हमारे आसपास शायद ऐसा कई फल जो बेहद ही आसानी और कम दाम में मिल जाते हैं। लेकिन, कुछ ऐसे भी फल है जिन्हें खरीदने के बारे में बहुत कम लोग ही सोचते हैं। जैसे- मियाजाकी आम। इस आम की कीमत लगभग 2 लाख रुपये प्रति किलो से भी अधिक बताई जाती है। इस आम की तरह पिछले कुछ वर्षों से Densuke तरबूज की भी चर्चा बहुत हो रही है। कुछ साल पहले इसे लगभग 2-3 लाख प्रति किलो के रेट पर बेचा गया था। इस लेख में हम आपको Densuke तरबूज की खासियत और इसके कुछ फायदों के बारे में बताने जा रहे हैं, तो आइए जानते हैं।

हल्का काला रंग का है यह तरबूज

know most expensive watermelon densuke

वैसे तो भारत में काले रंग के भी तरबूज मिलते हैं लेकिन, अन्य तरबूज के मुकाबले Densuke तरबूज का रंग थोड़ा गाढ़ा होता है। यह तरबूज चीन, जापान, मलेशिया और थाईलैंड आदि देशों में बेहद ही फेमस है। इस तरबूज की खेती मुख्य रूप में जापान देश के उत्तरपूर्वी आइसलैंड में होती है। एक ड़ेंसुके तरबूज लगभग 5 से 10 किलो के बीच में होता है। आपको बता दें कि साल 2018 एक तरबूज की नीलामी की बोली लगभग 3 लाख 90 हज़ार रुपये से अधिक लगी थी।

Recommended Video

इसे भी पढ़ें: घर पर कैसे उगाएं स्ट्रॉबेरी, फॉलो करें ये आसान स्टेप्स

कैसी होती है इसकी खेती   

about most expensive watermelon densuke      

इस तरबूज को उगाने के लिए बहुत अधिक समय की ज़रूरत होती है। एक अनुमान के तरह इसे तैयार होने में लगभग सात से आठ महीने से भी अधिक समय लगते हैं। जापान में इसे खास क्लाइमेट कंडीशन में उगाया जाता है। इसे उगाने के लिए विशेष खाद की भी ज़रूरत होती है। अन्य तरबूज के मुकाबले इस तरबूज में पानी भरपूर मात्रा में रहता है मीठा भी लगता है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पहली बार इस तरबूज की खेती में साल 2008 में हुई थी और उस समय एक तरबूज  4 लाख में बेचा गया था। (दुनिया के सबसे महंगा आम के बारे में जानें)

इसे भी पढ़ें: न ही नर्सरी से लाना होगा पौधा और न ही खरीदने होंगे बीज, गमलों में आसानी से उगाएं फ्रिज में रखीं ये 5 सब्जियां

फायदे के बारे में

expensive watermelon densuke

इस तरबूज के सेवन से शरीर को बहुत लाभ है। इसके सेवन शरीर में पानी की मात्रा जल्दी काम नहीं होता है। अन्य तरबूज के मुकाबले इसमें आयरन, जिंक, कॉपर, पोटेशियम आदि कई चीजें मौजूद होती हैं। स्किन को किसी भी संक्रमण से दूर रखने के लिए इस तरबूज को बेस्ट माना जाता है। आपको ये भी बता दें कि भारत में इसकी खेती के अभी कोई भी आसार दिखाई नहीं दिए हैं।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit:(@sutterstock)