सिर की चोट हमारे शरीर को बहुत ही नुकसान पहुंचा सकती है। ऐसे में उस चोट की देखभाल करना और उसकी सही उपचार करना बेहद ही आवश्यक होता है। सिर, खोपड़ी, मस्तिष्क या फिर ब्रेन में चोट कई कारणों से लग सकती है जैसे-गिरना, फिसलना या फिर सड़क दुर्घटना। कई बार सिर में चोट लगती है, लेकिन उस समय हम ध्यान नहीं देते और बाद में उसी चोट में सूजन या दर्द आ जाती है। कभी-कभी चोट के बाद सिर बाहर से तो हमें ठीक दिखाई देता है, लेकिन ब्रेन के अंदर खून जमने लगता है जो बाद में ब्लड कैंसर या फिर कई अन्य बीमारी हो जाती है। अगर आपके भी सिर में चोट लगी है तो उसे अनदेखा ना करें और हमारे बताए गए इन पॉइंट्स पर ध्यान दें।

1-डॉक्टर की सलाह 

mind durning head injury inside

डॉक्टर की सलाह के बिना किसी भी चोट का उपचार करना मुर्खता है। जिस चोट या बीमारी के बारे में नहीं जानते उसका इलाज खुद से भूल के भी नहीं करना चाहिए। चोट मामूली हो या फिर गंभीर बिना डॉक्टर की सलाह के खुद कोई दवा नहीं लें। 

इसे भी पढ़ें: आपके दिमाग की बत्ती को हर उम्र में जला कर रखेंगे ये 5 फूड्स

2-मरीज को हिलाएं-डुलाएं नहीं

mind durning head injury ideas inside

सिर में चोट लगने वाले मरीज को अधिक हिलाएं नहीं, चाहें वो सिर में चोट लगा मरीज ही क्यों ना हो। मस्तिष्क में चोट लगने वाले मरीज को अधिक हिलाने से उसे सांसे लेने में परेशानी होती है और कभी-कभी अधिक ब्लीडिंग भी होने लगता है। (बॉडी में बिना चोट के बार-बार नील के निशान पड़ते हैं?)

Recommended Video

3-घाव को छुएं नहीं

tips to mind durning head injury inside

चोट लगने पर घाव को बार-बार छुएं नहीं। यदि घाव खुला है तो उसे साफ कपड़े से हल्का बांध लें और तुरंत किसी नजदीकी अस्पताल में जाएं। अगर सिर से खून बह रहा है तो उसे रोकने की हर संभव प्रयास करें।       

इसे भी पढ़ें: हल्दी को बनाइये अपना face guard जो दूर रखती है कील-मुंहासे  

mind durning head injury tips inside

4-ये अन्य उपाए भी करें

  • अगर मरीज को बेचैनी हो रही है तो उसके आसपास की जगह को थोड़ा खाली कर दीजिए। 
  • अगर उल्टी हो रही हो तो उसे सीधा खड़ा कर दें या फिर उसे आराम से एक करवट लेटा दीजिए।
  • अगर व्यक्ति बेहोश पड़ा है और सांस नहीं ले पा रहा है तो उसे मुंह से सांस भी दे सकते हैं।

सिर ऊपर से जितना कड़क और मजबूत दिखाई देता है अंदर से वो उतना ही नाजुक और कमजोर होता है। सिर के अंदर हजारों ऐसी छोटी-छोटी कोशिकाएं होती है जो बेहद ही सेंसेटिव होती है। कभी-कभी सिर की चोट नर्वस सिस्टम को बुरी तरह से डैमेज भी कर देती है। ऐसे में उसका सही उपचार और देखभाल करना बेहद ज़रूरी होता है। (देशी नुस्‍खा से दर्द हो जाएगा गायब)

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें, और इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़े रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit:(@newscientist.com,health.clevelandclinic.org,verywellfamily.com)