प्रेग्नेंसी में महिलाओं को कई तरह की तकलीफों से दो चार होना पड़ता है। इन तकलीफों में से एक तकलीफ मॉर्निंग सिकनेस है। प्रेग्‍नेंसी में बार-बार जी मिचलानेे या उल्टी आनेे को  मॉर्निंग सिकनेस के नाम से जाना जाता है। मॉर्निंग सिकनेस को प्रेग्‍नेंसी के सबसे आम लक्षणों में से एक माना जाता है। खराब पेट के कारण बहुत परेशानी होती है और ऐसा शरीर में प्रेग्‍नेंसी हार्मोन के लेवल के औसत से ज्‍यादा बढ़ने के कारण होता है। इससे अक्सर प्रेग्‍नेंसी में जी मिचलाना और उल्टी की भावना पैदा होती है।

फर्स्‍ट ट्राइमेस्‍टर

प्रेग्नेंसी केे फर्स्‍ट ट्राइमेस्‍टर के दौरान मॉर्निंग सिकनेस सबसे अधिक परेशानी का कारण बनता है। प्रेग्नेंसी हार्मोन एचसीजी आपके शरीर में इस बड़े बदलाव का कारण है। आपके पीरियड्स के 28 से 35 दिनों के बाद भी पीरियड्स का न होना, प्रेग्नेंसी का पहला लक्षण है और छठे हफ्ते में, मतली का होना इसकी पुष्टि करता है। यह असुविधा ज्यादातर महिलाओं को प्रेग्नेंसी के चौदहवें हफ्ते तक रहती है।

Morning sickness INSIDE

मॉर्निंग सिकनेस के लक्षण

  • मतली के कारण उल्‍टी होना 
  • सुबह के समय जी मिचलाना 
  • खाना खाने के बाद मतली या उल्टी होना
  • कुछ फूड्स को नापसंद करना

अन्‍य कारण

  • गर्मी की संवेदनशीलता, जो प्रेग्‍नेंसी हार्मोन के प्रति प्रतिक्रिया करती है।
  • पेट की संवेदनशीलता, आपको कार्सिक या सीस्टिक बनाती है।
  • भावनात्मक तनाव के कारण गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल समस्‍याओं का होना। 
  • मानसिक और शारीरिक थकान से मॉर्निंग सिकनेस होना। 
  • मॉर्निंग सिकनेस से थकान का बढ़ना।
pregnancy morning sickness inside

कुछ फूड्स को नापसंद करना

कुछ फूड्स की स्‍मैल कई प्रेग्‍नेंट महिलाओं में उल्टी का कारण बनती है। यहां तक कि प्रेग्‍नेंट को अपने फेवरेट फूड्स में से कुछ फूड्स से उल्‍टी का अहसास होने लगता है। लगातार उल्टी आपको कमजोर बनाती है और आपकी भूख को प्रभावित करती है।

Recommended Video

मॉर्निंग सिकनेस को कैसे कंट्रोल करें?

  • सुबह के समय जल्‍दी खाएं - रात भर की नींद के बाद खाली पेट मिचली आने लगेगी। 
  • रात को जल्दी सोएं - रात में पर्याप्त मात्रा में हेल्‍दी भोजन खाएं और बिस्तर पर जाएं।
  • हर थोड़ी-थोड़ी देर में खाएं - पूरे दिन में 6 छोटे-छोटे भोजन खाने की कोशिश करें। अपने पेट को खाली न होने दें।
  • लिक्विड के सेवन को बढ़ा दें- जूस, पानी, आदि लें।
  • तनाव से बचें।
  • अगर जरूरत हो तो पोषक तत्वों के सप्‍लीमेंट लें।

निष्कर्ष

प्रेग्‍नेंसी के दौरान मॉर्निंग सिकनेस की समस्‍या हर महिला को होती है। आप इसे केवल काफी हद तक कंट्रोल कर सकते हैं। अगर स्थिति मतली और उल्टी से ज्‍यादा बिगड़ती है तो अपने डॉक्‍टर से परामर्श लें। 

Dr. Pradnya Supe Agarwal (M.S. Obstetrics & Gynecology) को एक्‍सपर्ट सलाह के लिए विशेष धन्यवाद।

Reference

1.https://www.peacehealth.org/medical-topics/id/aa87816

2.https://www.healthline.com/health/sensitive-breast#menstruation

3.https://parenting.firstcry.com/articles/is-morning-sicknessvomiting-during-pregnancy-a-good-sign/

4.https://www.netdoctor.co.uk/parenting/pregnancy-birth/a26562/self-help-tips-for-dealing-with-morning-sickness/