बैंगन एक ऐसा पौधा है जिसे घर पर लगाना बहुत ही आसान है। आप इसका पौधा बीज की सहायता से आसानी से अपने गार्डन में लगा सकते हैं लेकिन उसकी समय-समय पर देखभाल करना बहुत ही मुश्किल भरा काम है। क्योंकि जैसे-जैसे पौधा बड़ा होता है उसमें काफी सारी दिक्कतें, परेशानियां उत्पन्न हो जाती हैं। कुछ पौधों में कीड़े लग जाते हैं, तो कुछ पौधों की ग्रोथ नहीं होती और बैंगन ही नहीं आते हैं। 

अगर आपके बैंगन के पौधे में भी कीड़े लगने की समस्या उत्पन्न हो गई है। तो आज इस लेख में हम आपको बैंगन के पौधे को कीड़ों से बचाने के कुछ आसान टिप्स और ट्रिक्स साझा कर रहे हैं, जिन्हें आप फॉलो कर सकते हैं। लेकिन उससे पहले जानते हैं कि बैंगन के पौधे में कौन-कौन से रोग लग सकते हैं। 

बैंगन के पौधे में लगने वाले रोग 

soil for plants

बैंगन के पौधे में लगने वाले कीड़े अलग-अलग तरह के होते हैं, जो मुख्य तौर पर पौधे की ग्रोथ को प्रभावित करने का काम करते हैं। तो चलिए जानते हैं बैंगन के पौधे में कौन-से रोग लग सकते हैं। 

  • लाल अष्ट पदी मकड़ी रोग बैंगन के पौधे में लगने वाला प्रमुख रोग है। इसमें कीड़े पत्तियों का पूरा रस चूस लेते हैं, जिसकी वजह से पत्तियां मुड़कर गिर जाती हैं। 
  • सफेद मक्खियां भी पत्तियों का रस चूस लेती हैं और उन्हें नुकसान पहुंचाती हैं। यह मक्खियां विषाणु रोग भी फैलाती हैं। 
  • हड्डा भुंडी तांबे जैसे रंग की होती हैं, जो पत्तियों का हरा पदार्थ खा जाती हैं और उन्हें खोखला कर देती हैं।
  • तना व फल छेदक सुंडी भी बैंगन के पौधे में लगने वाला प्रमुख रोग है, जो बैंगन के अंदर जाकर उसे काना कर देती हैं।
  • हरा तेला रोग में हरे रंग के कीड़े होते हैं, जो पत्तियों की निचली सतह से रस चूसते हैं। इसकी वजह से पत्तियां पीली व कमजोर होकर गिरने लगती हैं। 
  • जैसिड भी एक तरह का प्लांट रोग है, यह भी मुख्य तौर पर पत्तियों का रस चूसते हैं।

पौधे को कीड़ों से बचाने के तरीके 

पौधे को कीड़ों से बचाने के लिए आप इन टिप्स को फॉलो कर सकते हैं। आप पत्तों के साथ या गमले में मौजूद मिट्टी के साथ कुछ प्रयास कर सकते हैं लेकिन क्या? तो चलिए जानते हैं.. 

पत्तों के साथ करें यह काम 

नीम की पत्तियों से बनाएं स्प्रे 

neem

अगर आप बैंगन के पौधे को कीड़ों से बचाना चाहते हैं, तो यह हैक आपके काम आ सकता है। इसके लिए, आप 250 ग्राम नीम की पत्तियों को 3 लीटर पानी में अच्छी तरह से पका लें। फिर एक स्प्रे बोतल में भरें और पत्तों पर छिड़कें। इसका नियमित रूप से इस्तेमाल करने पर पौधे को कीटों से छुटकारा मिल जाएगा। 

बेकिंग सोडे का करें उपयोग 

अगर आपके बैंगन के पौधे में सफेद कीड़े लग रहे हैं, तो आप उससे छुटकारा पाने के लिए बेकिंग सोडे का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए आप एक लीटर पानी में एक चुटकी बेकिंग सोडा और 2-3 बूंदें नीम के तेल की मिलाकर बैंगन की पत्तियों पर छिड़कें। कुछ ही दिनों में पौधे से कीड़ों की समस्या दूर हो जाएगी। 

हल्दी का करें इस्तेमाल

turmric for plants

जब आपके बैंगन के पौधे में कीड़े लग जाएं, तो आप हल्दी का पाउडर का इस्तेमाल करें। आप या तो हल्दी को मिट्टी में मिला दें या फिर आप पौधे की पत्तियों और जड़ों में हल्दी के पानी का छिड़काव करें। 

इसे ज़रूर पढ़ें- पौधों में डालें 'चावल का पानी', हमेशा रहेंगे हरे-भरे

मिट्टी के साथ करें यह काम 

पोषक तत्वों का रखें ध्यान 

soil in hindi

जब पौधे को सही पोषक तत्व नहीं मिलते, तो पत्ते सूखने लगते हैं और उन्हें कई तरह के रोग लग जाते हैं। इसलिए जरूरी है आप पौधों की सही तरह से देखरेख करें, ताकि पौधे सूखे नहीं और उन्हें सभी पोषक तत्व मिलते रहें। आप पोषक तत्व की कमी को दूर करने के लिए नीम खली का इस्तेमाल कर सकते हैं क्योंकि इसमें मैग्नीशियम-सल्फेट नाइट्रोजन, फास्फोरस और सल्फर आदि जैसे तत्व मौजूद होते हैं, जो कीड़ों को रोकने का काम करते हैं। 

बीजों को दें अच्छी शुरुआत 

seeds from brinjal plants

एक अच्छे प्लांट के लिए जरूरी है बीजों की ग्रोथ सही तरह से हो। अगर बीजों की ग्रोथ अच्छी तरह से नहीं होती, तो पौधे को कई दिक्कतें का सामना करना पड़ सकता है जैसे पत्ते सूख जाते हैं और उसमें फल, फूल ठीक से नहीं आ पाते। इसलिए, आप बीजों को एक बेहतर शुरुआत देने के लिए नीम खली का इस्तेमाल कर सकती हैं क्योंकि इसमें मौजूद मैग्नीशियम मिट्टी की कोशिका को मजबूत बनाता है और पौधे की वृद्धि के लिए ऊर्जा प्रदान करके बीज के अंकुरण को बढ़ाता है।

इसे ज़रूर पढ़ें-घर पर उगाया जा सकता है मशरूम, जानें ये सिंपल तरीका

इस तरह आप अपने बैंगन के पौधे को कीड़ों से बचा सकते हैं। आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेखपढ़ने के लिए जुड़े रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit- (@Freepik)