इंडियन म्यूजिक में अपनी एक अलग छाप छोड़ने वाले मशहूर संगीतकार आर डी बर्मन का संगीत खुद अपनी एक परिभाषा लिखता है। विलक्षण प्रतिभा का धनी एक ऐसा संगीतकार जो आज भी सभी के दिलों पर राज कर रहा है। आर डी बर्मन के गानों के बिना बॉलीवुड संगीत अधूरा है। आर डी बर्मन के बिना बॉलीवुड के गानों की कल्‍पना करना मुशकिल है। शायद इसलिए आर डी बर्मन को देश के सर्वश्रेष्ठ म्यूजिक कंपोजर के तौर पर जाना जाता है। फिल्म संगीत को अगर दो युगों में बांटा जाए तो एक युग आर डी बर्मन के पहले का होगा और दूसरा उनके बाद का। दोनों ही दौर के गानों को सुनने के बाद उनके धुनों में आए बदलाव को आसानी से पकड़ा जा सकता है। आर डी बर्मन एक ऐसे संगीतकार थे जिन्होंने फिल्म संगीत के मिजाज और व्याकरण को बदला और एक नया दौर शुरू किया। आज हम आपको बता रहे है पंचम के कुछ 10 सदाबहार रोमांटिक गानों के बारे में जिन्‍हें सुनकर आज की यंग जनरेशन का दिल भी धड़कता है।

इसे जरूर पढ़ें: Celeb Love Story: Divyanka Tripathi अपने पति विवेक के इस अंदाज पर हो गईं थी फिदा

आर डी बर्मन का पूरा नाम राहुल देव बर्मन था लेकिन वो पंचम के नाम से भी जाने जाते थें, पंचम उनका निकनेम था और प्‍यार से लोग उन्‍हें पंचम दा बुलाया करते थे। हिंदी फिल्म संगीत का चेहरा बदलने वाला अगर कोई संगीतकार था तो वो आर डी बर्मन ही थे। पंचम न सिर्फ अपने पिता एसडी बर्मन की छाया से बाहर निकले बल्कि सलिल चौधरी, कल्याणजी-आनंदजी, नौशाद और शंकर-जयकिशन जैसे संगीतकारों के बनाए रास्ते से अलग हटकर एक नया रास्‍ता बनाया। पंचम के गानों की खास बात ये रही की उन्‍होंने भारतीय संगीत और पश्चिमी संगीत का संतुलन बखूबी बनाया।

पूछो ना यार क्या हुआ, दिल का करा क्या हुआ

 

तुमसे मिल के ऐसा लगा तुमसे मिल के

पिता एसडी बर्मन बड़े संगीतकार थे और संगीत के क्षेत्र में पंचम की शुरुआती ट्रेनिंग अपने पिता की देखरेख में ही हुई और इसीलिए सीनियर बर्मन के मिजाज के हिंदुस्तानी क्लासिकल संगीत का असर उनके संगीत में दिखता है। लेकिन पंचम का झुकाव हमेशा से वेस्टर्न म्यूजिक ओर रहा और उन्होंने अपने समय के उन विदेशी संगीतकारों को खूब सुना जो वेस्टर्न संगीत के अलग-अगल फॉर्म्स में माहिर थे। रॉक बैंड्स से लेकर स्पेनिश, जैज, लैटिन म्यूजिक का पंचम ने गहराई से अध्ययन किया।

इसे जरूर पढ़ें: राधिका आप्टे हुईं थीं Bullying की शिकार, इस समस्या से बच्चों को ऐसे रखें सेफ

चुरा लिया है तुमने जो दिल को 

रिम झिम गिरे सावन

पंचम ने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत पिता एसडी बर्मन के सहायक के तौर पर की। तबला और संगीत का रियाज पंडित ब्रजेन बिश्वास के सानिध्‍य में किया और उस्ताद अली अकबर खान से सरोद सीखा। पंचम को माउथऑर्गन बजाना बहुत पसंद था और अपने पिता की संगीतबद्ध गाने ‘है अपना दिल तो आवारा’ में उन्‍होंने ही माउथऑर्गन बजाया था। आज हम आपको बता रहे है पंचम के कुछ 10 सदाबहार रोमांटिक गानों के बारे में जिन्‍हें सुनकर आज की यंग जनरेशन का दिल भी धड़कता है।

जाने जां ओ मेरी जाने जां

बांहों में चले आओ, हमसे सनम क्या परदा

आप की आंखों में कुछ महके हुए से ख्वाब हैं

ओ मेरे दिल के चैन

हमें तुमसे प्यार कितना ये हम नहीं जानते

क्या यही प्यार है, हां यही प्यार है

Photo courtesy- (The Hans India, SpotboyE, Pinterest, The Economic Times)