अगर आप अपने स्किल पर काम करें और उसी के मुताबिक अपना करियर चुनते हैं ऐसा हो नहीं सकता कि आपको सफलता न मिले। सफलता भी आपको तभी मिलती है, जब आप पूरे मन और जुनून से उसे करने की कोशिश करते हैं। ऐसा ही कुछ कर दिखाया है पुणे की रहने वाली मेघा बाफना ने, जो आज एक सफल उद्यमी हैं।

मेघा ने अपनी क्षमता और हुनर को पहचाना और अपनी नौकरी को छोड़ अपना खुद का बिजनेस करने की ठानी। आपको जानकर हैरानी होगी कि उन्होंने महज तीन हजार रुपये से अपना बिजनेस शुरू किया और कुछ ही समय में वह डेढ़ लाख रुपये कमाती हैं। उनके इस सफर को और उनके स्ट्रगल और सफलता की कहानी को आइए हम भी जानें।

साल 2017 में शुरू किया बिजनेस

megha bafna

आपको बता दें कि मेघा बाफना एक रियल एस्टेट सेक्टर में काम कर रही थीं। अक्सर वह अपने ऑफिस के लिए सलाद लेकर जाती थीं और सुबह-सुबह सलाद बनाने का प्रोसेस उन्हें अच्छा नहीं लगता है। उन्हें लगता था कि काश कोई उन्हें दिन में फ्रेश सलाद लाकर देदे। यही सोचकर उन्होंने इसे बिजनेस का रूप देने का सोचा।

उन्होंने पहले सलाद बनाकर वॉट्सऐप के जरिए अपने लेडीज ग्रुप में प्रचार शुरू किया। उन्हें सलाद तैयार करना और उसमें तरह-तरह के एक्सपेरिमेंट करना बेहद पसंद था, तो उन्होंने पहले इसे अपने दोस्तों और परिवारों को चखाया फिर वॉट्सऐप ग्रुप के जरिए उन्हें शुरब में 1-2 ऑर्डर मिल गए।

3500 रुपये में शुरू किया 'कीप गुड शेप'

megha bafna entrepreneur

मेघा ने अपने स्टार्टअप को नाम दिया, 'कीप गुड शेप' और उनका टैग लाइन है- 'योर हेल्थ इज आवर रिस्पांसिबिलिटी'! अपने स्टार्टअप में उन्होंने बहुत ज़्यादा इन्वेस्टमेंट नहीं की, क्योंकि उन्हें पता था कि वे अपनी जॉब के साथ ही इसे जारी रखेंगी। उन्होंने शुरू में, कुछ बर्तन जैसे प्रेशर कुकर, कंटेनर्स, पैकिंग बॉक्सेस के अलावा सलाद के लिए सब्ज़ियां, अलग-अलग तरह के ग्रेन्स और कुछ अन्य चीज़ों पर मात्र 3, 500 रुपये खर्च किए थे।

पहले कुछ समय अकेले संभाला बिजनेस

मेघा बाफना को पहले दिन ही 5 पैकेट का ऑर्डर मिला था। मेघा को तब सलाद की पैकेजिंग, डिलीवरी, क्वांटिटी की कोई समझ नहीं थी लेकिन मेघा को अपने सलाद के टेस्ट पर बहुत भरोसा था। रिपोर्ट के अनुसार, वो हर रोज सुबह 4:30 बजे से सलाद (डाइट पर हैं तो इन सलाद रेसिपी को जरूर करें ट्राई) के लिए फ्रेश मसाला तैयार करती थीं और उसके बाद बाजार में सब्जी लेने जाने से लेकर उसे काट कर तैयार करने और पैकिंग करने का काम अकेले ही करती थीं। सुबह साढ़े 9 बजे तक मेघा का सारी पैकिंग हो जाती थी उसके बाद अपने काम वाली बाई के बेटे के हाथों ऑर्डर पहुंचाने शुरू किया।

इसे भी पढ़ें :21 साल बाद पूरा हुआ इंतज़ार, हरनाज संधू बनीं मिस यूनिवर्स

22 तरह के होते हैं सलाद

types of salad

कुछ रिपोर्ट्स के अनुसार, मेघा अब दिन के 200 से ऊपर ऑर्डर तक पूरा कर रही हैं और उनके ऑर्डर बल्क में जाते हैं। आईटी सेक्टर, बीपीओ और हॉस्पिटल से जुड़े लोग उनके पास से ज्यादा ऑर्डर करते हैं। अभी करीब 20 लोग उनके साथ काम कर रहे हैं, जिनमें से कुछ डिलीवरी भी करते हैं। मेघा करीब 22 तरह की सलाद लोगों को खिला रही हैं, ऐसे में वह महीने में कभी भी मेन्यू रिपीट नहीं करती हैं। 

इतनी है कमाई

आज मेघा हर महीने मेघा सवा-डेढ़ लाख रुपये कमा रही हैं। सलाद की पैकिंग में भी मेघा ने अपने अनुभव से सीखा कि कैसे सलाद देर तक फ्रेश रहे। शुरुआत में उन्होंने सलाद की दो कीमत रखी थी, एक 59 रुपये थी और दूसरी 69 रुपये थी। इसके महज डेढ़ महीने बाद ही उन्हें अच्छा प्रॉफिट होने लगा। शुरुआत में महीने 5 से 7 हजार रुपये बचने लगे। लॉकडाउन के पहले तक मेघा के पास 200 कस्टमर थे और हर महीने मेघा 1 लाख रुपये सवा लाख कमा रही थी। 

इसे भी पढ़ें :जानें कौन हैं भारत की पहली जेम्स बॉन्ड रजनी पंडित, सुलझा चुकी हैं अब तक 80 हजार से ज्यादा केसेस

Recommended Video

फ्रेंचाइजी देने की है प्लानिंग

megha bafna planning to franchise

मेघा ने महज 5 सालों में अपने सलाद डिलीवरी के बिजनेस को उस बुलंदी पर पहुंचा दिया है कि वह इसे अब फ्रेंचाइजी देने की प्लानिंग कर रही हैं। मेघा ने एक लीडिंग साइट में इंटरव्यू में बताया था कि वह अपने सलाद में नए-नए फ्लेवर के साथ एक्सपेरिमेंट करती हैं और नयापन होने के कारण लोग सलाद काफी पसंद करते हैं (मिलिए उन महिलाओं से जिनके नाम रहा साल 2021)।

ये तो थी पुणे की मेघा बाफना, जिन्होंने अपने पैशन पूरा किया और कड़ी मेहनत के बाद आज उसे ऊंचाइयों पर पहुंचा दिया। आपको मेघा की कहानी पढ़कर कैसा लगा, हमें जरूर बताएं। ऐसी इंस्पायरिंग स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।

Image Credit: facebook