मानसून आते ही कीड़े-मकोड़े आने का खतरा बढ़ जाता है। साथ ही, इसका असर आपके होम गार्डेन पर भी देखने को मिल सकता है। होम गार्डेन में मौजूद पौधों को कीड़े-मकोड़े से बचाने के लिए देखभाल करना बहुत जरूरी है। वहीं मानसून में  कीड़े-मकोड़े के साथ-साथ कैटरपिलर (इल्ली) भी पौधों को अधिक नुकसान पहुंचाते हैं। ये पत्तियों, फूलों, फलों और पौधों के अन्य भाग को चबा जाते हैं, जिससे काफी नुकसान होता है। कैटरपिलर पत्तियों और फूलों की कलियों में छेद कर देते हैं। इससे बचने के लिए ज्यादातर लोग केमिकल युक्त पेस्टीसाइड इस्तेमाल करते हैं, लेकिन इससे पौधों को नुकसान पहुंच सकता हैं। ऐसे में अगर आप चाहे तो घरेलू तरीकों के जरिए कैटरपिलर से छुटकारा पा सकते हैं।  

आमतौर पर होम गार्डेन में फूल, पौधों के अलावा कुछ सब्जियों को उगाना महिलाएं अक्सर पसंद करती हैं। इन पौधों को कीड़े-मकोड़े या फिर कैटरपिलर से बचाना एक मुश्किल काम है। वहीं कैटरपिलर कई तरीके के होते हैं, कांटेदार या रोंयेदार वाले कैटरपिलर अगर आपको काट लें तो रैशेज हो सकते हैं। जिसकी वजह से व्यक्ति काफी वक्त तक खुजली, जलन जैसी समस्या से परेशान रहता है। इसलिए अगर आप अपने होम गार्डेन की सफाई कर रही हैं तो कैटरपिलर से सावधानी बरतें और उन्हें हाथ लगाने से पहले ग्लव्स पहनना न भूलें।

homemade remedies to protect your plants

कैटरपिलर से बचने के घरेलू तरीके

1-होम गार्डेन को कैटरपिलर से बचाने के लिए नीम का तेल इस्तेमाल करें। एक बॉटल में नीम के तेल को भर लें और उसे स्प्रे की तरह पौधों और पत्तों पर छिड़क दें। इस तरह आप उन्हें कैटरपिलर से बचा सकते हैं।
2- कभी-कभी आप साबुन से भी स्प्रे तैयार कर सकते हैं और इन्हें पत्तों पर छिड़कें। यह भी कैटरपिलर को भगाने के लिए उपयोगी साबित हो सकते हैं।

Recommended Video


3-अगर आप किसी पौधों पर कैटरपिलर देखते हैं तो उन्हें मारना ही बेहतर तरीका है। लेकिन इस बात का ख्याल रखें कि आपने अपने हाथों में ग्लव्स पहना हो।
4-कैटरपिलर को नियंत्रण करने के लिए लहसुन भी काफी फायदेमंद है। इसके लिए आप आधा कप लहसुन कुटा हुआ लें और उसे आधे लीटर पानी में मिलाकर करीबन 2 घंटे के लिए छोड़ दें। फिर इसे एक स्प्रे बॉटल में छानकर भर लें और पौधों पर स्प्रे करें।


5- समय-समय पर अपनी बगिया का निरीक्षण करते रहें ताकी किसी भी कीड़े-मकौड़े से पौधों को बचा सकें या फिर आसानी से नियंत्रण किया जा सकें।
6- घर पर इन्सेक्टीसायडल सोप स्प्रे तैयार करें। इसे बनाने के लिए दो चम्मच साबुन और एक कुआर्ट पानी को एक स्प्रे बॉटल में मिलाकर भर लें। एक बार अच्छी तरीके से मिल जाने के बाद उसे पौधों पर लगे कैटरपिलर पर छिड़कें। इस तरह यह मर जाएंगे।

इसे जरूर पढ़ें:  Kitchen Tips: टीवी एक्‍ट्रेस जूही परमार से जानें किचन को कैसे रखा जा सकता है 'Pest Free'

Kitchen garden


वहीं छोटे पौधों को कैटरपिलर से नुकसान होने का खतरा अधिक होता है। कैटरपिलर विकसित हो रहे पौधों को भी नुकसान पहुंचाते हैं और उन्हें बढ़ने से रोक देते हैं। ये कैटरपिलर अक्सर पत्तों में या फिर पत्तों के बीच छिपे होते हैं, ऐसे में उन्हें ढूढ़ना मुश्किल होता है। पौधों को अधिक नुकसान न पहुंचे इसके लिए किसी भी पौधों में छेद, जाल या मुरझाई हुई पत्तियां के जरिए कैटरपिलर का पता लगाया जा सकता है। वहीं अगर आप चाहे तो खराब हो चुके पत्तियों को तोड़ दें। यह आर्टिकल आपको कैसा लगा फेसबुक पर कमेंट कर जरूर बताएं। इस तरह की घरेलू तरीके जानने के लिए पढ़ती रहें हरजिंदगी।