कोरोना काल में जब से देश में स्कूल बंद हुए है, बच्चों की ऑनलाइन क्लॉस शुरू हो गई है, तब से बच्चों में गर्दन में दर्द, कमर में दर्द व अन्य कई तरह की शारीरिक समस्याएं देखी जा रही हैं। इसके पीछे का एक मुख्य कारण है बच्चों का गलत पॉश्चर में बैठना। दरअसल, लंबे समय तक बच्चों की ऑनलाइन क्लासेज चलती हैं, जिसके कारण उन्हें काफी देर तक बैठना पड़ता है और कई बार गलत पॉश्चर में बैठने के कारण ही उन्हें कई तरह की समस्याएं होने लगी हैं। हालांकि इन सबसे बचने का एक बेहतरीन तरीका है कि आप बच्चे को सही पॉश्चर में बैठना सिखाएं। जब आप बच्चे को सही पॉश्चर में बैठना व चलना आदि सिखाती हैं तो इससे उन्हें भविष्य में भी काफी लाभ होता है। अब सवाल यह उठता है कि बच्चों के बॉडी पॉश्चर को किस तरह सही किया जाए, क्योंकि हर समय तो आप उनके साथ नहीं बैठ सकतीं। ऐसे में आपको कुछ छोटे-छोटे कदम उठाने होंगे, ताकि बच्चों के पॉश्चर को सुधारा जा सके। तो चलिए आज हम आपको कुछ ऐसे ही आसान टिप्स बता रहे हैं-

स्टेबिलिटी बॉल का लें सहारा

child learn good body posture tips inside

अगर आप बच्चे को गुड पॉश्चर सिखाना चाहती हैं तो ऐसे में स्टेबिलिटी बॉल का सहारा लेना अच्छा रहेगा। इसके लिए बच्चा जब भी टीवी देखे या फिर कंप्यूटर पर गेम खेले तो आप उसे स्टेबिलिटी बॉल पर बैठने के लिए कहें। यह बॉल उसकी पीठ की मांसपेशियों को मजबूत करती है और रीढ़ की स्थिरता को बढ़ाती है। जिससे उसे गुड बॉडी पॉश्चर को मेंटेंन करने में मदद मिलती है।

इसे भी पढ़ें: Parenting Tips:इन आसान टिप्स की मदद से करें सिंगल चाइल्ड की बेहतरीन परवरिश

कुर्सी का जरूर करें इस्तेमाल

child learn good body posture inside

आमतौर पर देखने में आता है कि बच्चे ऑनलाइन क्लॉस लेते समय बिस्तर पर बैठ जाते हैं, लेकिन इससे उनका बॉडी पॉश्चर बिगड़ता है। इसलिए बेहतर होगा कि आप उन्हें टेलीविजन देखते समय या फिर ऑनलाइन क्लॉसेस लेते समय वह कुर्सी का इस्तेमाल करें। इसके अलावा, वे जिस कुर्सी का उपयोग करते हैं वह अच्छी तरह से डिज़ाइन की गई है और उनके आकार के अनुरूप है। उन्हें आराम से बैठने और अपनी बाहों, गर्दन और कंधों को आराम की स्थिति में रखने में सक्षम होना चाहिए।

Recommended Video

चेयर का साइज

child learn good body posture inside

अगर बच्चा कंप्यूटर या राइटिंग टेबल पर काम करता है तो आपको यह सुनिश्चित करना होगा कि कुर्सी का साइज और aligned सही हो। कुर्सी ऐसी होनी चाहिए, जिसकी बैक पर बच्चे को अपनी गर्दन व शोल्डर को आराम से रखने और काम करने में आसानी हो। चेयर पर बच्चे का पॉश्चर ना सिर्फ उसके काम बल्कि हेल्थ को भी काफी प्रभावित करता है। सीधा बैठने के दौरान उनकी कोहनी की ऊंचाई, टेबल की ऊंचाई पर होनी चाहिए। अपने कंधे की ऊंचाई पर टेबल को पोजिशन करना उसके लिए लिखना या ड्रा करना मुश्किल हो जाता है।

इसे भी पढ़ें: इन टिप्स को अपनाने के बाद किताबों से दूर नहीं भागेगा बच्चा


बैग का वजन

child learn good body posture inside

आमतौर पर जब बच्चे स्कूल जाने लगते हैं तो ऐसे में उनके बैग का वजन इतना ज्यादा हो जाता है कि उनका बॉडी पॉश्चर भी बिगड़ने लगता है। इस स्थिति में यह जरूरी है कि आप बच्चे के बैग के वजन को जरूर चेक करें। इसके अलावा, अगर बैग भारी है तो ऐसे में आप नार्मल स्कूल बैग की जगह आप rucksack bag का इस्तेमाल करें। (बच्चे के लिए स्कूल चुनने में छोटी बातों का रखें ध्यान) ऐसे बैग सामान्य स्कूल बैग की तुलना में अधिक आरामदायक हैं। साथ ही आप यह भी सुनिश्चित करें कि आप उन्हें एक कंधे पर बैग ले जाने न दें। जब एक कंधे पर वजन ज्यादा होता है तो इससे बच्चे का बॉडी पॉश्चर बिगड़ता है।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit:(@freepik)