बॉलीवुड एक्ट्रेस हुमा कुरैशी को अगर आप सोशल साइट्स पर फॉलो कर रहे होंगे तो आप जानते होंगे कि वो इन दिनों अपने लुक्स और अपने फिटनेस पर कितना ध्यान दे रही हैं। हेल्दी खाने से लेकर लगातार वर्कआउट करने तक हुमा सब कुछ कर रही हैं। हुमा का कहना है कि जब आप ठान लेते हैं कि आपको फिट रहना है, तभी आप वर्कआउट करना शुरू करते हैं इसलिए किसी और के बोलने से कुछ नहीं होता।

हुमा ने हमसे बातचीत के दौरान बताया कि वो नहीं जानती थीं कि हर खाने का अपना एक समय होता है। हमें सिर्फ ये पता है कि ब्रेकफास्ट, लंच और डिनर कब करना चाहिए मगर ऐसे बहुत से फ़ूड हैं जिसे खाने का एक सही समय होता है। आइए इस बारे में डिटेल में जानते हैं-

huma qureshi fitness tips inside

वर्कआउट करने के बाद एक घंटे में खा लीजिए अपना मील

हुमा ने बताया कि वर्कआउट करने से पहले हेल्दी चीज़ खाएं जिससे आपको ताकत मिले जैसे, रात भर पानी में भिगोए हुए बादाम या कोई भी ड्राय फ्रूट्स! प्रोटीन शेक्स भी बाज़ार में मिलते हैं, आप इसे भी पी सकते हैं। लेकिन याद रहे कि आपका meal वर्कआउट करने के बाद एक घंटे के अन्दर पूरा हो जाए। दरअसल, जब आप वर्कआउट करते हैं तो बॉडी एक्टिव मोड में होती है और इस वजह से पाचन शक्ति भी ऐक्टिव रहती है और फ़ैट आपकी बॉडी को नहीं लगता। मैं जब सुबह वर्कआउट करती हूं तो उसके तुरंत बाद ब्रेकफास्ट कर लेती हूं। कई बार समय ना मिलने पर मैं शाम को जिम जाती हूं तो भी इस बात का ध्यान ररखती हूं कि एक घंटे में मुझे अपना डिनर कर लेना चाहिए।

Read more: हुमा कुरैशी से सीखें कि कैसे फ्लॉर-लेंथ जैकेट गर्मियों के लिए है परफेक्ट

huma qureshi fitness tips inside

20 मिनट तक आराम से खाना खाएं

हुमा ने कहा कि हम अपनी लाइफ में बहुत बिज़ी हैं और सब कुछ फटाफट करना चाहते हैं मगर, मुझे हाल ही में यह बात पता चली है कि आपको अपने खाने को कम से कम 20 मिनट में ख़त्म करना चाहिए। बचपन में पेरेंट्स कहते थे कि चबा-चबा कर खाओ मगर धीरे-धीरे हम ये बात भूल गए और अब 10 मिनट में लंच या डिनर ख़त्म कर देते हैं जो बहुत गलत है। अगर आप आराम से चबाकर खाना खाएंगे तो इसे पचाने में आपकी बॉडी को आसानी होगी और आपका मेटाबोलिज़म भी बढ़ेगा।



हुमा ने बताया कि हर मील का अपना समय होता है। आपको सुबह 9 बजे तक अपना ब्रेकफास्ट कर लेना चाहिए। ग्यारह बजे से एक बजे के बीच में आपका लंच और रात को सात से आठ बजे तक अपना डिनर भी हो जाना चाहिए।

 

  • Shikha Sharma
  • Her Zindagi Editorial