आजकल दुनियाभर के बच्चे अपनी अलग-अलग जरूरतों लिए फोन का इस्तेमाल करते हैं। कुछ बच्‍चों को मोबाइल में गेम खेलने की आदत होती है। बच्‍चे गेम खेलने को लेकर इतने पागल होते हैं कि उन्‍हें समय का ध्‍यान नहीं रहता और वे लंबे समय तक इसमें उलझे रहते हैं। वहीं, कुछ बच्चे अपने दोस्तों से बातें करते रहते हैं। वैसे तो इंटरनेट बच्चों के लिए एक ज्ञान का खजाना है लेकिन स्मार्टफोन का ज्‍यादा इस्‍तेमाल करने से बच्चों पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है। इसलिए बच्‍चों को फोन के बुरे प्रभाव से बचाने के लिए आपको कुछ तरीके अपनाने होंगे, जिससे आप बच्चों की इस आदत को छुड़वा सकें। अगर आप बच्चों के ज्यादा फोन यूज करने से परेशान हैं तो अपनाएं यह तरीके। लेकिन उससे पहले जान लें बच्चों पर स्मार्टफोन या सेलफोन के हानिकारक प्रभावों के बारे में। मोबाइल के ज्‍यादा इस्‍तेमाल से कुछ बीमारियों के होने का खतरा बढ़ जाता है।

 children have a bad impact on phones inside

इसे जरूर पढ़ें: बच्चों को ऐसे डालें मास्क पहनने की आदत, Covid 19 से सुरक्षा के लिए जरूरी है ये कदम

  • मोबाइल से निकलने वाली विकिरणों से बच्‍चों में ट्यूमर होने का खतरा बढ़ जाता है। चूंकि, बच्चे उस उम्र में होते हैं जहां उनके शरीर में बदलाव और वृद्धि होती है और ऐसे में किरणों का प्रभाव उन पर बुरा पड़ता है।

Recommended Video

  • वहीं, ब्रेन एक्टिविटी में समस्‍या हो सकती है, क्‍योंकि फोन विद्युत चुम्बकीय तरंगों पर काम करता है, जिससे फोन से तरंगें बच्चों के मस्तिष्क के आंतरिक भागों में आसानी से प्रवेश कर जाती हैं।
  • बच्‍चों में चैटिंग या गेम खेलने की आदत दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही है, जिससे उनके शैक्षिक कार्यक्षमता (बच्चों में कैसे डालें e-learing की आदत) पर बुरा असर पड़ रहा है।

 children have a bad impact on phones inside

  • बच्चे गेम खेलने, दोस्तों से बात करने या सोशल मीडिया (कैसे बच्चों की स्टडीज नहीं होगी डिस्टर्ब) के माध्यम से ब्राऊज करने के चक्‍कर में देर रात तक जगे रह जाते हैं, जो उनमें थकान और बेचैनी का कारण बनता है।
  • बच्‍चों के मानसिक स्वास्थ्य पर भी मोबाइल का बुरा असर पड़ता है। कई बार सोशल मीडिया के जरिए बच्चे साइबर बुली के संपर्क में आ जाते हैं, जो उन्हें इंटरनेट पर परेशान करते हैं। साइबर बुली का शिकार होने वाले बच्चे मानसिक तनाव से गुजरते हैं। कई बार सोशल मीडिया डिप्रेशन का कारण भी बनता है।

अगर आपका बच्‍चा भी मोबाइल का जरूरत से ज्‍यादा इस्‍तेमाल करता है तो उसकी इस आदत को जल्‍द से जल्‍द छुड़ाना आपकी पहली प्राथमिकता होनी चाहिए। तो चलिए जान लेते हैं उन तरीकों के बारे में जिन्‍हें अपनाकर आप अपने बच्‍चे को मोबाइल की आदत से छुटकारा दिला सकती हैं।

 children have a bad impact on phones inside

बच्‍चों को हमेशा एक नियमित समय के लिए ही फोन दें

आजकल फोन हमारी जिंदगी का बहुत ही अहम हिस्सा हो गया है। आज के समय में बच्चों को फोन से दूर रखना काफी मुश्किल है। ऐसे में आप यह कर सकती हैं कि आप आप अपने बच्चे को इस्तेमाल करने के लिए कम से कम समय के लिए अपना फोन दें। आप उसे एक नियमित समय के लिए ही फोन का इस्‍तेमाल करने दें। पढ़ते समय, खाते समय या सोते समय बच्चे को फोन यूज बिल्कुल ना करने दें।

अपने फोन में पासवर्ड लगाकर रखें

अगर बच्‍चा आपका फोन इस्‍तेमाल करता है तो कई बार ऐसा होता है कि उसके फोन यूज करते समय आप उसके पास मौजूद नहीं रहती हैं। ऐसे में टेक्‍नोलॉजी की मदद लें और अपने फोन में पासवर्ड लगाकर रखें। जिससे आपकी गैर-मौजूदगी में बच्चा आपका फोन यूज नहीं कर सकेगा।

 children have a bad impact on phones inside

इसे जरूर पढ़ें: इन आसान टिप्स की मदद से बच्चे को सिखाएं शेयरिंग करना

बच्‍चों को वीडियो दिखाकर समझाएं

आप बच्चों को फोन के इस्तेमाल से होने वाले नुकसान के बारे में बताती रहें। उन्‍हें फोन से सेहत पर पड़ने वाले नुकसान के बारे में भी समझाएं। इसके लिए आप बच्चे को वीडियो दिखाकर यह बातें समझा सकती हैं और इस्तेमाल के हानिकारक प्रभावों के बारे में बता सकती हैं। अगर आपको ये जानकारी अच्छी लगी तो जुड़ी रहिए हमारे साथ। इस तरह की और जानकारी पाने के लिए पढ़ती रहिए हरजिंदगी।

Photo courtesy- (freepik.com)