साल 2021 बहुत जल्द जाने वाला है लेकिन, कुछ नहीं जाने वाला है तो वो है 2021 से जुड़ी कुछ यादे। बिगत वर्ष से लेकर 2021 में कोरोना के चलते कुछ ऐसे नज़ारे देखें गए जिसके बारे में शायद कोई जिक्र नहीं करना चाहेगा। एक तरह से कोरोना महामारी ने हर फील्ड में अपना व्यापक रूप दिखाया। ट्रेवल के फील्ड में भी कोरोना का बेहद प्रकोप रहा है जिसके चलते हैं, लगभग हर देश का पर्यटन बाधित रहा था। आज इस लेख में हम आपको उन पहलुओं के बारे में बताने जा रहे हैं, जो साल 2021 में ट्रेवल की दृष्टि से सबसे अधिक चर्चा में रहा, तो आइए जानते हैं। 

आर्थिक नुकसान 

travel precautions during covid  inside

कोरोना काल में अगर सबसे अधिक किसी चीज को लेकर चर्चा थी तो उसका नाम था आर्थिक नुकसान। अन्य फील्ड की तरह ट्रेवल की दुनिया में भी देश से लेकर विदेशों को भी भारी नुकसान उठाना पड़ा था। एक तरफ विदेशी में घूमने जाने के लिए तमाम तरह की पाबंदी थी तो देश के अलग-अलग राज्य में भी अलग-अलग नियम थे। यहां तक किसी अन्य शहर में घूमने जाने के लिए भी कुछ ज़रूरी चीजों को साथ रखना या फिर कोरोना का टेस्ट रिपोर्ट रखना बहुत ज़रूरी था।

इसे भी पढ़ें: चंडीगढ़ से करीब 198 किमी की दूरी पर है खूबसूरत मंडी हिल स्टेशन

प्रदूषण में कमी

travel precautions during covid  inside

हां, कोरोना काल में ये ज़रूर हुआ था कि भारत जैसे देश में भी प्रदूषण में कमी देखी गई थी। ज़ाहिर ही बात है कि अगर सड़कों पर अधिक घोड़ा-गाड़ी नहीं चलेंगे तो प्रदूषण का ही होंगे। ऐसे में 2021 में भारत से लेकर विदेश में भी प्रदूषण में कमी थी। कई लेखों और खबरों में जिसका जिक्र मिलता था कि आज हवा शुद्ध है। (दुनिया की इन सबसे बड़ी झीलों के बारे में?) कई बार ये सूचना मिलती थी कि प्रदूषण में कमी होने की वजह से बारिश लगातार हो रही है।

Recommended Video

जीवन यापन पर असर 

travel precautions during covid  inside

भारत के साथ-साथ विश्व स्तर पर कुछ ऐसे देश है जो सिर्फ पर्यटन पर आधारित है यानि इन देशों का जीवन यापन आने वाले सैलानियों से ही चलती थी। जैसे-भारत का हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, जम्मू-कश्मीर, अरुणाचल प्रदेश आदि राज्यों का जीवन यापन आने वाले सैलानियों की वजह से चलती है। ऐसे में कोरोना काल के दौरान इन शहरों के लोगों का जीवन यापन काफी प्रभावित रहा था।

इसे भी पढ़ें: Travel Trends 2022: आने वाले साल में घूमने के लिए कौन सा डेस्टिनेशन रहेगा ट्रेंड में, आइए जानें

ये भी थे चर्चा में 

साल 2021 नहीं बल्कि साल 2019 चर्चा का विषय है। इन दोनों ही साल में शिक्षा पर बेहद गंभीर असर पड़ा था। देश का लगभग हर स्कूल, संस्था आदि चीजें बंद थी। इस दौरान सैलानियों की मेहमान नवाजी करने वाले ही भूख के मारे मर रहे थे। इसके अलावा कई होटल, मॉल आदि जगहें भी बंद थी।

अगर आपको यह स्टोरी अच्छी लगी हो तो इसे फेसबुक पर जरूर शेयर करें और इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit:(@freepik)