किसी रिश्ते को मजबूत व लास्ट लॉन्ग बनाने के लिए जरूरी है कि आपका अपने पार्टनर के साथ इमोशनल बॉन्ड मजबूत हो। एक रिलेशन में पार्टनर के साथ फिजिकल कनेक्शन बनाना भले ही आसान हो, लेकिन इमोशनल कनेक्शन इतना जल्द व आसान तरीकों से नहीं बनता। कई बार ऐसा भी होता है कि लड़की अपने पार्टनर को पसंद तो करती है, लेकिन उसके साथ उसे वह इमोशनल कनेक्शन महसूस ही नहीं होता और उन्हें यह समझ ही  नहीं आता कि ऐसा क्यों हो रहा है।

दरअसल, महिलाओं के मुकाबले पुरूष अपने रिश्ते को एक अलग नजरिए से देखते हैं। उनके पास भावनात्मक रूप से व्यक्त करने की क्षमता की कमी है। जब प्यार को अभिव्यक्त करने की बात आती है तो वह अपने कदम पीछे हटा लेते हैं। वहीं दूसरी ओर, लड़कियों को लड़कों का expression of love काफी अच्छा लगता  है, लेकिन अगर पुरूष ऐसा नहीं करता तो लड़की के लिए उससे इमोशनली कनेक्टेड होना काफी मुश्किल होता है। तो चलिए आज हम आपको ऐसे कुछ टिप्स बता रहे हैं, जिनकी मदद से आप अपने पार्टनर से इमोशनली कनेक्शन महसूस कर सकती हैं-

इसे भी पढ़ें: अगर शादी को बनाना है खुशहाल, तो विवाह से पहले जरूर करें कपल काउंसिलिंग

सब कुछ बताने के लिए मजबूर न करें

emotional connection relationship with partner Inside

यह सच है कि एक रिश्ते में पारदर्शिता होनी चाहिए, लेकिन इसका अर्थ यह नहीं है कि दोनों ही पार्टनर अपनी सारी बातें एक-दूसरे को बताएं। हालांकि कुछ लड़कियों की यह आदत होती है कि वह अपने पार्टनर की हर बात जानना चाहती हैं। जिसके कारण उनके बीच इमोशनल कनेक्शन क्रिएट नहीं हो पाता। जहां एक ओर पुरूष को यह लगता है कि उसका पर्सनल स्पेस उससे छिनता जा रहा है, वहीं दूसरी ओर जब पुरूष महिला को अपनी सारी बातें नहीं बताता तो इससे लड़की के मन में भी तरह-तरह के ख्याल आने लगते हैं। इसलिए अगर आप सच में चाहती हैं कि आपके और आपके पार्टनर के बीच में इमोशनल कनेक्शन बने, तो आप अपने पार्टनर को सब कुछ बताने के लिए मजबूर न करें। अपनी लाइफ में बढ़ती हुई दूरियों को नजदीकियों में कैसे बदले

Recommended Video


जरूरत पड़ने पर रहें तैयार

emotional connection relationship with partner Inside

एक रिलेशन में इमोशनल कनेक्शन तभी क्रिएट होता है, जब दोनों पार्टनर को यह लगता है कि वह एक-दूसरे के लिए हमेशा उपलब्ध है। इसलिए अगर रिश्ते में भावनात्मक जुड़ाव भी आपकी पहली प्राथमिकता है तो आपको भी इसके लिए पहल करनी होगी। आप अपने पार्टनर को यह विश्वास दिलाएं कि जब भी उसे आपकी जरूरत होगी तो आप उसके लिए अवेलेबल होंगी। साथ ही वह अपनी बात आपसे साझा कर सकता है। यहां तक कि आप भी अपने darkest secret उसके साथ शेयर करने के लिए रेडी है। इससे रिलेशन में एक विश्वास पैदा होता है और दोनों व्यक्ति एक-दूसरे के साथ इमोशनल बॉन्ड शेयर करने लग जाते हैं।

इसे भी पढ़ें: रिश्ते में अपनी उम्मीदों को realistic बनाने के लिए अपनाएं यह तरीके


ना करें ओवर-एनालाइज

emotional connection relationship with partner Inside

किसी भी रिश्ते में भावनात्मक जुड़ाव के लिए एक-दूसरे को अच्छी तरह जानना व समझना बेहद जरूरी होता है। लेकिन अगर आपका पार्टनर आपसे कुछ कहता है और आप उसे ओवर-एनालाइज करती हैं तो इससे कभी भी कनेक्शन नहीं बन पाता। अगर आप अपने पार्टनर के प्रति जजमेंटल होती हैं या फिर आप बातचीत के दौरान बीच में ही उसे काटकर अपनी बात कहने लग जाती हैं या फिर आप अपने फैसले उसे बताती हैं तो हो सकता है कि वह आपसे अपनी बातें और सीक्रेट शेयर ना करे। इस तरह, वह आपसे कभी भी अपनी बात नहीं कह पाएगा। 

Image Credit:(@all imgae freepik)