अगर कुछ ऐसे वर्सेटाइल सिंगर्स की बात करें जो लगभग हर बीट का गाना बहुत ही रोमांचक तरीके से गा लेते हों और जिनकी आवाज़ कई दशकों से कई जनरेशन के लोगों को अपना दीवाना बना रही हो तो उनमें आशा भोसले का नाम जरूर आएगा। गुजरे जमाने के कुछ सुपरहिट गानों की आवाज़ आशा भोसले थीं। 'पर्दे में रहने दो, चुरा लिया है तुमने, उड़े जब-जब जुल्फें तेरी, रंगीला' जैसे कई गानें आशा भोसले के नाम हैं। काजोल पर फिलमाया गया गाना 'जरा सा झूम लूं मैं' हो या फिर उर्मिला पर फिलमाया गया 'रंगीला रे' गाना हो आशा भोसले के करियर में विविदता की कमी नहीं रही है। उनका जन्मदिन 8 सितंबर को होता है और इस मौके पर  उनकी जिंदगी से जुड़े कुछ अनोखे पहलुओं की बात आज हम करने जा रहे हैं। 

आशा भोसले का करियर जितना खूबसूरत रहा है उनकी निजी जिंदगी में उतने ही उतार चढ़ाव देखने को मिले हैं। आशा भोसले का स्ट्रगल उनके करियर में ही शुरू हो गया था जब उन्हें उनकी बहन से जोड़कर देखा जाता था। लता मंगेशकर यकीनन अपने समय की सबसे बड़ी फीमेल प्लेबैक सिंगर रही हैं और इसके कारण आशा भोसले की छवि उनके नीचे ही रही है। हालांकि, ये बात भी जान लेनी चाहिए कि आशा भोसले के नाम सबसे ज्यादा गाने रिकॉर्ड करने वाले आर्टिस्ट का गिनीज रिकॉर्ड है। 

asha and lata

इसे जरूर पढ़ें- 5 बॉलीवुड एकट्रेसेस और उनकी बहनें जो दिखती हैं उनकी हमशक्‍ल

16 की उम्र में की लव मैरिज-

आशा भोसले ने 16 की उम्र में ही वो काम किया था जिसके बारे में शायद उनके परिवार वालों ने सोचा भी नहीं था। उस समय वो आशा मंगेशकर थीं और उन्होंने अपने से 15 साल बड़े गणपत राव भोसले से शादी कर ली थी। गणपत राव लता मंगेशकर के सेक्रेटरी थे। ये शादी 1949 में हुई थी और आशा के परिवार वालों को ये रिश्ता बिलकुल मंजूर नहीं था। आशा और गणपत राव के बेटे हेमंत के जन्म के बाद ही मंगेशकर परिवार ने आशा को दोबारा अपनाया था। आशा और गणपत राव के 3 बच्चे थे हेमंत, आनंद और बेटी वर्षा। आशा भोसले को हमेशा पति और ससुराल वालों का दबाव झेलना पड़ता था। 

asha bhosle life stuggles

आशा ने शादी तो कर ली थी, लेकिन इस शादी की वजह से आशा और लता मंगेशकर के बीच दरार आ गई थी। जब दोनों बहनों में बात दोबारा शुरू हुई तो गणपत राव को ये पसंद नहीं था। इसका कारण था गणपत राव की जलन। आशा भोसले तीन बच्चों की मां थीं और लता मंगेशकर को पूरे भारत की सबसे अच्छी सिंगर माना जाता था। गणपत राव हमेशा अपनी पत्नी पर ज्यादा पैसे कमाने का दबाव डालते थे। उन्होंने आशा को लता मंगेशकर से मिलने से भी मना कर दिया था।  

1960 में गणपत राव ने आशा और अपने बच्चों को घर से निकाल दिया। कुछ रिपोर्ट्स के मुताबिक तब तक आशा के दो ही छोटे बच्चे थे और तीसरी बेटी उनके पेट में थी। इसके बाद आशा ने खुद पर फोकस किया और एक टॉक्सिक रिश्ते से बाहर आईं।  

आशा भोसले और आर.डी. बर्मन-

यहां सिर्फ आशा भोसले और बर्मन के मशहूर गानों की बात ही नहीं हो रही है बल्कि यहां बात हो रही है दोनों के रोमांस और शादी की। आर.डी. बर्मन अपने पिता एस डी बर्मन के साथ कई बार स्टूडियो आया करते थे। गणपत राव को छोड़ने के बाद आशा ने भी अपने करियर के सबसे हिट सॉन्ग्स में से कुछ गाए हैं। इसी दौरान राहुल देव बर्मन जिन्हें हम आर.डी. बर्मन के नाम से भी जानते हैं उन्होंने आशा भोसले को देखा और उनके फैन हो गए। उन्होंने आशा भोसले से ऑटोग्राफ भी मांगा था।  

asha and r d burman

1966 में आर.डी.बर्मन ने रीता पटेल से शादी की और 1971 में दोनों का तलाक हो गया। इसके बाद संगीत की इस जोड़ी ने एक साथ काम शुरू किया और बर्मन साहब को कब आशा जी से प्यार हो गया उन्हें पता ही नहीं चला। वो आशा भोसले से 6 साल छोटे थे और फिर भी उन्होंने आशा को प्रपोज किया। उस समय तक अपनी पहली शादी और तलाक का दंश झेल रहीं आशा जी को दोबारा घर नहीं बसाना था और उन्होंने मना कर दिया। पर काफी मनाने के बाद आखिर दोनों की शादी हो गई।  

ये दोनों कुछ समय तक साथ रहे, लेकिन आर.डी.बर्मन की सिगरेट और शराब की आदत के कारण दोनों के रिश्ते में दरार आ गई और दोनों अलग हो गए। हालांकि, दोनों का प्यार एक दूसरे के लिए बना रहा। आर.डी.बर्मन को जब हार्ट अटैक आया तब आशा जी ने उन्हें बहुत सपोर्ट किया। 1994 में एक दिन जब आशा जी बर्मन साहब के घर पहुंची तो घर खाली था। उसी दिन उनके पास एक फोन आया कि बर्मन साहब की तबियत खराब हो गई थी और आशा जी वहां पहुंचीं। 4 जनवरी 1994 को बर्मन साहब का देहांत हो गया। वो ऐसे इंसान थे जिन्होंने आशा जी को प्यार किया था।  

इसे जरूर पढ़ें- राज कपूर के अफेयर से लेकर नीतू के डर तक, जब ऋषि कपूर ने खोल दी बॉलीवुड की पोल 

Recommended Video

बेटी की आत्महत्या को झेला आशा जी ने- 

अक्टूबर 2012 को आशा भोसले की बेटी वर्षा भोसले ने अपने घर में सुसाइड कर लिया था। उस समय आशा और उनके बेटे हेमंत सिंगापुर में थे। वर्षा का 1998 में तलाक हो चुका था और रिपोर्ट्स की मानें तो उन्हें बहुत ज्यादा मूड स्विंग्स होते थे जो सिर्फ उनकी मां ही झेल पाती थीं। ऐसा माना जाता था कि वर्षा भोसले अपनी मां की पब्लिक इमेज के कारण भी परेशान रहती थीं।  

बेटे की हुई कैंसर से मौत- 

जहां बेटी वर्षा की मौत का गम आशा भोसले ने झेला था वहीं उनके बड़े बेटे हेमंत की भी स्कॉटलैंड में कैंसर की बीमारी के चलते मौत हो गई थी। हेमंत भी अपनी पत्नी से अलग हो चुके थे और आशा के साथ भी उनके रिश्ते कुछ समय से खराब चल रहे थे। 

जहां आशा भोसले और लता मंगेशकर की कोल्ड वॉर को लेकर भी बातें होती रही हैं वहीं आशा भोसले ने इतनी कठिनाइयों के बाद भी खुद को हमेशा संभाल कर रखा और आगे बढ़ती रहीं। आशा भोसले ने अपनी जिंदगी को वैसे ही जिया जैसे उन्हें सही लगा और वो लाखों लोगों के लिए प्रेरणा बनीं।  

आशा भोसले के जन्मदिन पर हम उन्हें बधाई देते हैं। अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी हो तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।