सुहागिन महिलाओं के लिए हरतालिका तीज खास व्रतों में से एक है। हिन्‍दू पंचांग के अनुसार हरतालिका व्रत हर साल भादो माह की शुक्‍ल पक्ष तृतीया को मनाया जाता है। महिलाएं यह व्रत पति की लंबी उम्र और मंगल कामना के लिए रखती है। इस दौरान महिलाएं निर्जला व्रत रखकर माता गौरी और भगवान भोले नाथ की आराधना करती हैं। लेकिन गर्भवती महिलाओं को इस व्रत को रखने से पहले अतिरिक्त सावधानी बरतनी चाहिए। गर्भवती महिलाओं को गलती से भी निर्जला उपवास नहीं रखना चाहिए। अगर आप गर्भवती हैं तो हम आपको बता रहे है कि आपको कैसे व्रत रखना है और कौन से नियमों का पालन करना है और कौन से नियमों का पालन नहीं करना है। इन खास सावधानियों को बरतने की भी जरूरत है।

hartalika teej pregnant lady should take care of these things while fasting inside

इसे जरूर पढ़ें: गणेश चतुर्थी स्पेशल : कनिपकम गणेश मंदिर के बारे में जानें 3 दिलचस्प बातें

  • अगर आप प्रेगनेंट हैं तो गलती से भी भूखे पेट और निर्जला व्रत ना रखें, क्‍योंकि आप जो कुछ भी खाती है उससे अंदर पल रहे शिशु को भी पोषण मिलता है। इसलिए आपके भूखे रहने से शिशु के विकास पर बुरा असर पड़ सकता है।
  • व्रत के दौरान कोशिश करें कि ज्यादा लंबे समय तक भूखा ना रहना पड़ें, इसलिए बीच-बीच में कुछ खाती रहें। चूंकि व्रत रख रही हैं इसलिए फलाहार करें, साथ ही जूस और पर्याप्त मात्रा में पानी भी पीएं, ताकि शरीर में पानी की कमी ना हो।
  • उपवास के दिन शरीर को जरूरी पोषण मिलता रहे, इसके लिए बीच-बीच में ड्राई फ्रूट्स जरूर खाते रहें, लेकिन इसे सीमित मात्रा में ही खाएं, क्‍योंकि ज्यादा नट्स खाने से दिक्कत हो सकती है।

hartalika teej  pregnant lady should take care of things while fasting inside

  • उपवास में ज्यादा मीठी चीजे ना खाएं, अगर मीठा खाने का मन हो सीमित मात्रा में ही खाएं।
  • व्रत के दौरान ज्‍यादा चाय या कॉफी ना पीएं, नहीं तो पेट में जलन हो सकती है। इससे आपको डीहाइड्रेशन हो सकता है, जो गर्भ में पल रहे बच्चे के लिए खतरा बन सकता है। अगर आपको ज्‍यादा प्‍यास लग रही है तो छाछ या दही या फिर जूस पी सकती हैं।

hartalika teej  pregnant lady should take care of these five things while fasting inside

इसे जरूर पढ़ें: मुंबई के इन मंदिर की बात है निराली, एक बार आप भी जाएं जरूर