हिमाचल प्रदेश खूबसूरत नजारों से भरपूर है। बर्फीली पहाड़ों के साथ-साथ घने जंगल यात्रियों को खूब लुभाते हैं। हालांकि, जब भी हिमाचल प्रदेश में घूमने की बेस्ट जगह की बात की जाती है तो कुछ ही जगहों का नाम लिया जाता है। उदाहरण के लिए मनाली, शिमला, कसोल, जीभी आदि। ये सभी जगह यात्रियों के बीच काफी फेमस और कॉमन हैं, हालांकि हिमाचल में इन शहरों के अलावा कई ऐसे गांव भी हैं, जो अपनी अनोखी खूबसूरती के लिए जाने जाते हैं।

आज एक ऐसे ही गांव के बारे में बात करेंगे, जिसे देखने के लिए देश ही नहीं बल्कि विदेशों से यात्री आते रहते हैं। इस गांव का नाम भारत के खूबसूरत गांवों में गिना जाता है। हम बात कर रहे हैं जंजैहली वैली की, जो हिमाचल प्रदेश का एक गांव हैं। रोमांचक और प्राकृतिक वादियों के बीच वक्त बिताना चाहती हैं तो इस गांव को घूमने का प्लान बना सकती हैं। यहां आपको कैम्पिंग के अलावा ट्रैकिंग जैसे एडवेंचर्स एक्टिविटी करने के लिए मिल जाएंगे। तो चलिए जानते हैं जंजैहली के बारे में-

जंजैहली में क्या है खास

Janjehli
 
अगर आप घूमने के लिए ऑफबीट डेस्टिनेशन ढूंढ़ रही हैं तो जंजैहली गांव बेस्ट जगह है। भीड़भाड़ भरी जिंदगी से कुछ वक्त सुकून के बिताना चाहती हैं तो ये गांव घूमने आ सकती हैं। सुकून के वक्त बिताने के अलावा आप यहां ट्रैकिंग, कैंपिंग और हाइकिंग जैसे एडवेंचरस एक्टिविटीज़ का आनंद भी उठा सकती हैं। दरअसल ये गांव ऊंची-ऊंची पहाड़ियों से घिरा हुआ है, ऐसे में इसे ट्रैकिंग के लिए बेस्ट माना जाता है। अगर आपको रोमांचक ट्रैकिंग करना पसंद है, तो इस जगह को एक बार जरूर एक्सप्लोर करें। हरे-भरे पहाड़ों के बीच यहां मैदानी एरिया हरे रंग के घासों से लिपटा हुआ है, जो देखने किसी विदेशी टूरिस्ट प्लेस की तरह लगता है। जंजैहली कई ट्रैकिंग और कैंपिंग करने वाले लोगों के लिए एक शिविर के रूप में भी काम करता है, जैसे शोजा, शिकारी देवी, चिंडी आदि। यह गांव लगभग 7,217 फीट की ऊंचाई पर स्थित है। ये हिमाचल प्रदेश राज्य के सुंदर घाटियों में से एक है।  
 

जंजैहली वैली जाने का सही समय

वैसे तो जंजैहली गांव यात्री अक्सर आते जाते रहते हैं। पहाड़ी एरिया होने की वजह से जंजैहली गांव में साल भर ठंडी और उसके अनुकूल जलवायु रहती है। यही वजह है कि यात्री यहां कभी भी आ सकते हैं, लेकिन आप प्राकृतिक खूबसूरती और बर्फीली वादियों को देखना चाहती हैं तो जंजैहली गांव आने का बेस्ट समय अक्टूबर से मार्च है। यह जगह किसी जन्नत से कम नहीं है, ज्यादातर कपल हनीमून के लिए यहां घूमने आते हैं।
 

Recommended Video

कैसे पहुंचे जंजैहली गांव

janjehli valley
 
जंजैहली वैली पहुंचने के लिए आप बस, ट्रेन, हवाई जहाज तीनों साधन ले सकते हैं। निकटतम हवाई अड्डा कुल्लू जिले के भुंतर में स्थित ,जो लगभग 118 किलोमीटर की दूरी पर है। इसके बाद आपको लोकल बस सेवा या फिर पर्सनल गाड़ी बुक करनी पड़ेगी। अगर आप ट्रेन से आ रही हैं तो निकटतम रेलवे स्टेशन शिमला है, जो जंजैहली गांव से लगभग 140 किलोमीटर दूर पर स्थित है। वहीं शिमला सड़क मार्ग से अन्य प्रमुख शहरों और कस्बों से अच्छी तरह जुड़ा हुआ है, ऐसे में आपको वहां जंजैहली गांव के लिए सीधी टैक्सी या फिर बस दोनों मिल जाएंगे। इसके अलावा डायरेक्ट बस से भी जंजैहली गांव आसानी से आया जा सकता है। उदाहरण के लिए आप दिल्ली आ रही हैं तो डायरेक्ट बस नहीं मिलेगी। इसके लिए आपको पहले शिमला के लिए बस लेनी होगी और उसके बाद वहां से जंजैहली गांव।
 

उम्मीद है कि आपको यह जानकारी अच्छी लगी होगी। साथ ही, आपको यह आर्टिकल कैसा लगा? हमें कमेंट कर जरूर बताएं और इसी तरह के अन्य आर्टिकल जानने के लिए जुड़ी रहें हरजिंदगी के साथ।