इंदौर एक ऐसा शहर है, जहां पर घूमने के लिए दूर-दूर से लोग आते हैं। यहां पर खूबसूरत बाजारों से लेकर स्ट्रीट फूड स्टाल, मंदिर, वॉटरफॉल व वाइल्ड लाइफ सैन्चुरी आदि हैं। मध्यप्रदेश राज्य के इस शहर में आने वाला कोई भी पर्यटक कभी निराश नहीं होता। लेकिन अगर आप वीकेंड पर इंदौर में घूमने के बाद यहां के आसपास के एरिया को भी एक्सप्लोर करना चाहती हैं तो ऐसे में आपके पास ऑप्शन की कोई कमी नहीं है।

इंदौर के करीब ऐसी कई जगहें हैं, जो बेहद अद्भुत नजारा पेश करती हैं। आप इंदौर के नजदीक ओंकारेश्वर, नर्मदा घाट, तिंचा जलप्रपात, जहज़ महल, महाकालेश्वर मंदिर, होशंग शाह का मकबरा, लोटस झील और कई बेहतरीन सुंदर पर्यटन स्थलों में घूम सकती हैं। यह पर्यटन स्थल इंदौर से करीबन 100 किलोमीटर के दायरे में हैं। तो चलिए आज हम आपको इंदौर के करीबन मौजूद कुछ बेहतरीन जगहों के बारे में बता रहे हैं-

पातालपानी वाटरफॉल्स

water fall in hindi

पातालपानी वाटरफॉल्स की इंदौर से दूरी करीबन 35 किमी है। यह स्थानीय लोगों से लेकर पर्यटकों के लिए एक लोकप्रिय पिकनिक स्थल है। यह प्रसिद्ध इंदौर वाटरफॉल्स, करीबन 300 फीट लंबा है और इंदौर-खंडवा रेल मार्ग पर स्थित है। कहा जाता है कि पानी एक अथाह गहराई तक गिरता है, जो इसे बेहद खूबसूरत बनाता है। यह शहर में एक बेहद पॉपुलर ट्रेकिंग गंतव्य भी है। यह इंदौर के 100 किलोमीटर के भीतर इंदौर के पास देखने योग्य बेहतरीन पर्यटन स्थलों में से एक है।

रालामंडल वाइल्डलाइफ सैन्चुरी

अपने समृद्ध और विविध इतिहास के अलावा, इंदौर विभिन्न प्रकार के वनस्पतियों और जीवों का घर है। प्रसिद्ध रालामंडल वाइल्डलाइफ सैन्चुरी प्रकृति प्रेमियों के किसी स्वर्ग से कम नहीं है। इस वाइल्डलाइफ सैन्चुरी का दौरा करना इंदौर में सबसे अच्छी चीजों में से एक है। यहां पर आपको हिरण, खरगोश, सांभर, और दुर्लभ पक्षी प्रजातियों के साथ-साथ नीलगिरी, बांस, सागौन, बबुल और चंदन के पेड़ों को देखने का मौका मिलेगा। अगर आप यहां पर हैं तो साइकिल चलाने से लेकर ऊंट की सवारी का भी अनुभव ले सकते हैं।

ओंकारेश्वर

indore best places in hindi

ओंकारेश्वर की इंदौर से दूरी करीबन 60 किमी है। पहाड़ियों और हरे-भरे घास के मैदानों से घिरे ओंकारेश्वर का प्राकृतिक सौन्दर्य आंखों को एक अजीब सा सुकून प्रदान करता है। यहां पर आने वाला हर श्रद्धालु मंदिर में दर्शन करने के साथ-साथ वहां पर कुछ वक्त बिताना अवश्य पसंद करता है। मंदिर में दर्शन करने के बाद, इस पवित्र शहर में घूमने के लिए नर्मदा के नीचे एक नाव की सवारी करें। 

इसे ज़रूर पढ़ें-दाल बाटी से लेकर रामबाबू के परांठे तक इंदौर में खाने के लिए और क्या मिलता है खास

वेद शाला, उज्जैन

राजा जयसिंह ने 1725 में उज्जैन में वेद शाला का निर्माण किया, जिसे जंतर मंतर के नाम से भी जाना जाता है। यह पांच शानदार वेधशालाओं में से एक है, अन्य दिल्ली, जयपुर, वाराणसी और मथुरा में हैं। इसे भारत की पहली वैज्ञानिक वेधशाला माना जाता है। बता दें कि हिंदू कैलेंडर, या ’पंचांग’ भी उज्जैन में किए गए अवलोकनों पर आधारित है। वेद शाला इंदौर के पास सबसे आकर्षक पर्यटन स्थलों में से एक है।

Recommended Video

जहज़ महल

Inside

यदि आप मध्यकालीन वास्तुकला में रुचि रखते हैं, तो जहज़ महल का दौरा आपको अवश्य करना चाहिए। यह इंदौर से महज 28 किमी की दूरी पर है। यह शानदार महल 15 वीं शताब्दी में मध्य प्रदेश के मांडू जिले में बनाया गया था। शानदार तालाबों और सजावटी फर्शों और दीवारों से घिरा यह विशाल महल यकीनन देखने लायक है। इस महज की वास्तुकला भारतीय, मुगल, अफगान और मेसोपोटामिया सभ्यताओं का एक अनूठा मिश्रण है, जो इसे इंदौर के पास सबसे अच्छे पर्यटन स्थलों में से एक बनाता है। इंदौर से मांडू तक का रास्ता इतना खूबसूरत है कि आपको वहां रोड ट्रिप जरूर करनी चाहिए।

इसे ज़रूर पढ़ें-इंदौर के इन पांच बाजारों में खरीदारी करने का अलग ही है मजा, आप भी जानें

 

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ। 

Image Credit- templepurohit, knocksense, holidify, wikimedia