अच्छा! अगर आपसे ये सवाल किया जाए कि चावल पकाने के नियमों के बारे में आपको क्या है मालूम है, तो फिर आपका जवाब क्या हो सकता है? शायद आप बोलें कि कुकर में एक गिलास चावल और दो से तीन गिलास पानी डालकर एक से दो सीटी लगाने के बाद चावल तैयार या फिर आप बोलें कि किसी बर्तन में एक गिलास चावल के साथ दो से तीन गिलास पानी डालकर गैस पर रख देते हैं और कुछ देर बाद चावल बनकर तैयार हो जाता है। 

लेकिन, अगर आपसे ये बोला जाए कि आयुर्वेद में ऐसा नहीं है बल्कि कुछ अलग ही नियम है चावल पकाने के बारे में, तो फिर आपका जवाब क्या हो सकता? जी हां, आयुर्वेद की डॉक्टर रेखा राधामोनी चावल पकाने के कुछ विशेष नियमों के बारे में बताने जा रही हैं, तो आइए इसके बारे में जानते हैं।

चावल के बारे में आयुर्वेद क्या कहता है?

how to cook rice right way as per ayurveda inside

चावल को आयुर्वेदिक तरीके से पकाने से पहले डॉक्टर रेखा राधामोनी का कहना है कि आयुर्वेद के अनुसार चावल को भोजन में पहला स्थान है। इसके अलावा वो कहती हैं कि भोजन के रूम से चावल सबसे हल्का पदार्थ है, जिसे नियमित सेवन करते रहना चाहिए। 

इसे भी पढ़ें: आप भी घर पर बनाएं ये 2 एग इडली, करेंगे सभी पसंद

चावल बनाने के नियम

स्टेप-1 

how to cook rice right way as per ayurveda inside

अपने एक पोस्ट को वो कहती हैं कि चावल बनाने से लगभग एक घंटा पहले ही पानी में अच्छे से एक से दो बार साफ कर लीजिए और अलग रख दीजिए। आगे वो कहती हैं कि सोना मंसूरी चावल या फिर अम्बेर मोहर आदि किस्म के चावल को आहार में शामिल करना चाहिए। (बासमती चावल हो जाता है गीला, तो ये टिप्स अपनाएं) आपको बता दें कि कई लोग चावल बनाने से एक से दो मिनट पहले चावल को पानी से साफ करते हैं और बर्तन में पकने के लिए डाल देते हैं। ऐसे में आप इस गलती को करने से बचें। 

Recommended Video

स्टेप-2 

how to cook rice right way as per ayurveda isnide

चावल को पानी में साफ करके अलग रख दें। इसके बाद चावल के अनुसार दो से तीन कप अधिक पानी को बर्तन में रखकर उबलने तक ऐसे ही छोड़ दें। जब पानी उबलने लगे तो साफ किए चलवा को पानी में डालें और किसी बर्तन में ढककर कुछ देर के लिए पकाने दें। बीच-बीच में एक से दो बार चावल को अच्छे से चला लें ताकि बर्तन में चावल पकड़े नहीं। इससे चावल गीला भी नहीं होता है। 

इसे भी पढ़ें: इन आसान रेसिपीज से बनाएं आंवला की 3 इंस्टेंट स्वादिष्ट चटनी 

स्टेप-3

how to cook rice right way as per ayurveda inside

चावल डालने के बाद जब पानी उबलने लगे तो चावल के ऊपर से ढक्कन को हटा दें और मुलायम होने तक अच्छे से पका लें। कई लोग पानी उबले बिना ही चावल को पानी में डाल देते हैं, जिसे आपको करने से बचना चाहिए। जब आपको लगे कि चावल हो गया है, तो आप चावल में मौजूद अतिरिक्त पानी को छलनी से या चाय छलनी से पानी को छान लीजिए और कुछ देर के लिए चावल को ढक दीजिए। लगभग 2 मिनट चावल को ढकने के बाद बर्तन में निकालकर खाने के लिए सर्व कर सकती हैं।       

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि शहरों में कम लेकिन, आज भी गांव और कस्बों में कुछ इसी तरह चावल पकाया जाता है। इस विधि द्वारा मेरे भी घर में चावल को पकाया जाता है। अगर आपको यह स्टोरी अच्छी लगी हो तो इसे फेसबुक पर जरूर शेयर करें और इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit:(@freepik)