क्या आपको नोनी फल के बारे में पता है? अगर नहीं तो इसके बारे में आपको जानकारी जरूर होनी चाहिए। यह एक ऐसा फल है जिसके पत्तों और जड़ों का इस्तेमाल औषधी के रूप में किया जाता है। इसमें मौजूद एंटी-ऑक्सिडेंट, विटामिन सी, और पोटेशियम जैसे अन्य पोषक तत्व कई बीमारियों को दूर करने के लिए जाने जाते हैं। इसके अलावा यह फाइटोन्यूट्रिएंट्स का भी मुख्य स्त्रोत है, जिसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटी वायरल, और एंटी बैक्टीरियल यौगिक होते हैं। यह हमारी इम्यूनिटी को बढ़ाने के साथ-साथ डैमेज सेलुलर को रिपेयर करने का काम करते हैं।

प्राचीन समय में इसके फल, जड़ों या फिर पत्तों का इस्तेमाल घरेलू नुस्खे के तौर पर किया जाता था। वहीं आलू के आकार का नोनी अन्य फलों की तरह स्वादिष्ट नहीं होता है। आमतौर पर लोग इसका जूस बनाकर पीना पसंद करते हैं। जूस बनाने के अलावा इसके पत्तों का इस्तेमाल चाय बनाने के लिए भी किया जाता है।। वहीं जिन लोगों को ज्वाइंट पेन या फिर स्किन इंफेक्शन है वह भी नोनी के पत्तों को प्रभावित स्थान पर लगाते हैं। इससे उनकी बीमारी दूर हो जाती है। आइए जानते हैं इसके हेल्थ बेनिफिट्स

अर्थराइटिस की समस्या

noni fruit contains

बढ़ती उम्र के साथ ज्यादातर महिलाओं को अर्थराइटिस की समस्या होने लगती हैं। इससे होना वाला दर्द काफी असहनीय होता है। एनाल्जेसिक गुण होने की वजह से यह नोनी फल इस दर्द को कम करने में सहायक होते हैं। इसके लिए आप चाहें तो अपनी डाइट में नोनी जूस को शामिल कर सकती हैं। वहीं अगर आपको इससे किसी तरह की समस्या है तो डॉक्टर से परामर्श लें सकती हैं।

स्किन को मॉइस्चराइज करें

noni fruit benefits for skin

नोनी फल में एंटीऑक्सिडेंट अधिक मात्रा में पाया जाता है, ऐसे में यह आपकी त्वचा को हेल्दी बनाए रखने के अलावा स्किन को मॉइस्चराइज भी करेगा। इसके लिए आप चाहें तो इसके जूस को अपने स्किन केयर रूटीन में शामिल कर सकती हैं। डैमेज स्किन को रिपेयर करने के लिए यह एक बेस्ट तरीका है। इसके अलावा यह ड्राई, पैची स्किन जैसी समस्याओं को भी दूर करेगा।

इम्यूनिटी बूस्ट करें

noni fruit content

स्ट्रांग इम्यूनिटी आपको लंबे वक्त तक सेहतमंद रख सकती है। कोरोना काल में इम्यूनिटी बूस्ट करने पर बहुत जोर दिया गया था। ऐसे में लोगों ने कई ऐसी चीजों का सेवन करना शुरू कर दिया था, जो इम्यूनिटी को स्ट्रांग करता है। वहीं नोनी के जूस में भी इम्यूनिटी स्ट्रांग करने की क्षमता होती है, क्योंकि इसमें एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-इंफ्लामेटरी, और एंटी फंगल जैसे गुण होते हैं जो इम्यूनिटी को बूस्ट करने का काम करते हैं।

इसे भी पढ़ें:सेहत के लिए बेहद की फायदेमंद है मंजिष्ठा का इस्तेमाल, जानिए कैसे

तनाव को करें कम

noni fruit details

नोनी जूस तनाव को मैनेज करने में मदद करता है और उसके प्रभाव को कम करने का भी काम करता है। हालांकि सिर्फ जूस से ही नहीं बल्कि आपको डाइट के अलावा भी कई ऐसी चीजों को करने की आवश्यकता है। डाइट में नोनी फल को शामिल करने के अलावा रोजाना मेडिटेशन और योगा के जरिए भी आप तनाव को न सिर्फ कम कर सकेंगीं बल्कि इसे बैलेंस भी कर सकते हैं।

Recommended Video

स्कैल्प में होने वाली खुजली

noni fruit extract

कई बार सर्दियों के अलावा गर्मियों में भी स्कैल्प में खुजली की समस्या होती रहती है। महिलाएँ हेयर पैक लगाने के अलावा कई ऐसे कॉस्मैटिक प्रोडक्ट्स का भी इस्तेमाल करते हैं। इसके बावजूद समस्या दूर होने का नाम नहीं लेती है। ऐसे में नोनी फल का सेवन करना आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकता है। इसमें एंटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल गुण इस समस्या से राहत दिला सकते हैं। इसके लिए नोनी फल के जूस से स्कैल्प की मसाज करें।

इसे भी पढ़ेंजानें सूखी या ताजी अदरक में से क्या है ज्यादा फायदेमंद और कैसें करें इनका इस्तेमाल

एनर्जी बूस्ट करें

boost energy

लगातार काम करने की वजह से अक्सर कमजोरी का एहसास होता है। इसके लिए डाइट में क्या खाएँ और क्या नहीं इसका खास ख्याल रखना पड़ता है। वहीं नोनी फल एनर्जी लेवल को बढ़ाता है और समग्र शारीरिक प्रदर्शन में सुधार करता है। आप चाहें तो जूस या फिर चाय के रूप में नोनी का उपयोग कर सकती हैं।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।