हर एक मौसम का अलग ही मज़ा होता है, लेकिन बदलते हुए मौसम में बीमारियों का खतरा भी कई गुना तक बढ़ जाता है। जितना हम सभी मौसमों से प्यार करते हैं, चाहे वह सर्दियों की ठंड हो, गर्मी की धूप हो, या बारिश की रिमझिम बौछारें हों,उतना ही हमारी छोटी से लापरवाही कई बीमारियों और इन्फेक्शन का भी कारण बन सकती है। हमारा बदलता हुआ लाइफस्टाइल और मौसम के हिसाब से अपनी डाइट का ध्यान न देना भी हमारे इम्यून सिस्टम को कमजोर कर सकता है।

आइए जानें हमारे द्वारा की गयी डाइट से जुड़ी कौन सी ऐसी गलतियां हैं जो हमारे प्रतिरक्षा तंत्र को कमजोर कर देती हैं जिससे बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है।    

पर्याप्त पानी न पीना

weather change diet ()

चूंकि मौसम थोड़ा ठंडा हो गया है इसलिए लोग पानी पीना कम कर देते हैं,जबकि गर्मी के मौसम में ज्यादा प्यास की अनुभूति होती है, इसलिए पानी की अधिक मात्रा ली जाती है। आपको यह सुनिश्चित करना होगा कि आप शरीर में पानी की कमी से बचने के लिए दिन भर में पर्याप्त मात्रा में पानी पिएं। शरीर में पानी की कमी आपको कमजोर बना सकती है और आपकी प्रतिरक्षा पर भी बुरा प्रभाव पड़ सकता है। चूंकि मौसम में थोड़ी ठंडक होने लगी है इसलिए अब ठंडे पानी के सेवन से बचें।

उपयोग से पहले सब्जियों की सफाई 

weather change diet ()

सर्दियों के मौसम में हरी सब्जियां भरपूर मात्रा में बाजार में आने लगती हैं और हरी सब्जियों को ठीक से साफ़ किये बिना ही पका लिया जाए तो ये कई तरह की बीमारियों का कारण भी बनती हैं। सब्जियों और नॉनवेज आइटम्स सभी को ठीक तरह से साफ़ करके ही इस्तेमाल में लाना चाहिए। कुछ सब्जियों जैसे टमाटर ,बैंगन को हल्के गरम पानी से धो सकती हैं।  

ठीक से पका हुआ भोजन न करना

weather change diet ()

वैसे तो हर चीज़ को डीप फ्राई करके इस्तेमाल करना भी स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है, लेकिन भोजन ठीक से पका हुआ होना चाहिए। आधा पका हुआ भोजन शरीर में कई तरह की बीमारियां पैदा कर सकता है, साथ ही इम्यूनिटी को भी कमजोर बनाता है। जहाँ तक हो सके बदलते मौसम में सलाद आदि के सेवन से बचें। 

नमक का सेवन अधिक मात्रा में करना 

weather change diet ()

बदलते मौसम में बहुत अधिक नमक का सेवन उच्च रक्तचाप और कमजोर प्रतिरक्षा तंत्र को जन्म दे सकता है। इसलिए उन खाद्य पदार्थों से बचें जो नमक में उच्च हैं। नमक में ज्यादा मात्रा में सोडियम पाया जाता है जो स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है। 

इसे जरूर पढ़ें  : काबुली चनों के इन ख़ास हेल्थ बेनिफिट्स के बारे में नहीं जानती होंगी आप

Recommended Video


नियमित अंतराल पर भोजन न करना

जब मौसम में बदलाव हो रहा है तब आपके लिए जरूरी है कि आप रेगुलर इंटरवल्स पर भोजन लें। ऐसे में बहुत देर तक खाली पेट रहना, या फिर एकदम से बहुत ज्यादा खाना खा लेना दोनों ही आपकी इम्यूनिटी को वीक कर सकता है। 

डाइट में पर्याप्त प्रोटीन न लेना 

weather change diet ()

प्रोटीन को अक्सर डाइट का मुख्य भाग माना जाता है। प्रोटीन हमारे प्रतिरक्षा तंत्र को मजबूत बनाए रखता है। प्रोटीन का भरपूर मात्रा में उपभोग कई तरह की बीमारियों से लड़ने में मदद करता है और जब हम कम मात्रा में प्रोटीन लेते हैं तब इम्यूनिटी वीक हो जाती है और बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। 

इसे जरूर पढ़ें  : World Sight Day 2020: आंखों की दृष्टि तेज रखने के लिए किन फूड्स को अपनी डाइट में शामिल करना जरूरी है

जंक फूड पर कटौती न करना

जंक फूड का अधिक सेवन पाचन तंत्र से संबंधित कई बीमारियों का कारण बन सकता है। बदलते मौसम में फ्लू का खतरा भी बढ़ जाता है खासतौर पर अक्टूबर व नवम्बर का समय पूरी तरह से फ्लू का समय होता है। इसलिए इस मौसम में फ्लू से बचने के लिए अपने प्रतिरक्षा तंत्र को मजबूत बनाने की जरूरत होती है। लेकिन जंक फ़ूड का ज्यादा सेवन फ्लू के खतरे को भी बढ़ा देता है।   

शर्करा का अधिक सेवन 

weather change diet ()

परिष्कृत चीनी को कई स्वास्थ्य समस्याओं के मूल कारणों में से एक माना जाता है। पेस्ट्री, कुकीज़, डोनट्स जैसे खाद्य पदार्थ व्यवहार से रक्त शर्करा के स्तर में उतार-चढ़ाव लाते हैं साथ ही बदलते मौसम में कई तरह की पाचन समबन्धी समस्याएं भी उत्पन्न करते हैं।अधिक शर्करा युक्त खाद्य पदार्थ हमारे शरीर के लिए कोई भी आवश्यक पोषक तत्त्व प्रदान नहीं करते हैं बल्कि धीर-धीरे पूरे प्रतिरक्षा तंत्र को कमजोर कर देते हैं। 

फलों का सेवन कम कर देना 

weather change diet ()

आमतौर पर देखा गया है कि लोग सर्दियों में फलों का सेवन काफी कम कर देते हैं। जिससे विभिन्न पोषक तत्वों से भरपूर फलों का कम या न के बराबर सेवन प्रतिरक्षा तंत्र को कमजोर बनाता है। फलों में मौजूद सभी तरह के विटामिन्स और एंटीऑक्सीडेंट्स इम्यूनिटी को स्ट्रांग बनाते हैं। 

उपर्युक्त सभी गलतियों को बदलते मौसम में दोहराने से बचें, जिससे आपका प्रतिरक्षा तंत्र मजबूत होगा, साथ ही आपका शरीर बीमारियों से लड़ने में सक्षम होगा। 

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: freepik