मौजूदा समय में इंटरनेट के बिना जीवन यापन करना बेहद ही मुश्किल है। एक तरह से इंटरनेट के बिना हर इंसान अंधा ही है। ऐसे में इंटरनेट का इस्तेमाल लैपटॉप, सिस्टम या फिर मोबाइल के ज़रिए न करने की कल्पना भी नहीं की जा सकती है। लेकिन, बढ़ते टेक्नोलॉजी के समांतर खतरे भी बहुत है। इंटरनेट के माध्यम से कभी लैपटॉप से डेटा की चोरी हो जाती है, तो कभी कोई मोबाइल हैक कर लेता है। आज के समय में मोबाइल में सभी लोगों की इंफॉर्मेशन होती है। अगर कोई मोबाइल को हैक कर लें तो आफत आ जाती है। ऐसे में हर किसी को अपने मोबाइल की सुरक्षा के प्रति सचेत रहना चाहिए। आज इस लेख में हम आपको कुछ टिप्स बताने जा रहे हैं, जिन्हें अपनाकर आप मोबाइल को हैक होने से बचा सकते हैं। तो आइए जानते हैं।

वेरीफाइड लिंक का करें इस्तेमाल

protect your mobile from hacking inside

अगर आपने ध्यान दिया होगा तो आपको ज्ञात होगा कि जैसे ही आप किसी पेज को मोबाइल में खोलते हैं, तो उस पेज पर कई सारे लिंक दिखाई देने लगते हैं। ऐसे में उस अज्ञात लिंक पर क्लिक करने के बाद पेज एकदम से ब्लैंक हो जाती है। इससे मोबाइल से डाटा चोरी और हैक होने का खरता अधिक बढ़ जाता है। ऐसा कई बार देखा गया है कि इन अज्ञात लिंक पर लुभावने ऑफर्स को देखकर लोग क्लीक कर देते हैं और बाद में मालूम चलता है कि मोबाइल हैक हो चूका है। इसलिए आप हमेशा वेरीफाइड लिंक को ही खोले।

इसे भी पढ़ें: सिस्टम या लैपटॉप का माउस हो गया है खराब, तो विंडोज Key करें इस्तेमाल, जानिए कैसे

कुकीज परमिशन न दें 

how to protect your mobile from hacking inside

आप जब भी मोबाइल में किसी एप्लीकेशन को इंस्टॉल करते हैं या फिर खोलते हैं, तो वो एप्लीकेशन आपसे परमिशन मांगता है कि क्या आप पेज से साथ कुकीज परमिशन देता चाहते हैं। ऐसे में इजाजत देते समय कई बार पासवर्ड या पिन कोड मंगाते हैं, जो खतरे की घंटी हो सकती है। कई बार तो ये एप्लीकेशन कुछ एक्स्ट्रा फाइल भी डाउनलोड करने के लिए बोते हैं, जिसके चलते मोबाइल में वायरस इंटर कर जाते हैं। ऐसे में कोई भी एप्लीकेशन या पेज खोलते समय ऐसे कुकीज का ज़रूर ध्यान रखें। (Whatsapp पर पढ़े जा सकते हैं डिलीट किए हुए मैसेज

फ्री वाईफाई का इस्तेमाल करने से बचें 

how to protect your mobile from hacking inside

इस पॉइंट पर एक कहावत है 'लालच बुरी बला है'। कहते हैं कि फ्री का सामान कुछ देर के लिए मज़ा तो देता है लेकिन, कुछ समय बाद सजा भी देता है। मोबाइल और हैकर की दुनिया में भी फ्री वाईफाई का मज़ा लेना कुछ ऐसा ही है। कई बार फ्री-वाईफाई के चक्कर में बिना सोचे समझे कभी कुछ तो कभी कुछ डाउनलोड करने लगते हैं या फिर अज्ञात लिंक पर भी क्लिक करने लगते हैं। ऐसे में मोबाइल हैक होने का चांस बढ़ जाता है। इसलिए आपको किसी भी फ्री वाईफाई का इस्तेमाल करने से हमेशा बचना चाहिए। (फोन खरीदते समय इन चार फीचर्स पर करें फोकस)

Recommended Video

इसे भी पढ़ें: अगर डिलीट करना है वॉट्सएप का सारा डेटा तो करें ये काम

मोबाइल के साथ एप्लीकेशन को करें अपडेट

protect your mobile from hacking inside

मोबाइल के साथ एप्लीकेशन को अपडेट न करने को लेकर भी कई बार देखा गया है कि मोबाइल से डाटा चोरी हो गई है या फिर किसी ने मोबाइल हैक कर लिया है। आपको बता दें कि कई बार मोबाइल या एप्लीकेशन इसलिए अपडेट करने के लिए होता है कि पुराने सिस्टम में जो भी तकनीकी खराबी हो उसे दूर किया जा सके। अगर समय के साथ इन्हें अपडेट नहीं किया जाता है, तो हैकर्स इसी का फायदा उठाकर आसानी से मोबाइल को हैक कर लेते हैं। मोबाइल और एप्लीकेशन को अपडेट करने के बाद हैक होने की संभावना कम हो जाती है।

इसका भी रखें ध्यान 

  • किसी दूसरे की पेन ड्राइव को मोबाइल में लगाने या इस्तेमाल करने से बचें।
  • मोबाइल में किसी एंटी वायरस का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। 
  • किसी अन्य मोबाइल से डाटा शेयर करने वक्त किसी विश्वसनीय एप्लीकेशन का ही इस्तेमाल करें।
  • फ़ोन या किसी भी एप्लीकेशन का पासवर्ड 3d ही रखें।

यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ। 

Image Credit:(@m-cdn.phonearena.com,localbangalore.com)