एक बंधन बन जाएगा। अगर आप इस शो को एंटरटेनमेंट के हिसाब से देखेंगी तो ये शायद आपको सही लगे। आखिर ये एक रिएलिटी शो है और इसलिए इसमें कुछ-कुछ बढ़ा-चढ़ाकर दिखाया गया है। शो में कुछ अच्छी बातें भी हैं जैसे आपको स्ट्रॉन्ग इंडिपेंडेंट लड़कियों का एक अलग पहलू देखने को मिलेगा, यही केस लड़कों के साथ भी है।

कुल मिलाकर अगर आप इसे सिर्फ रिएलिटी शो की तरह देखें तो इसमें कोई बुराई नहीं दिखेगी। इस शो को देखने के बाद अपनी घारणाएं बनाएं।

अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी हो तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।

Image Credit: Netflix