भारतीय फिल्मों का इतिहास करीब 110 साल पुराना है। इस बीच इंडस्ट्री ने मदर इंडिया, मुगल-ए-आज़म, शोले, आंधी, गोलमाल, जाने भी दो यारो, मासूम, सारांश, गाइड और प्यासा जैसे कई बेहतरीन फिल्में बनी हैं। ये सभी फिल्में अपने आप में नायाब हैं। यह बेहद ही सामान्य बात है कि फिल्मों को बनने में समय लगता है। ऐसे में कई बार फिल्मों को बनने 6 महीने लगते हैं, तो कई बार 1-2 साल भी लग जाते हैं। लेकिन आपको यह जानकर हैरानी होगी कि बॉलीवुड की एक ऐसी फिल्म है, जिसे बनने में 1 या 2 साल नहीं बल्कि 23 साल लगें हैं। आइए जानते हैं इस फिल्म के बारे में।

लंव एंड गॉड फिल्म

love and god film

बॉलीवुड की लंव एंड गॉड फिल्म को बनने में करीब 23 साल लगे थे। बॉलीवुड में शायद ही कोई अन्य फिल्म होगी, जिसे बनने में इतने साल लगे हों। यह फिल्म 1986 में रिलीज हुई थी और इस फिल्म के निर्माता-निर्देशक के. आसिफ थे। के.आसिफ के द्वारा बनाई गई यह पहली कलर फिल्म थी जो उनके फिल्मी करियर की आखिरी फिल्म भी साबित हुई। ये फिल्म लैला-मजनू की पौराणिक प्रेम कहानी  पर आधारित थी। इस फिल्म में संजीव कुमार और निम्मी अहम भूमिका में थे। इस फिल्म में एक्ट्रेस निम्मी ने 'लैला' और संजीव कुमार ने 'मजनू का किरदार निभाया है। 

1963 में बननी शुरु हुई फिल्म

bollywood love and god film

जैसा कि इस फिल्म को बनने में 23 साल लग गए, लेकिन 1963 में इस फिल्म को बनाना शुरू कर दिया था। सबसे पहले इस फिल्म के लीड हीरो के लिए एक्टर गुरु दत्त को चुना गया था। लेकिन अगले साल ही 1964 में गुरु दत्त की मौत हो गई थी। इसी की वजह से यह फिल्म रोक दी गई थी। इसके बाद करीब 4 साल बाद 1970 में इस फिल्म के लीड रोल के लिए संजीव कुमार को चुना गया और फिल्म की शूंटिग शुरू कर दी गई। लेकिन फिल्म की शूटिंग शुरू होने के कुछ समय बाद ही निर्देशक के. आसिफ़ की तबियत खराब होने लगी और वे काफी समय तक बीमार भी रहें और फिर साल 1971 में उनका निधन हो गया। 

इसे भी पढ़ें: असल जिंदगी और सच्ची घटनाओं पर आधारित हैं बॉलीवुड की ये फिल्में, आप भी जानें

Recommended Video


15 साल बाद फिर शुरू की गई फिल्म की शूटिंग

film love and god tooke  years of making

हालांकि, निर्देशक के. आसिफ के निधन के बाद ऐसा लगा मानों जैसे अब यह फिल्म अधूरी ही रह जाएगी। क्योंकि जिस फिल्म की केवल 10 प्रतिशत शूटिंग में ही 8 साल लग गए सोचिए क्या वह बन भी पाएगी। लेकिन हुआ कुछ इसके विपरित निर्देशक के. आसिफ की पत्नी अख्तर आसिफ़ ने इस फिल्म को पूरा करने की सोची और उन्होनें  निर्माता-निर्देशक के. सी. बोकाडिया की मदद से इस अधूरी पड़ी फिल्म को पूरा करने की शुरुआत की। 

इसे भी पढ़ें: ये हैं साल 2021 की सबसे अंडररेटेड वेब सीरीज

1986 में हुई थी फिल्म रिलीज

निर्माता-निर्देशक के. सी. बोकाडिया की मदद से आखिरकार यह फिल्म 27 मई 1986 में रिलीज हुई। लेकिन फिल्म रिलीज होने से पहले ही इस फिल्म के कुछ कलाकारों का निधन हो चुका था। सबसे ज्यादा खुद की बात यह थी कि इस फिल्म के लीड एक्टर संजीव कुमार की इस फिल्म के रिलीज होने के साल पहले ही निधन हो गया था। इस फिल्म में संजीव कुमार और निम्मी के अलावा सिम्मी ग्रेवाल, प्राण, अमजद ख़ान, अचला सचदेव और ललिता पवार जैसे बेहतरीन कलाकारों ने अहम भूमिका निभाई है। 

 

उम्मीद है कि आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया होगा। इसी तरह के अन्य आर्टिकल पढ़ने के लिए हमें कमेंट कर जरूर बताएं और जुड़े रहें हमारी वेबसाइट हरजिंदगी के साथ। 

Image Credit: i.ytimg.com,media-amazon.com,wikimedia.org & media-images.mio.to