शादी किसी भी लड़की के जीवन का सबसे खूबसूरत सपना होता है। हर लड़की चाहती है कि शादी के बाद उसे अपने पार्टनर से बेहद प्यार मिले और उसके वह सभी सपने सच हों, जो वह अभी तक देखती आई है। लेकिन कई बार शादी के बाद ही रिश्ते में समस्याएं शुरू हो जाती हैं। यहां दिक्कत यह होती है कि दोनों ही व्यक्ति अपने-अपने स्थान पर सही होते हैं, बस वह एक-दूसरे के नजरिए को समझ नहीं पाते और इससे उनके रिश्ते में खींचातानी शुरू हो जाती है। इतना ही नहीं, कई बार तो लड़की को समझ ही नहीं आता कि आखिरकार उसके रिश्ते में समस्या कहां पर है और वह उसे किस तरह दूर कर सकती है।

आज के समय में जिस तलाक के मामले बढ़ रहे हैं, उसे देखते हुए रिश्तों में मजबूती व ठहराव बनाने के लिए अतिरिक्त मेहनत की जरूरत होती है और ऐसा ही एक कदम है कपल काउंसिलिंग। अमूमन देखने में आता है कि जब कपल्स के बीच परेशानी शुरू होती है, वह तभी काउंसिलिंग पर ध्यान देते हैं। लेकिन शादी से पहले काउंसिलिंग करना आपके रिश्ते के लिए कहीं अच्छा है और इसलिए हर कपल को आज के समय में शादी से पहले काउंसिलिंग जरूर करनी चाहिए। तो चलिए जानते हैं शादी से पहले काउंसिलिंग से क्या-क्या लाभ मिलते हैं-

इसे भी पढ़ें: यह छोटे-छोटे हैक्स बनाते हैं आपके रिश्ते को सक्सेसफुल

बेहतर कम्युनिकेशन

benefit of couple counselling before marriage inside

कम्युनिकेशन किसी भी रिश्ते को मजबूती देने के लिए और उसे सफल बनाने के लिए बेहद जरूरी है। लेकिन आमतौर पर देखा जाता है कि कपल के बीच कम्युनिकेशन तो होता है, लेकिन वह उतनी प्रभावी तरह से आपस में कम्युनिकेट नहीं कर पाते, जिसके कारण उनके बीच गलतफहमियां व अन्य कई तरह की समस्याएं पैदा होती है। लेकिन शादी से पहले काउंसिलिंग आप दोनों को एक-दूसरे को बेहतर तरीके से समझकर बातचीत के पुल को मजबूत बनाता है। ऐसे में शादी के बाद भी दोनों ही पार्टनर अपने जीवनसाथी के सामने आसानी से अपनी बात रख पाते हैं। सोशल मिडिया से कुछ इस तरह करें अपने रिलेशन को सिक्योर

Recommended Video

अतीत से बाहर निकलना

benefit of couple counselling before marriage inside

आमतौर पर व्यक्ति किस तरह व्यवहार करता है या फिर वह भविष्य में कैसा व्यवहार करेगा, यह काफी हद तक उसके अतीत के अनुभवों से जुड़ा होता है। कई बार व्यक्ति बचपन में देखता है कि उसके माता-पिता का वैवाहिक जीवन अच्छा नहीं रहा या फिर कभी-कभी व्यक्ति को स्वयं अपनी लव लाइफ में कई तरह के नेगेटिव एक्सपीरियंस रहते हैं। ऐसे में व्यक्ति भविष्य में अपने जीवनसाथी से भी सही तरह से व्यवहार नहीं कर पाता। लेकिन अगर शादी से पहले काउंसिलिंग की जाए तो इससे व्यक्ति को अपने अतीत अनुभवों से बाहर निकलने में मदद मिलती है। साथ ही वह एक अपने नए रिश्ते की शुरूआत पॉजिटिविटी के साथ करता है।

इसे भी पढ़ें: यह signs बताते हैं कि पार्टनर कर रहा है सिर्फ आपका इस्तेमाल

सच्चाई से रूबरू

benefit of couple counselling before marriage inside

शादी के कुछ समय बाद ही रिश्ते में परेशानी की एक मुख्य वजह यह होती है कि हम सभी एक आभासी जीवन को अपने मन में जीते हैं। शादी के बाद हमारा जीवन कितना सुखमय व खुशहाल होगा, हम केवल उसी के बारे में सोचते हैं। जीवन में होने वाले समझौते व परेशानियों की तरफ हमारा ध्यान ही नहीं जाता और जब शादी के बाद कपल्स को एडजस्टमेंट करने पड़ते हैं तो यह उन्हें अच्छा नहीं लगता। कई बार इस कारणवश रिश्ते में तनाव भी उत्पन्न होता है। लेकिन अगर आप शादी से पहले कपल काउंसिलिंग करती हैं तो इससे आप दोनों ही आंखों पर पड़ा हुआ सपनों का परदा उठ जाता है और फिर आप सिर्फ सपनों के साथ ही नहीं, बल्कि विवाह की सच्चाई को समझकर अपने कदम आगे बढ़ाती हैं। ऐसे में रिश्ते में परेशानियां आने की संभावना काफी हद तक कम हो जाती है। अपने रिलेशनशिप बॉन्ड को बनाना है मजबूत तो बॉयफ्रेंड की फैमिली से जरूर मिलें

Image Credit:(grace,squarespace,betterlyf)