भागदौड़ भरी जिंदगी, पैसे कमाने की होड़ और ऑफिस में काम का प्रेशर कहीं कहीं इंसान को एंग्जाइटी की ओर ले जाता है। वर्तमान समय में जितनी तेजी से रिलेशनशिप में उतार चढ़ाव आ रहा है वह भी तनाव का कारण बनता है। एक्सपर्ट्स कहते हैं कि इंटरव्यू या परीक्षा जैसी चीजों से पहले चिंता का अनुभव होना सामान्य बात है। इस तरह की चिंता कहीं न कहीं व्यक्ति को प्रगति की ओर ले जाती है। लेकिन ये चिंता किसी इंसान को बार बार या नियमित रूप से होने लगे तो एक बाद यह पैनिक अटैक का रूप ले लेती है। पैनिक अटैक एक दौरा होता है जो कई प्रकार का होता है। शरीर में कंपन, पसीना आना, दिल की धड़कन तेज होना, चक्कर आना, सांस लेने में कठिनाई होना और सिर के एक ओर हल्कापन महसूस होना आदि पैनिक अटैक के लक्षण हैं। गंभीर बात यह है कि पैनिक अटैक किसी व्यक्ति को कभी भी-कहीं भी आ सकता है। स्ट्रेस और तनाव के कारण वर्कप्लेस पर पैनिक अटैक आने की संभावना अधिक होती है। दुर्भाग्यवश अगर आपके साथ या आपके आसपास किसी के साथ ऐसा होता है तो आपको बचाव के तरीक पता होने चाहिए। आज इस आर्टिकल में हम आपको वर्कप्लेस में पैनिक अटैक आने के बाद बचाव की टिप्स बता रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: वर्किंग वूमेन 10 से 7 की शिफ्ट में इस तरह से खुद को रख सकती हैं फ्रेश

सांस पर ध्यान केंद्रित करें

how to handle  panic attacks at  workplace inside

पैनिक अटैक के दौरान सबसे आम लक्षण जो लोग अनुभव करते हैं, वह है अनियमित सांस लेना। पैनिक अटैक का दौरा पड़ने से पहले व्यक्ति की सांसें बहुत हल्की या बहुत तेज हो जाती हैं। कभी कभी व्यक्ति को सांस लेने में तकलीफ भी होती है। ऐसी परिस्थितियों में यह जरूरी है कि मरीज अपनी सांस पर ध्यान केंद्रित करें। इस दौरान मरीज को गहरी सांस लेने की कोशिश करने के साथ ही अपनी प्रत्येक सांस पर फोकस करना चाहिए। जब व्यक्ति गहरी सांसें लेने लगता है तो उसके हृदय की गति सामान्य हो जाती है और शरीर भी शिथिल हो जाता है। किसी भी स्थिति में चिंता महसूस न करें और शांत रहें।

सकारात्मक सोचें

how to handle  panic attacks at  workplace inside

पैनिक अटैक आने पर व्यक्ति को नकारात्मक विचारों से दूर रहना चाहिए। इस दौरान कुछ भी ऐसा न सोचें जिससे आपकी परेशानी और भी ज्यादा बढ़ जाए। दिमाग में नकारात्मक विचारों को रोकने के लिए अपनी मनपसंद किताब पढ़ें, फिल्म देखें या गानें सुनें। अगर आपको शॉपिंग करना पसंद है तो वह करें। डॉक्टर्स बताते हैं कि पैनिक अटैक के दौरान नकारात्मक विचार स्थिति को बिगाड़ने में बड़ी भूमिका निभाते हैं, इसलिए जितना हो सके इन्हें कंट्रोल करें।

इसे भी पढ़ें: अगर किसी की तारीफ करनी हैं तो 10 टिप्स अपनाएं

कार्यस्थल को तुरंत छोड़ दें

how to handle  panic attacks at  workplace inside

अगर आपको कार्यस्थल में पैनिक अटैक के लक्षण महसूस होते हैं तो घबराएं नहीं बल्कि आराम से अपने कार्यस्थल को छोड़ दें। पैनिक अटैक की शुरुआत में ही यह जरूरी है कि व्यक्ति को कम्फर्ट जोन दिया जाए। अगर आप ऑफिस में हैं और आपको लगता है कि थोड़ी देर के बाद बॉस आपसे सवाल-जवाब कर सकता है तो उससे पहले ही कार्यस्थल छोड़ कर घर चले जाएं। रास्ते में कोई दिक्कत न हो इसलिए अपने साथ पानी की बोतल और कुछ खाने का सामान जरूर रखें।