पहले दो साल से हम सभी कोविड से परेशान थे। धीरे-धीरे समय बीता तो लगा कि अब चीजें नॉर्मल होंगी, लेकिन बीते कुछ समय से ओमिक्रोन के बढ़ते खतरे ने एक बार फिर हमें मुश्किलों में डाल दिया है। पिछले कुछ समय में ओमिक्रोन जिस तरह से बढ़ा है, उससे देखकर फिर आवाजाही में प्रतिबंध लगने शुरू हो गए हैं।

क्रिसमस और न्यू ईयर साल के ऐसे त्योहार होते हैं, जब लोग जश्न मनाने के लिए बाहर जाते हैं और पार्टी करते हैं। इस बार भी लोगों के कुछ ऐसे ही प्लान थे, मगर हाल ही में इस संक्रमण के बढ़ते प्रकोप को देख कुछ राज्यों ने इन सेलिब्रेशन पर रोक लगा दी है।

देश के सबसे बड़े 4 राज्य इसमें शामिल हैं, जिन्होंने नई गाइडलाइन्स जारी की है और क्रिसमस और न्यू ईयर की सेलिब्रेशन पर रोक लगाई है। अगर आप इन जगहों पर हैं और कुछ बड़ा प्लान करने के बारे में सोच रहे हैं, तो एक बार उन राज्यों के बारे में भी जान लीजिए, जो ऐसा कर चुके हैं। अगर आपको नहीं पता तो हम आपको ऐसे राज्यों के बारे में बताने जा रहे हैं।

हाल ही में एक COVID अपडेट में, दिल्ली, महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश और कर्नाटक की सरकारों ने सभी क्रिसमस और नए साल के जश्न पर प्रतिबंध लगा दिया है। सभी प्रकार के सामूहिक समारोहों और सांस्कृतिक कार्यक्रमों को भी प्रतिबंधित कर दिया गया है क्योंकि देश में ओमिक्रोन प्रकार के मामले तेजी से फैल रहे हैं।

दिल्ली

delhi new guidelines for new year celebration

नए साल के जश्न में सबसे ज्यादा लोग दिल्ली के होते हैं, जो पब्स और बार में ज्यादा संख्या में पार्टी के लिए आते हैं। आपको बता दें कि दिल्ली ने इस बार क्रिसमस और न्यू ईयर की सेलिब्रेशन पर प्रतिबंध लगा दिया है। जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) द्वारा जारी एक आदेश में कहा गया है, 'सभी डीएम और जिला डीसीपी यह सुनिश्चित करेंगे कि दिल्ली के एनसीटी में क्रिसमस या नए साल का जश्न मनाने के लिए कोई सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन न हो।' साथ ही दुकानों / ऑफिस पर 'नो मास्क, नो एंट्री' को सख्ती भी बढ़ा दी गई है। बार और रेस्तरां में 50 प्रतिशत बैठने की क्षमता के साथ संचालन की सीमा तय कर दी गई है। ये पाबंदियां 31 दिसंबर की आधी रात तक लागू रहेंगी।

महाराष्ट्र

maharashtra new guidelines for new year celebration

भारत में अब तक सबसे ज्यादा ओमिक्रोन वेरिएंट मामले महाराष्ट्र में दर्ज किए गए हैं। राज्य ने 31 दिसंबर तक धारा 144 लागू कर दी है। बीएमसी ने नए दिशानिर्देश जारी किए हैं, जिसमें बंद जगहों में केवल 50 प्रतिशत क्षमता तक और खुले स्थानों में केवल 25 प्रतिशत लोगों की अनुमति है। साथ ही पार्टी के आयोजकों को 200 से अधिक लोगों की सभा होने पर अधिकारियों से अनुमति लेने की आवश्यकता होगी। इसके साथ ही बीएमसी कमिश्नर इकबाल सिंह चहल ने भी नियमों की अवहेलना करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की चेतावनी दी है। दिशानिर्देशों ने सभाओं में 6 फीट की सामाजिक दूरी और COVID उपयुक्त व्यवहार (CAB) बनाए रखने की आवश्यकता पर भी जोर दिया।

इसे भी पढ़ें :कोरोनाकाल में ट्रैवल के दौरान इन सेफ्टी टिप्स का जरूर रखें ध्यान

कर्नाटक

karnataka new guidelines for new year celebration

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने मंगलवार को बेंगलुरु में एमजी रोड और ब्रिगेड रोड सहित क्षेत्रों में सार्वजनिक समारोहों पर प्रतिबंध लगा दिया। हालांकि, 25 दिसंबर को क्रिसमस समारोह पर कोई प्रतिबंध नहीं होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि नए साल के जश्न के लिए डीजे की अनुमति नहीं होगी, और ये प्रतिबंध 30 दिसंबर से 2 जनवरी, 2022 तक लागू रहेंगे। इसके अलावा, पब और रेस्तरां अपनी क्षमता के केवल 50% के साथ काम करेंगे, और उनके कर्मचारियों को अनिवार्य रूप से कोविड -19 के खिलाफ टीका लगा होना चाहिए।

इसे भी पढ़ें : कोरोना काल में साल 2021 में ट्रेवल की दृष्टि से क्या रहा चर्चा में, आप भी जानें

उत्तर प्रदेश

uttar pradesh new guidelines for new year celebration

ओमिक्रोन के बढ़ते मामले देख, यूपी में भी सख्ती बढ़ाने के निर्देश दिए हैं। सरकार ने सभी तरह के क्रिसमस और नए साल के जश्न को भी रद्द कर दिया है। यूपी में भी पब्लिक जगहों जैसे मॉल, सिनेमाघर, होटल, कैफे और भीड़भाड़ वाले स्थानों पर अधिक सतर्कता बरतने के निर्देश दिए गए। क्रिसमस और नए साल के जश्न में आयोजित होने वाली पार्टियों में कोविड प्रोटोकॉल, सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क अनिवार्य होगा। कोरोना के डेल्टा और ओमिक्रोन वेरिएंट को ध्यान में रखते हुए प्रदेश के सभी डीएम को अलर्ट भेजा गया है।

Recommended Video

इसके साथ ही गुजरात सरकार ने 31 दिसंबर तक रात का कर्फ्यू लगा दिया है। वहीं जिम और रेस्तरां को 75 प्रतिशत क्षमता के साथ संचालित करने की अनुमति दी है। एमके स्टालिन के नेतृत्व वाली सरकार ने 14 दिसंबर से चेन्नई के सभी बीचेस पर नए साल के जश्न पर प्रतिबंध लगा दिया था और कहा था कि 31 दिसंबर और 1 जनवरी को वहां कोई प्रवेश और गैदरिंग की अनुमति नहीं होगी।

इन सबके साथ नए साल की शुरुआत कैसी होगा और क्या नए बदलाव आएंगे, ये तो वक्त ही बताएगा। अगर आपको यह लेख पसंद आया तो इसे लाइक और शेयर करें और ऐसे अन्य आर्टिकल पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी के साथ।

Image Credit : freepik