कहा जाता है कि किसी भी व्यक्ति सक्सेस के पीछे किसी न किसी का हाथ जरूर होता है। कुछ ऐसी ही बात सामने आयी जब हाल ही में मिस यूनिवर्स बनी हरनाज़ संधू ने अपनी सफलता का पूरा श्रेय अपनी मां रविंदर कौर संधू को दिया। वास्तव में किसी भी मां के लिए इससे ज्यादा गर्व की बात क्या हो सकती है कि उसकी बेटी को इतना बड़ा मुकाम मिले कि उसे पूरा देश ही नहीं बल्कि पूरा संसार जहां सके।

मिस यूनिवर्स बनी हरनाज संधू को भला कौन नहीं जानता है। लेकिन उनकी प्रेरणा मानी जाने वाली उनकी मां मां रविंदर कौर संधू के बारे में आप शायद ज्यादा नहीं जानते होंगे। आइए जानें कौन हैं हरनाज की मां रविंदर कौर संधू और उनके जीवन से जुड़ी कुछ ख़ास बातें। 

गयनेकोलॉजिस्ट हैं रविंदर कौर संधू

ravinder sandhu life story harnaaz

रविंदर कौर संधू पेशे से एक डॉक्टर हैं। उन्हें लोग रूबी संधू के नाम से भी जानते हैं। मुख्य रूप से वो सोहना हॉस्पिटल में एक स्त्री रोग विशेषज्ञ यानी गयनेकोलॉजिस्ट   हैं। मिस यूनिवर्स बनी हरनाज संधू ने कुछ दिनों पहले ही अपनी मां की कुछ वीडियोज इंस्टाग्राम पर शेयर की हैं जिसमें उन्होंने अपनी मां के साथ एक शो होस्ट किया है जिसमें वो लड़कियों से संबंधित कुछ समस्याओं के बारे में बात करती नजर आ रही हैं। इस शो का नाम 'हियर इट फ्रॉम मां' है। इस शो में रविंदर कौर बेटी से बात करती दिख रही हैं और लड़कियों के पीरियड्स से जुड़े कई सवालों के जवाब देती हुई दिख रही हैं। 

इसे भी पढ़ें:जानें हरनाज संधू के बारे में ये खास बातें

 
 
 
View this post on Instagram

A post shared by Harnaaz Kaur Sandhu (@harnaazsandhu_03)

रविंदर कौर संधू बेटी को देती हैं प्रेरणा 

ravinder kaur inspiration

चंडीगढ़ की हरनाज संधूने जब मिस यूनिवर्स का खिताब भारत की झोली में डाला तब ये पूरे देश के लिए गर्व का पल था। हरनाज अपनी मां रविंदर कौर को अपने जीवन में आगे बढ़ने की प्रेरणा मानती हैं और उनका मानना है कि उन्होंने इतना बड़ा मुकाम मां की प्रेरणा से ही हासिल किया है। हरनाज़ ने मिस यूनिवर्स का खिताब जीतने के बाद ये बात कही कि वह इस खिताब को जीतने के बाद गर्व महसूस कर रही हैं क्योंकि भारत को मिस यूनिवर्स का ताज मिले 21 साल हो गए हैं। उन्होंने यह भी कहा कि वो अपने परिवार के बहुत करीब हैं खासतौर पर अपनी मां रूबी संधू यानी रविंदर कौर संधू से प्रेरणा लेती हैं, जो एक  स्त्री रोग विशेषज्ञ हैं। हरनाज बताती हैं कि 'मां मेरी सबसे बड़ी प्रेरणा रही हैं, वह मेरे सपनों की निर्माता हैं और उन्हें हासिल करने की सीढ़ी भी हैं। मुझे पहले से ही आपकी याद आती है मां, आप जैसी हैं वैसी ही मजबूत रहें और मुझे और दूसरों को प्रेरित करती रहें।' हरनाज की इन बातों से पता चलता है कि उनकी मां अपनी बेटी के लिए सबसे बड़ी प्रेरणा स्रोत हैं। रविंदर कौर ने एक सफल स्त्री रोग विशेषज्ञ बनने और अपने परिवार का नेतृत्व करने के लिए पितृसत्ता की पीढ़ियों को तोड़ा है और बेटी के सपनों को पंख दिए। जिसकी वजह से आज उनकी बेटी ये मुकाम हासिल कर पाई। 

 
 
 
View this post on Instagram

A post shared by Harnaaz Kaur Sandhu (@harnaazsandhu_03)

बेटी हरनाज़ को करती हैं बेहद प्यार 

रविंदर कौर अपनी बेटी की जीत पर बहुत खुश नज़र आईं और उनका प्यार साफ़ उनकी आंखों में नजर आ रहा था।  ई टाइम्स के साथ एक इंटरव्यू में, मिस यूनिवर्स 2021 हरनाज़ कौर संधू की मां रूबी संधू ने अपनी बेटी की शानदार जीत पर अपनी भावनाओं को शेयर किया। रूबी संधू ने शेयर किया, 'अभी, मैं बहुत उत्साहित हूं और अपनी भावनाओं को व्यक्त नहीं कर सकती। उसकी भारी जीत के बाद मेरे रोंगटे खड़े हो रहे हैं। आप कह सकते हैं कि ये सब एक मां की भावनाएं हैं।' वास्तव में उनकी ये बातें बेटी के लिए उनके प्यार को दिखाता है। 

इसे भी पढ़ें:मिस यूनिवर्स हरनाज संधू के बारे में इंटरनेट पर ये सब सर्च कर रहे हैं लोग

Recommended Video


बेटी की जीत के लिए की प्रार्थना 

prayer for harnaz

अपनी बेटी की सफलता के लिए डॉ रविंदर कौर संधू सुबह 5:30 बजे अपने घर के पास गुरुद्वारे गईं और लगातार प्रार्थना करते हुए, रविंदर कौर ने उस समारोह को नहीं देखा जो इजराइल में आयोजित किया गया था और विश्व स्तर पर प्रसारित किया जा रहा था। उसने शेयर किया कि, उन्होंने समारोह नहीं देखा क्योंकि वो  गुरुद्वारे में प्रार्थना कर रही थीं। वो बस यही दुआ कर रही थीं कि हरनाज ताज जीत जाए और उन्होंने ये प्रार्थना की कि वो घर तभी जाएंगी जब उनकी बेटी को जीत हासिल होगी। जब हरनाज टॉप 3 में पहुंची तब वो काफी इमोशनल हो गई थीं। जब हरनाज जीती, तो वो एक बच्चे की तरह इमोशनल होकर रोने लगीं। उन्होंने बेटी की इस जीत के लिए भगवान का शुक्रिया अदा किया। वास्तव में एक मां का बेटी के लिए किया गया ये प्रयास उनके प्यार और मां बेटी के बीच की बॉन्डिंग को दिखाता है। 

वास्तव में समाज में रविंदर कौर जैसी महिलाएं प्रेरणा की स्रोत हैं जो रूढ़ियों को पीछे छोड़कर न सिर्फ खुद आगे बढ़ती हैं बल्कि अपनी बेटियों को भी समाज में आगे बढ़कर एक बड़ा मुकाम हासिल करने की शिक्षा देती हैं। 

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: instagram.com @harnaazsandhu_03