चलती फिरती हुई आँखों से अज़ाँ देखी है।

मैं ने जन्नत तो नहीं देखी है माँ देखी है।।

मुनव्वर राना की ये लाइनें मां की महत्व को अच्छे तरीके से बताते हैं। वह जितना हमें ख्याल रखती है उतना इस दुनिया में कोई हमारा ख्याल नहीं रख सकता।  

बेटी ये खा ले... बेटी ये पहन ले... बेटी यहां चलते हैं.. बेटी आराम कर ले... 

ऐसी ही ना जाने क्या-क्या बातें बोल-बोलकर मां हमारे आगे-पीछे घूमते रहती है जबकि हम हैं कि उनकी बातों से इरिटेट होकर उन पर चिल्ला देते हैं। इस इरिटेशन का एहसास बड़े होने पर होता है जब हमारे साथ हमारी मम्मी नहीं होती हैं। 

"आज मैं अपने घर से दूर रह रही हूं। जब घर में थी तो मम्मी मेरे खाने-पीने का ख्याल हमेशा रखती थी। मैं जब भी बाहर से घर जाती थी तो मुझे खाने के लिए कुछ ना कुछ दे देती थी। लेकिन अब ऑफिस से घर जाकर सबकुछ खुद ही बनाना पड़ता है। कोई पूछने वाला नहीं होता है कि खाना खाया की नहीं...?

उस समय अहसास होता है कि मां, मां होती है और मां की जगह कोई नहीं ले सकती। भले ही कितनी भी चिकचिक करती हो लेकिन प्यार भी खूब करती है। उसकी हर बात में प्यार होता है। लेकिन क्या हमारी कही बातों में प्यार होता है?" 

सेचिएगा जरूर। 

क्योंकि आज हम इसी पर बात करने वाले हैं कि हमारी मां तो हमें हमेशा पैंपर करती हैं लेकिन मां को जब पैंपर किया जाए तो कैसे किया जाएगा? 

travel contest

अधिक जानकारी के लिए क्लिक करें इस लिंक पर: https://goo.gl/fgAA7j

समय बिताना

maa ka pyar pampering inside

अगर मां को पैपंर करना है तो उनके साथ समय बिताएं। 

आज किसी भी बच्चे के पास अपनी मां के साथ समय बिताने का टाइम नहीं है। कभी बच्चे पढ़ रहे होते हैं तो कभी दोस्तों के साथ खेल रहे होते हैं। लेकिन मां के साथ कुछ नहीं कर रहे होते हैं। ऐसे में कम से कम आज के दिन तो मां के साथ बिताएं। इसलिए भी मदर्स डे संडे को मनाया जाता है। इस दिन सबकी छुट्टी रहती है। तो कॉलेज और ऑफिस का कोई बहाना नहीं चेलगा। चुपचाप से अपने मां के साथ समय बिताएं और उनसे छोटी-छोटी बातों पर बात करें। 

हर दिन मिले गले

maa ka pyar pampering inside

मदर्स डे के दिन मां को जोर से जादू की झप्पी दें और खुद से प्रॉमिस करें कि आप हर दिन उन्हें कम से कम दिन में तीन बार जादू की झप्पी देंगी। क्योंकि मां को प्यार करने के लिए केवल एक दिन नहीं होना चाहिए। हर दिन मां को गले मिलें और उनसे बातें करें। 

शॉपिंग पर जाएं

maa ka pyar pampering inside

लड़कियों को शॉपिंग का बहुत शौक होता है। आपको भी होगा। कभी आपने सोचा है कि आपकी मां को भी शॉपिंग का शौक होगा...

आखिर में वह भी तो लड़की हैं। तो उन्हें भी तो शॉपिंग का शौक होगा ही। ऐसे में अपने दोस्तों के बजाय महीने में एक बार उनके साथ शॉपिंग पर जाएं। उन्हें बहुत अच्छा लगेगा और आपको भी मालूम हो जाएगा कि आपकी मां को क्या पसंद है। 

साथ में खाना बनाएं

maa ka pyar pampering inside

मां के साथ खाना बनाएं और उनसे हर छोटी-छोटी बातों के लिए पूछेँ। इससे आप दोनों एक-दूसरे की करीब आएंगी और आप अपनी मां से खाना बनाना भी सीख जाएंगी। इससे आप और आपकी मां को एक-दूसरे के साथ करीब आने का मौका मिल जाएगा और आपको भी मालूम हो जाएगा कि आपकी मां, केवल किचन में काम करने के दौरान कितनी ज्यादा मेहनत करती हैं। 

चॉकलेट या पंसदीदा चीज दें

maa ka pyar pampering inside

"मेरी मां को चॉकलेट बहुत पसंद है। लेकिन वह कभी बोलती नहीं हैं। सोचती हैं कि फालतू के पैसे खर्च होंगे।" 

ऐसी ही छोटी-छोटी चीजों का त्याग कर हमारी मां हमें बड़ा करती हैं। अब जा आप बड़ी हो गई हैं तो क्यों ना अपनी मां की इन छोटी-छोटी जरूरत को पूरा करें। 

तो मेरे तरफ से तो ये पांच टिप्स हैं जिन्हें फॉलो कर आप अपनी मां को पैंपर कर सकती हैं और उन्हें सबसे अच्छा मदर्स डे गिफ्ट दे सकती हैं। अगर आपकी कोई राय है तो हमें कमेंट कर बताएं।