पिछले कुछ सालों से ऑनलाइन पेमेंट काफी तेजी से बढ़ी है। आजकल लगभग हर कोई मोबाइल वॉलेट या फिर UPI यानि यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस से किसी भी चीज के लिए पेमेंट झट से कर देते हैं। हालांकि, ऐसा नहीं है कि ऑनलाइन पेमेंट पहले नहीं होती थी, लेकिन जब से UPI मार्केट में आया है तब से ऑनलाइन भुगतान में तेजी देखी गई है। हर छोटी-बड़ी दुकानें आजकल अपने दुकान के सामने  UPI स्कैनर रखती हैं जहां लोग स्कैन करके आसानी से पेमेंट कर देते हैं। दूर-दराज शहरों में भी घर बैठे आसानी से यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस के माध्यम से आसानी से पेमेंट कर देते हैं।

लेकिन, जिस तेजी से ऑनलाइन UPI पेमेंट में बढ़ोतरी हुई है उस तेजी से इसमें फ्रॉड यानि धोखाधड़ी की भी बढ़ोतरी हुई है। आजकल दस में से तीन से चार ऐसे व्यक्ति मिल जाते हैं, जो शिकायत करते हैं कि किसी ने मेरा पैसे गलत तरीके से निकाल लिया या फिर चोरी कर लिया। डिजिटल लेनदेन जितना आसान है उतना ही इस पर सावधानी रखने की ज़रूरत है। तो चलिए जानते हैं UPI पेमेंट करते समय फ्रॉड से बचने के लिए कैसे अलर्ट रहना चाहिए-   

इसे भी पढ़ें: ऑनलाइन शॉपिंग से कैसे बचाएं पैसे, एक्सपर्ट से जानिए बचत करने के ये सीक्रेट टिप्स

गलत ऐप्स का इस्तेमाल करने से बचें

online fraud during upi payment inside

आजकल ऑनलाइन पेमेंट करने के लिए बाज़ार में हजारों ऐप्स आ चुके हैं। किसी भी एप्स को मोबाइल में डाउनलोड और इंस्टॉल करने से पहले आपको उस ऐप्स के बारे में पूरी जानकारी ज़रूर रखनी चाहिए। लोग बिना ऑथेंटिकेशन और वेरिफिकेशन के ऐप्स डाउनलोड कर लेते हैं जिसके चलते बाद में धोखाधड़ी का शिकार हो जाते हैं। जितना हो सके आप नेट बेकिंग के इस्तेमाल से ही किसी भी चीज के लिए पेमेंट करें।

ना करें क्लिक किसी भी पेमेंट लिंक को 

online fraud during upi payment inside

आजकल बाज़ार में एक नए तरीके से UPI पेमेंट में धोखाधड़ी के मामले में बढ़ोतरी हो रही है। लोग किसी भी पेमेंट के लिए लिंक पर क्लीक करके पेमेंट करने चले जाते हैं, और बाद में मालूम चलता है कि उनके खाते से किसी ने पैसा निकाल लिए हैं। उदहारण के लिए आजकल कोई किसी वेबसाइट्स के जरिए कोई सामान बेच रहा है और उस समान को खरीदने वाला बोलता है कि इस लिकं पर क्लिक कर दीजिये मैं आपको पेमेंट कर दूंगा। बेचने वाला जैसे ही उस लिंक पर क्लिक करता है चंद सेकंड में उसके खाते से पैसे गायब हो जाते हैं। इस तरह के खतरे से बचें। (ऑनलाइन होटल बुकिंग के फायदे)

Recommended Video

OTP भूल के भी ना करें शेयर 

online fraud during upi payment inside

ओटीपी शेयर किए बिना कोई भी लेनदेन पूरा नहीं हो सकता है, लेकिन हम कभी-कभी दूसरों के साथ ओटीपी शेयर कर देते हैं जिसके चलते फ्रॉड का शिकार हो जाते हैं। कोई भी बैंक किसी भी ग्राहक से ओटीपी नहीं मांगती है। अगर आपसे कोई बोले की मैं बैंक से बोल रहा हूं और आपको ओटीपी बताना है तो आप कभी भी उस व्यक्ति के साथ शेयर ना करें, क्यूंकि बैंक आपसे कोई भी ओटीपी नहीं मांगती। (बढ़ाना है बैंक बैलेंस, तो अपनाए ये तरीका)

इसे भी पढ़ें: ऑनलाइन शॉपिंग करते समय कहीं आप भी तो नहीं करते यह गलतियां

इस पर भी ध्यान दें 

online fraud during upi payment inside

  • जब भी आपसे कोई डेबिट कार्ड नंबर, एक्सपायरी डेट, रजिस्ट्रेशन, या ओटीपी डीटेल्स फ़ोन या किसी अन्य माध्यम में मांगे तो उसके साथ कतई शेयर ना करें।
  • मोबाइल या मेल में आए किसी भी लिंक को क्लिक करने से बचें।
  • UPI आइडी और पिन भूल के भी किसी के साथ शेयर ना करें।
  • वर्चुअल पेमेंट के दौरान पेमेंट करते समय किसी भी ऐप को डाउनलोड करने से बचें।

उम्मीद है इस खबर को पढ़ने के बाद आप UPI पेमेंट करते समय इस बातों का विशेष ध्यान ज़रूर देंगे। आपकी सावधानी ही आपको ऑनलाइन फ्रॉड से बचा सकती हैं।

अगर आपको यह स्टोरी अच्छी लगी हो तो इसे फेसबुक पर जरूर शेयर करें और इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।