महावीर सिंह फोगाट की पहलवान बेटी गीता फोगाट को भला कौन नहीं जनता है। दुनिया में अपनी पहलवानी से अच्छे खासे खिलाड़ियों को धोबी पछाड़ चुकी गीता फोगाट अब किसी नाम की मोहताज नहीं है। भारत में महिला रेसलिंग को एक अलग पहचान दिलाने वाली जीता फोगाट आज रेसलिंग में उन्होंने पूरी दुनिया में भारत का नाम रोशन किया। हाल में ही गीता की बहन बबिता फोगत की शादी हुई है जिसमें वो काफी खुश दिख रही थी। आज गीता फोगाट का जन्मदिन है और आज हम आपको उनके बारें में कुछ ऐसे फैक्ट्स बता रहे हैं जो उनके बारे में आप नहीं जानती होंगी। तो चलिए जानते हैं गीता फोगाट के बारे में कुछ अनकही और अनसुनी कहानी के बारें में- 

इसे भी पढ़े:  7 नहीं 8 फेरे लेकर शादी के बंधन में बंधी बबीता फोगाट, बहन गीता फोगाट बेबी बंप फ्लॉन्‍ट करती दिखीं 

पहली अनसुनी कहानी-

 

क्या आपको मालूम है गीता फोगाट राष्ट्रमंडल खेल में पहला स्वर्ण पदक जितने वाली पहली महिला रेसलर है। जी हैं, दिल्ली में 2010 में राष्ट्रमंडल खेलों का आयोजन हुआ था जिसमें गीता ने स्वर्ण पदक जीतकर ने इतिहास रचा। गीता फोगाट गोल्ड मेडल जीतने वाली पहली भारतीय महिला पहलवान बनीं। उन्होंने 55 किग्रा वर्ग में यह उपलब्धि हासिल थी। उन्होंने ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी एमिली बेन्स्टेड को हराया था।

दूसरी अनसुनी कहानी-

important facts about geeta phogat inside

क्या आपको मालूम है राष्ट्रमंडल खेल में स्वर्ण पदक जितने से पहले गीता फोगाट कई अंतर्राष्ट्रीय टूर्नामेंट को जीतने में असफल रही थी। तकरीबन हर बड़े अंतर्राष्ट्रीय टूर्नामेंट में बड़े अंतर से हरी थी और उस समय गीता पूरी तरह से टूट गई थी। एक समय ऐसा था जब गीता खेल से दर गई थी लेकिन इन सबसे में गीता के पिता महावीर फोगाट ने मोर्चा संभाला। वर्ष 2010 में राष्ट्रमंडल खेल स्टार्ट होने से पहले पिता महावीर ने बेटी गीता को खूब मेहनत कराया और वो सब कुछ सिखया जो खेल गीता भूल चुकी थी, और जैसे ही राष्ट्रमंडल खेल स्टार्ट उन्होंने स्वर्ण पदक जीता।  

Recommended Video

तीसरी अनसुनी कहानी-

क्या आको मालूम है 2010 राष्ट्रमंडल खेल में स्वर्ण पदक जितने के बाद गीता ने कभी पीछे मुड़ के नहीं देखा? जी हां- कभी नहीं देखा। गीता फोगाट ने लंदन 2012 में आयोजित कुस्ती में भारत के लिए पहला पदक जीता। वही बाद में गीता ने अप्रैल 2012 में अलमाटी और कजाकिस्तान में आयोजित कुश्ती के एफएए एशियाई ओलंपिक योग्यता टूर्नामेंट में गोल्ड जीता। विश्व चैम्पियनशिप गीता ने उसी वर्ष विश्व चैम्पियनशिप में कांस्य पदक जीता, जिसने भारतीय महिला कुश्ती के इतिहास में एक नया मुकाम हासिल किया।

चौथी अनसुनी कहानी-

 

क्या आपको मालूम है गीता एक पुलिस अधिकारी भी है? जी हां, गीता फोगाट इस समय हरियाणा पुलिस में डीएसपी के रूप में कार्य करती है। आपको बता दे कि अंतर्राष्ट्रीय टूर्नामेंट और कई विश्व चैम्पियनशिप मैच जितने बाद हरियाणा सरकार ने उन्हें डीएसपी के रूप में नियुक्त किया। तत्कालीन मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने गीता फोगाट को ये पद दिया था। उनके खेलों को देखते हुए सरकार ने ऐसा किया था। 

इसे भी पढ़े: फोगाट बहनें हो गई है एशियाई गेम्स से बाहर, रेसलिंग फेडरेशन ने लगाया बैन

और पांचवी अनसुनी कहानी-

 

क्या आपको मालूम है गीता ने जिस व्यक्ति से शादी किया वो भी एक पहलवान ही है। गीता की शादी दिल्ली के पहलवान पवन कुमार से हुई है। वह 2014 के राष्ट्रमंडल खेलों में 86 किलोग्राम भार वर्ग में कांस्य पदक विजेता भी हैं। गीता ने 26 नवंबर 2016 में शादी किया था।