• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

Unique Temples: भारत के इस मंदिर में कई वर्षों से चढ़ रहा है अनोखा चढ़ावा, आप भी जानें

देश में एक ऐसा मंदिर है जहां फूल के साथ एक अनोखा चढ़वा भी चढ़ता है। आइए जानते हैं इस मंदिर के बारे में।
author-profile
Published -21 Jul 2022, 17:25 ISTUpdated -21 Jul 2022, 17:46 IST
Next
Article
sagas bavji temple devotees offer watches

हिंदुस्तान आज से नहीं बल्कि प्राचीन काल से आध्यात्म और आस्था के लिए विश्व भर में प्रसिद्ध है। यहां मौजूद लगभग हर मंदिर कुछ न कुछ रहस्य और पौराणिक तथ्य से जुड़ा हुआ है। भारत में महाकाल मंदिर, वैष्णों देवी, मीनाक्षी मंदिर, जगन्नाथ मंदिर और काशी विश्वनाथ मंदिर जैसे कई मंदिरों में चढ़ावा के बारे में सुनते रहते हैं। लेकिन देश में एक ऐसा भी मंदिर है जहां फूल-पत्ती और मिठाई के साथ एक अनोखा चढ़ावा भी चढ़ता है। ऐसे में अगर आप भी इस मंदिर के बारे में जानना चाहते हैं तो फिर आपको इस लेख को ज़रूर पढ़ना चाहिए। आइए जानते हैं।

सगस बावजी मंदिर

Sagas Bavji Temple madhay pradesh

जी हां, जिस मंदिर के बारे में हम आपसे जिक्र कर रहे हैं उस मंदिर का नाम है सगस बावजी मं‍दिर। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यह मंदिर किसी और राज्य में नहीं बल्कि हिंदुस्तान का दिल कहे जाने वाले राज्य मध्य प्रदेश के मंदसौर शहर में मौजूद है। कहा जाता है यहां पर पिछले 30 वर्षों से एक अनोखा चढ़ावा चढ़ रहा जिसके बारे में सुनने के बाद लगभग हर कोई कुछ देर के लिए सोच में पड़ जाता है। (मदुरै के प्रसिद्ध मंदिर)

सगस बावजी मंदिर का महत्व 

Sagas Bavji Temple Mandsaur

आपको बता दें कि सगस बावजी मंदिर को 'घड़ी वाले बावजी' मंदिर के नाम से भी जानते हैं। स्थानीय लोगों का मानना है कि सगस बावजी धन की रखवाली करते हैं। इसके अलावा यह मान्यता है कि सगस बावजी भड़के हुए व्यक्ति को राह दिखाने का काम करते हैं। इस मंदिर में दर्शन के लिए दूर-दूर से लोग पहुंचते हैं। 

Recommended Video

इसे भी पढ़ें: Krishna Yatra: क्या आप यह रहस्य जानते हैं कि भगवान कृष्ण ने महाभारत युद्ध के लिए कुरुक्षेत्र को ही क्यों चुना?

भेंट में चढ़ती हैं घडियां

myth of  Sagas Bavji Temple

जी हां, मंदसौर के इस मंदिर में लोग फूल-पत्ती कम लेकिन घड़ी का चढ़ावा सबसे अधिक देखा जाता है। कहा जाता है कि ऐसा करने से उस व्यक्ति का बुरा समय दूर हो जाता है और जीवन में खुशियां ही खुशियां आती हैं। इसके अलावा एक अन्य मान्यता है कि अगर कोई व्यक्ति इस मंदिर से घड़ी चुराता है तो उसके बुरे दिन शुरू हो जाते हैं, इसलिए कोई भी इस मंदिर से घड़ियों को घर नहीं ले जाता है। (मध्य प्रदेश के 5 ऑफबीट डेस्टिनेशन्स)

इसे भी पढ़ें: रिद्वार के इन आश्रमों में रहने और खाने की है फ्री व्यवस्था, आप भी पहुंचें

सभी घड़ियों का क्या होता है?

यहां दिन भर में दर्जनों लोग घड़ी चढ़ाते हैं। ऐसे में कहा जाता है कि सभी घड़ी को नदी में बहा देते हैं। कहा जाता है कि इस मंदिर में घड़ियों के इतने ढेर होने के बाद भी ताला नहीं लगता है। स्थानीय लोगों का मानना है कि एक दिन एक व्यक्ति ने कुछ घड़ियां चोरी कर थी और बाद में मालूम चला कि उसकी आंखों की रोशनी चली गई है।

 अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit:(@samacharnama)

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।