आज लगभग सभी लोग फोन का इस्तेमाल करते हैं। किसी से कोई भी काम हो मिनटों में एक कॉल के जरिए आप उस व्यक्ति से जुड़ सकते हैं। कई बार कॉल करने समय हम गलती से 1 या 2 नंबर भूल जाते हैं, जिससे कॉल नहीं लगती और नंबर इनवैलिड बताता है। मतलब कॉल करने के लिए 10 डिजिट के नंबरों का होना जरूरी है। पर क्या आपने कभी सोचा कि आखिर क्यों देश भर में 10 संख्या के ही नंबरों का इस्तेमाल किया जाता है, क्यों कॉल करने के लिए 11 या 12 डिजिट के फोन नंबर नहीं आते।

आज के आर्टिकल में हम आपको इसके पीछे की वजह बताएंगे कि भारत में केवल 10 अंकों के नंबर का प्रयोग क्यों होता है। तो आइए जानते हैं कि आखिर इसका क्या कारण है।

एनएनपी है इसके पीछे का मुख्य कारण-

why india have  didgit phone number

भारत में 10 अंकों के मोबाइल नंबर होने का कारण इसके पीछे सरकार की राष्ट्रीय नंबरिंग योजना यानी एनएनपी को माना जाता है। आपको बता दें कि अगर मोबाइल नंबर एक डिजिट का होगा तो 0 से 9 के बीच में ही नंबर बन सकेंगे, जिससे केवल 10 नंबर ही तैयार हो पाएंगे। वही अगर 2 डिजिट के नंबरों का इस्तेमाल किया जाए तो मात्र 100 मोबाइल नंबर तैयार हो सकेंगे। जिससे ज्यादा लोगों को फोन नंबर नहीं मिल सकेंगे। वहीं न डिजिट से अनेकों नंबर तैयार किए जा सकते हैं, इस कारण भारत की सरकार ने 10 डिजिट के फोन नंबर निकालने के आदेश दिए हैं।

इसे भी पढे़ें- जागरूक उपभोक्ता बनना चाहते हैं तो जानिए अपने ये खास कंज्यूमर राइट्स

जनसंख्या भी है एक वजह- 

देश में 10 अंकों का मोबाइल नंबर होने के पीछे दूसरी वजह भारत की जनसंख्या भी है। देश की आबादी काफी ज्यादा है, जिस वजह से 1 या 2 डिजिट के नंबर केवल कुछ ही लोग इस्तेमाल कर पाएंगे, वहीं 9 डिजिट के नंबर से भी कुछ फोन नंबर ही तैयार किए जा सकते हैं। जबकि 10 अंकों के हिसाब से बड़ी आसानी से करोड़ों फोन नंबर तैयार किए जा सकते हैं, जिसके चलते देश की बड़ी आबादी को भी आसानी से नंबर बांटे जा सकते हैं। यह भी एक वजह है कि भारत में 10 डिजिट के फोन नंबरों का इस्तेमाल किया जाता है।

इसे भी पढ़ें- इन टिप्स और ट्रिक्स के साथ सुरक्षित करें अपना ट्विटर अकाउंट

पहले 9 डिजिट के नंबरों का इस्तेमाल होता था-

why you have  didgit phone number

बतां दे कि हमेशा से ही भारत में 10 डिजिट के मोबाइल नंबरों का चलन नहीं था। काफी समय पहले 9 डिजिट के नंबरों का इस्तेमाल किया जाता था। पर कई सालों में भारत की बढ़ती आबादी के चलते नंबरों की संख्या 9 डिजिट से हटाकर 10 डिजिट की कर दी गई।

Recommended Video

जल्द ही आ सकते है 11 डिजिट के नंबर- 

didgit phone number in india

दरअसल साल 2019 में यह खबर आई थी कि अब 10 की जगह 11 डिजिट के नंबर बाजार में उतरने वाले हैं, लेकिन ट्राई ने इन सभी बातों को खारिज कर दिया और इस तरह की खबरों को अफवाह बताया। पर ट्राई ने  भारत सरकार से यह सिफारिश जरूर की थी की देश में बढ़ते ग्राहकों के चलते हमें जल्द ही नई राष्ट्रीय नंबरिंग योजना शुरू करनी चाहिए, ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों को मोबाइल नंबर उपलब्ध कराए जा सकें। 

तो ये थे कुछ कारण जिनकी वजह से भारत में 10 डिजिट के फोन नंबरों का इस्तेमाल किया जाता है। आपको हमारा यह आर्टिकल अगर पसंद आया हो तो इसे लाइक और शेयर करें, साथ ही ऐसी जानकारियों के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी के साथ।

image credit- hansindia.com, newsseting.com, fox8.com, pcmag.com, globalcallforwarding.com