हिंदू धर्म में कई देवी-देवताओं की पूजा की जाती है। इनमें से धन की देवी माता लक्ष्‍मी का विशेष महत्‍व है। यदि देवी लक्ष्‍मी प्रसन्‍न हो जाएं तो व्‍यक्ति धनवान हो जाता है और अगर रूठ जाएं तो व्‍यक्ति पर आर्थिक संकट मंडराने लग जाता है। वास्‍तु शास्‍त्र और पुराणों में देवी लक्ष्‍मी को प्रसन्‍न करने के कई उपाय बताए गए हैं। उज्‍जैन के पंडित मनीष शर्मा बताते हैं, 'देवी लक्ष्‍मी को खुश करने के लिए जरूरी है कि आप उन चीजों का सम्‍मान करें, जिनमें वह वास करती हैं।'

तो चलिए पंडित जी से जानते हैं कि वह कौन सी चीजें हैं, जिनमें देवी लक्ष्‍मी का वास होता है। 

इसे जरूर पढ़ें: Friday Special:देवी लक्ष्‍मी के प्रिय ‘श्री यंत्र’ की पूजा करने के ये हैं खास नियम, जानें इसके लाभ

keep shankh  at  home to  invite  goddess  lakshmi

शंख 

हिंदू धर्म में शंख को विशेष महत्‍व दिया गया है। भगवान की पूजा करते समय शंख बजाने की परंपरा बरसों से चली आ रही है। धर्म के आधार पर शंख इसलिए भी महत्‍वपूर्ण है क्‍योंकि इसे जगतपिता भगवान नारायण धारण करते हैं। विष्‍णु पुराण में इस बात का भी उल्‍लेख मिलता है कि शंख में देवी लक्ष्‍मी का वास होता है। ऐसी मान्‍यता है कि समुद्र मंथन के लिए भगवान विष्‍णु ने कच्‍छप का अवतार लिया था। तब समुद्र मंथन से 14 रत्‍न प्राप्‍त हुए थे। सबसे आखिर में देवी लक्ष्‍मी भी समुद्र से ही अवतरित हुई थीं। समुद्र से एक शंख निकला था जिसके अंदर से देवी लक्ष्‍मी प्रकट हुई थीं। भगवान विष्‍णु ने तब देवी लक्ष्‍मी से विवाह कर शंख को धारण किया था। इसलिए घर में शंख जरूर रखना चाहिए। ध्‍यान रहे कि दक्षिणमुखी शंख ही घर पर रखें। यह शुभ होता है। 

 इसे जरूर पढ़ें: Vastu Tips: पैसों की तंगी दूर करने के लिए इस तरह इस्तेमाल करें ‘मोर पंख’

keep  broom  at  home to  invite  goddess  lakshmi

झाड़ू 

घर की साफ-साफई  में काम आने वाली झाड़ू का वास्‍तु शास्‍त्र में बहुत महत्‍व है। ऐसी मान्‍यता है कि झाड़ू में देवी लक्ष्‍मी का वास होता है। वास्‍तु शास्‍त्र में इस बात का भी उल्‍लेख मिलता है कि झाड़ू का न तो कभी अपमान करना चाहिए और न ही उसे कभी दान में देना चाहिए। यदि आप झाड़ू में पैर लगाते हैं या फिर उसे किसी को दान कर देते हैं तो इससे देवी लक्ष्‍मी आपसे रूठ सकती हैं, जिससे आप आर्थिक संकट में पड़ सकते हैं। अगर झाड़ू खराब हो गई  है और आप उसे बदलना चाहते हैं तो शनिवार के दिन ही आपको नई झाड़ू खरीदनी चाहिए। ऐसा करने से देवी लक्ष्‍मी प्रसन्‍न होती हैं। 

keep  tulsi  at  home to  invite  goddess  lakshmi

तुलसी 

तुलसी के पौधे को हिंदु धर्म में देवी की तरह पूजा जाता है। ऐसी मान्‍यता है कि भगवान विष्‍णु के अवतार श्री कृष्‍ण ही तुलसी को पृथ्‍वी पर लाए थे। बिना तुलसी की पत्‍ती के श्री कृष्‍ण भोग तक ग्रहण नहीं करते हैं। मान्‍यता है कि तुलसी में देवी लक्ष्‍मी का वास होता है। वास्‍तु के अनुसार तुलसी के पौधे को घर में पूर्व दिशा में लगाना चाहिए। अगर पूर्व दिशा में स्‍थान न मिले तो तुलसी के पौधे को घर में उत्‍तर दिशा में भी लगाया जा सकता है। ऐसा करने से आपके घर में हमेशा देवी लक्ष्‍मी का वास होगा। 

कमल का फूल 

देवी लक्ष्‍मी के चित्रों में वह हमेशा कमल के फूल पर बैठी नजर आती हैं। दरअसल, कमल का फूल देवी लक्ष्‍मी को अति प्रिय है। कमल के फूल में देवी लक्ष्‍मी का वास होता है। वास्‍तु शास्‍त्र के अनुसार अगर आप घर के मेन गेट पर एक कलश में पानी भर कर उसमें खिला हुआ कमल का फूल रख दें तो यह देवी लक्ष्‍मी को घर में निमंत्रण देने का तरीका होता है। इतना ही नहीं, अगर आप अपनी तिजोरी में कमल का फूल रख दें तो आपको धन की कभी कमी नहीं होगी। 

Recommended Video

पीपल का पेड़ 

पीपल का पेड़ भी हिंदू धर्म में देवतुल्‍य माना गया है। पीपल के पेड़ में कई देवताओं का वास होता है। साथ ही इस पेड़ में देवी लक्ष्‍मी भी वास करती हैं। ऐसी मान्‍यता है कि दिन के समय पीपल के पेड़ में देवी लक्ष्‍मी का वास होता है और रात के समय देवी लक्ष्‍मी की बहन अलक्ष्‍मी पीपल के पेड़ में वास करती हैं। इसलिए शास्‍त्रों में कहा गया है कि पीपल के पेड़ के समीप रात में नहीं जाना चाहिए। इतना ही नहीं, घर पर भी पीपल का पेड़ नहीं होना चाहिए। यह बहुत ही अशुभ माना गया है। घर में पीपल का पेड़ उग आए तो उसे विधि-विधान के साथ निकाल कर दूसरे स्‍थान पर लगा देना चाहिए। 

यदि आप भी देवी लक्ष्‍मी को प्रसन्‍न करना चाहती हैं तो ऊपर बताई गईं चीजों का सम्‍मान करें, इससे देवी लक्ष्‍मी प्रसन्‍न होती हैं। वास्‍तु और धर्म से जुड़ी और भी रोचक बातों को जानने के लिए पढ़ती रहें HerZindagi। 

 Image Credit: Freepik