जब बच्चा दुनिया में आता है, तो एक मां के लिए इससे बड़ी बात कुछ नहीं होती। वह अपना पूरा समय, अपना जीवन बस उसकी देखभाल में लगा देती है। जब कोई लड़की मां बनती है तो उसके दिमाग में कई सवाल होते हैं जैसे वह किस तरह अपने बच्चे का खयाल रखे, उसे गर्माहट पहुंचाने के लिए क्या करे, क्या उसे बच्चे की मालिश करनी चाहिए और क्या-क्या अपने नवजात के लिए करना चाहिए। बच्चे की त्वचा बहुत नाजुक और कोमल होती है, उनके लिए कई बेबी केयर प्रोडक्ट्स मार्केट में उपलब्ध भी हैं, लेकिन इन्हें इस्तेमाल करने से पहले आप डॉक्टर से जरूर सलाह लें। शिशुओं की त्वचा कोमल और संवेदनशील होती है जिन्हें अतिरिक्त देखभाल और सुरक्षा की आवश्यकता होती है। उनपर किसी तरह की आर्टिफिशियल सेट का उपयोग न करें। कोशिश करें कि घर पर ही नैचुरल तरीके से उनकी त्वचा का खयला रखें। 

मालिश करें

body massage baby skincare

यह बहुत जरूरी है कि आपके बच्चे की उचित और नियमित मालिश हो। जब शरीर में अच्छी तरह मालिश की जाएगी, तो उससे शरीर में ब्लड सर्कुलेशन भी बेहतर होगा। इससे आपके बच्चे को अच्छी त्वचा मिलेगी। मसाज करने से बच्चों की मांसपेशियों की थकान मिटती है और उनके एक्टिव सेंसेज को आराम मिलता है जिससे वह अच्छी नींद भी ले पाते हैं। आप बच्चों की मालिश के लिए नारियल, बादाम या जैतून के तेल को चुन सकती हैं। इनसे उनकी त्वचा को पोषण मिलेगा और त्वचा, हाइड्रेट और मॉइस्चराइज़ रहेगी। मालिश से पहले तेल को हल्का गुनगुना कर लें, इससे बेहतर लाभ मिलेगा। तेल बच्चों के शरीर पर लगाने से पहले अपनी उंगलियों में लगाकर देखें कहीं तेल अधिक गर्म न हो

साफ-सफाई पर दें ध्यान

clean baby with wet wipes

छोटा बच्चा आपसे बातचीत नहीं कर सकता है, लेकिन वह अपने हाव-भाव से आपको बता सकता है कि उसे क्या खराब लग रहा है। अपने बच्चे को नियमित अंतराल पर वेट वाइप्स से साफ करें। उन्हें रोजाना नहलाने की बजाय हफ्ते में या ऑल्टरनेटिव दिनों में या फिर अपने डॉक्टर की सलाह पर ही नहलाएं। रोजाना उन्हें नहलाने से एसेंशियल ऑयल्स और पोषण को हटा सकता है। हालांकि जब भी उन्हें नहलाएं तो एक जेंटल केमिकल-फ्री क्लींजर या बेबी बॉडी वॉश चुनें, जो त्वचा को कोमल और स्वस्थ रखने में मदद करता हो। रोजाना उनकी सफाई करने से आपके बच्चों को किसी तरह का इंफेक्शन आदि नहीं होता। वह इससे फ्रेश रहेंगे और उन्हें अच्छी नींद भी आएगी।

इसे भी पढ़ें :जल्‍द ही मम्‍मी बनने वाली हैं तो जरूर अपनाएं ये 6 बेबी केयर टिप्‍स

मॉइश्चराइज जरूर करें

moisturize baby skin

नहलाने के बाद अपने बच्चे को मॉइश्चराइज जरूर करें। शिशुओं की त्वचा सेंसेटिव और ड्राई होती है, इसलिए कोशिश करें कि आप उनकी स्किन को दिन में दो बार मॉइश्चराइज करें। मॉइश्चराइजर लगाने से उनकी त्वचा का रूखापन, जलन, रैशेज आदि जैसी दिक्कतों आराम मिलेगा। ऐसे मॉइश्चराइजर को चुनें जो खासतौर से बच्चों की संवेदनशील त्वचा को देखते हुए बनाए गए हों। ऐसे उत्पादों को चुनें जो लंबे समय तक हाइड्रेशन और सुरक्षा प्रदान कर सकें। हो सके तो नैचुरल मॉइश्चराइजर का इस्तेमाल करें।

इसे भी पढ़ें :अपने नवजात शिशु की इस तरह करेंगी देखभाल तो वह हमेशा रहेगा सेहतमेंद

डायपर रैशेज का रखें ध्यान

diaper rashes

रैशेज आपके बच्चे और आप, दोनों के लिए परेशानी भरे हो सकते हैं। छोटे बच्चों को डायपर से जल्दी रैशेज हो जाते हैं, क्योंकि उनकी त्वचा बहुत कोमल और संवेदनशील होती है। इसलिए अपने बच्चे को कसकर या बहुत लंबे समय तक डायपर पहनाकर न रखें। डायपर से अगर रैशेज हो भी गए हों, तो उसे खुला रहने दें और उनकी त्वचा और जांघों को अच्छी तरह साफ करके कूलिंग इफेक्ट वाला पाउडर लगाएं। इससे उन्हें आराम मिलेगा।  बहुत देर तक उन्हें गीले डायपर में न रहने दें। रैशेज वाली जगह पर नारियल का तेल भी लगा सकती हैं। यह फंगल इफेक्शन होने से रोकता है और बच्चे की त्वचा को राहत पहुंचाता है। 

Recommended Video

आर्टिफिशल खूश्बू से रखें दूर

keep baby away artificial sent

बच्चा महकता रहे इसके लिए उसे आर्टिफिशल खूश्बू से नहला देना भी गलत है। इससे बच्चे को स्किन प्रोबल्मस हो सकती हैं। केमिकल युक्त ऐसे प्रोडक्ट्स बच्चों की नाजुक त्वचा को नुकसान पहुंचाते हैं और इनसे उनके शरीर में रेडनेस, रैशेज, दाने आदि हो सकते हैं। अपने बच्चे के लिए ऐसे प्रोडक्ट्स चुनें जो रसायन मुक्त हों और एकदम प्राकृतिक और ऑर्गेनिक हों। चाहे कोई प्रॉडक्ट कितना भी ब्रांडेड क्यों न हो, लेकिन बच्चों को उनसे एलर्जी हो सकती है।

इस चीजों को ध्यान में रखकर आप अपने नवजात शिशु की देखभाल कर सकती हैं। अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे लाइक और शेयर करें। ऐसे अन्य आर्टिकल पढ़ने के लिए जुड़ी रहें हरजिंदगी के साथ

Image Credit : freepik images