नवरात्रि के मौके पर उत्तर भारत में तो बहुत सारी चीजें बनती हैं। मालपुआ, लप्सी, पुड़ी, आलू सब्जी, हलवा, चना... आदि। इन सब चीजों के लिए तो कोई भी नवरात्रि का व्रत रखना चाहेगा। लेकिन क्या आपको मालूम है कि साउथ इंडिया में ये सब चीजें नहीं बनती हैं। वहां अलग चीजें बनती हैं लेकिन वे सारी चीजें बहुत टेस्टी होती हैं। आइए आज इस आर्टिकल में हम जानते हैं कि साउथ इंडिया में नवरात्रि में क्या स्पेशल बनता है। 

लेमन राइस 

ये वहां की पारंपरिक डिश है। इसे हिंदी में खट्टा बाथ कहते हैं जो उत्तर भारत में सामान्य दिनों में बनाए जाते हैं। लेकिन साउथ इंडिया में ये डिश नवरात्रि के समय स्पेशल तौर पर बनती है। ये खाने में बहुत टेस्टी होते हैं। लेमन राइस बनाने के लिए सबसे पहले चावल उबाल कर इनमें तड़का लगाया जाता है। इस तरह के चावल को आप व्रत में भी आसानी से खा सकती हैं।

राइस पायसम 

south indian food navratri inside

राइस से यह अंदाजा मत लगा लीजिएगा की ये खाने में नमकीन होंगे। राइस पायसम मीठे होते हैं। यह भी साउथ इंडिया की पारंपरिक डिश है। राइस पायसम साउथ इंडिया में चावल, दूध, गुड़ और चीनी से बनाया जाता है। इसे त्योहारों पर खास तौर से बनाया जाता है।

मेदू वड़ा 

ये बड़ा टाइप की डिश होती है जिसे सांभर से खाना होता है। लेकिन ये बिना प्याज-लहसुन के बनता है। मेदू वड़ा सांभर में डूबा हुआ होता है जो खाने में बहुत स्वादिष्ट लगता है। दक्षिण भारतीय लोग व्रत में इसे अपने खाने में जरूर शामिल करते हैं। हमारे यहां जिस तरह से लप्सी बनती है वैसे ही साउथ में मेदू वड़ा बनता है जो माता को भोग लगाकर मेहमानों को भी खिलाया जाता है। अगर आप घर बैठै ऑनलाइन किचन के लिए प्रेशर कुकर खरीदना चाहती हैं तो इसका मार्केट प्राइस 1,795 रुपये है, लेकिन इसे आप यहां से 1,224 रुपये में खरीद सकती हैं

बेसन लडडू 

south indian food navratri inside

बेसन के लड्डू उत्तर भारत में सामान्य तौर पर बनाए जाते हैं। घर में फंक्शन होने पर भी बेसन के लड्डू बनाए जाते हैं। लेकिन नवरात्रि में नहीं बनाए जाते हैं। जबकि साउथ इंडिया में ये नवरात्रि के समय ही बनते हैं। इसे बनाने के लिए ज्यादा सामग्री की भी जरूरत नहीं होती है और इसे आप स्टोर भी कर सकते हैं। साउथ में ये लड्डू माता को भोग लगाने के लिए बनाया जाता है। 

इडली 

नवरात्रि में यहां इडली भी बनाने का रिवाज है। इडली भी बिना प्याज और लहसुन का इस्तेमाल नहीं होता है और इसे दक्षिण भारत में इसे भी व्रत में खाया जाता है।

नारियल की चटनी 

south indian food navratri inside

साउथ इंडिया में कोई त्यौहार और वहां सारे तरह के डिशेश बन रहे हो लेकिन नारियल की चटनी ना बने... तो ये नामुमकिन है। नवरात्रि में भी नारियल की चटनी जरूर बनती है। साउथ में इसे हर डिश के साथ सर्व किया जाता है और प्याज लहसुन न होने की वजह से इसे आप व्रत में भी आसानी से खा सकते हैं।

काला चना सुंदल 

नवरात्र पर साउथ इंडिया में काला चना सुंदल खास तौर पर बनाया ही जाता है। इसे बनाना बहुत ही आसान है। ये सारी चीजें साउथ इंडिया में बनती हैं जो किसी के मुंह में भी पानी ला देगी। अगर आप घर बैठै ऑनलाइन किचन के लिए मिनी प्लास्टिक चॉपर खरीदना चाहती हैं तो इसका मार्केट प्राइस 1,599 रुपये है, लेकिन इसे आप यहां से 765 रुपये में खरीद सकती हैं