हिंदू धर्म में कई तीज-त्‍यौहारों को महत्‍व दिया गया है। इनमें से कुछ पर्व ऐसे होते हैं, जिनमें महिलाएं अपने पति की लंबी उम्र के लिए कठिन व्रत रखती हैं। करवाचौथ का त्‍यौहार भी कुछ ऐसा ही है।

कार्तिक कृष्‍ण पक्ष में नवरात्रि और शरद पूर्णिमा के बाद पड़ने वाला करवाचौथ का त्‍यौहार महिलाओं के लिए बेहद खास होता है। इस त्‍यौहार को धूम-धाम से मनाने के लिए महिलाएं 10 दिन पहले से ही तैयारियां शुरू कर देती हैं। इस वर्ष करवाचौथ का त्‍यौहार 4 नवंबर को है। इस दिन महिलाएं अपने-अपने पतियों की लंबी उम्र के लिए चौथ माता का व्रत रखती हैं। इस दिन जितना महत्‍व व्रत का होता है, उतना ही महत्‍व चंद्रमा का भी होता है क्‍योंकि करवाचौथ के दिन महिलाएं रात में चांद की पूजा करने के बाद ही उपवास खोलती हैं।

इसलिए सभी महिलाओं में यह जानने का उत्‍साह होता है कि करवाचौथ के दिन चांद कब निकलेगा। तो चलिए उज्‍जैन के पंडित मनीष शर्मा से चांद निकलने का समय जानते हैं। साथ ही पंडित जी से यह भी जानते हैं कि करवाचौथ की पूजा करने का शुभ मुहूर्त और विधि क्‍या है।

इसे जरूर पढ़ें: Karwa Chauth 2020 Mehendi Designs: देखें 'दो बेल वाली मेहंदी' की लेटेस्‍ट डिजाइन

moon karwa chaith

पूजा का शुभ मुहूर्त और चांद निकलने का समय

चांद को अर्घ्‍य देने से पहले महिलाएं चौथ माता की कथा पढ़ती हैं और उनकी पूजा भी करती हैं। इस बार चौथ माता की पूजा करने का शुभ मुहूर्त पंडित जी ने शाम 5:34 से लेकर शाम 6:52 तक बताया है। वहीं इस बार चंद्रोदय का समय शाम 7:57 बजे है। मगर हर शहर में चंद्रमा अलग-अलग समय पर नजर आएगा। जागरण टीवी के अनुसार अलग-अलग शहर में चंद्रमा निकलने का समय कुछ इस प्रकार है-

दिल्‍ली: 8:16 PM

मुंबई : 8:52 PM

लखनऊ: 8:01 PM

कानपुर : 8:15 PM

गुरुग्राम : 8:13 PM

नोएडा: 8:13 PM

चिन्‍नई : 8:33 pm

बेंगलुरु : 8:44 pm

लुधियाना : 8:12 PM

चंडीगढ़: 8:09 PM

देहरादून : 8:05 PM

वाराणसी : 7:56 PM

पाटना : 7:47 PM

जम्‍मू : 8:11 PM

भोपाल : 8:24 PM

जयपुर : 8:2 PM

पुणे: 8:49 PM

अहमदाबाद : 8:44 pm

भुवनेश्‍वर : 7:55 pm

कोलकाता : 7:40 pm

प्रयागराज : 8:01 pm

मेरठ : 8:09 pm

अगरा : 8:12 pm

झांसी : 8:16 pm

मुजफ्फरपुर : 7:44 pm

शिमला : 8:06 pm

जोधपुर : 8: 35 pm

अजमेर : 8: 28 pm

सूरत : 8:47 pm

अंबाला : 21:21 pm

अमृतसर : 8:14 pm

इंदौर : 8:31 pm

रायपुर: 8:11 pm

राजकोट : 8:53 pm

दार्जिलिंग : 7:30 pm

हैदराबाद : 8:32 pm

कोयम्बटूर : 8:51 pm

इसे जरूर पढ़ें: karwa Chauth 2020: करवाचौथ की थाली खुद सजाने के 3 आसान तरीके

date kaewa chaith

करवा चौथ की पूजा विधि

  • करवा चौथ की पूजा करते समय आपको नए वस्‍त्र धारण करने चाहिए। आप लाल, गुलाबी, नीला, पीला आदि कोई भी रंग के वस्‍त्र पहन सकती हैं। मगर काले और सफेद रंग के कपड़े न पहनें।
  • पुजा के लिए एक जमीन पर चौक (गेहूं के आटे से बनी रंगोली) तैयार करें और उस पर सभी देवताओं की स्‍थापना करें और अपने दोनों करवों को वहां रख दें।
  • अब एक थाली में धूप, दीप, चंदन, रोली, सिंदूर और घी का दीपक रखें।
  • अब करवों को आपस में 7 बार बदलें। फिर नाक में पहनी नथ से जल गिराएं।
  • इसके बाद चंद्रमा निकलने पर उसे छलनी से देखें। चंद्रमा की आरती उतारें और उसे अर्घ्‍य दें।
  • इतना करने के बाद पति की आरती उतारें और फिर पति के हाथों से अन्‍न-जल ग्रहण करें।
  • इस विधि को पूरा करने के बाद आप अपना उपवास खोल सकती हैं।
 

सरगी का महत्‍व और समय

करवाचौथ के पर्व पर सरगी का भी अलग ही महत्‍व है। हर सास अपनी बहू को सरगी देती है। सरगी(इस तरह से सजाएं सरगी की थाली) में खाने-पीने के सामान के अलावा बहू के लिए नए कपड़े, गहने और सुहाग का सामान भी होता है। सरगी में मिले खाने के सामान को करवाचौथ के दिन सूर्योदय होने से पहले महिलाएं ग्रहण कर सकती हैं।

हरजिंदगी की ओर से सभी महिलाओं को करवाचौथ के त्‍यौहार की शुभकामनाएं। यदि आपको यह लेख अच्‍छा लगा हो तो इसे शेयर और लाइक जरूर करें। इसी तरह और भी आर्टिकल्‍स पढ़ने के लिए जुड़ी रहें हरजिंदगी से।

Image Credit: Freepik, Amazon